Breaking News

जिंदगी की जंग हारा हिमाचल का फौजी, डेढ़ साल से अस्पताल में लड़ रहा था जिंदगी और मौत की जंग





 जिंदगी की जंग हारा हिमाचल का फौजी, डेढ़ साल से अस्पताल में लड़ रहा था जिंदगी और मौत की जंग : भारतीय सेना में कार्यरत 42 वर्षीय हवलदार शमशेर सिंह की मौत हो गई। मौत का समाचार आते ही मुबारकपुर में शोक की लहर से सन्नाटा छा गया। जानकारी के मुताबिक हवलदार शमशेर सिंह पुत्र प्यारा सिंह भारतीय सेना 18 ग्रेनेडियर में तैनात था, जो कि डेढ़ वर्ष से कमांड अस्पताल चंडीगढ़ में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहे थे।

हवलदार शमशेर सिंह ड्यूटी के दौरान ग्लेशियरमें तैनात थे। वहीं पर उनका अचानक बाजू सुन्न हो गया। जिसके बाद धीरे-धीरे उसके शरीर के अन्य अंग भी सुन्न होने शुरू हो गए। 

जवान को इलाज के लिए कमांड अस्पताल चंडीगढ़ में भर्ती किया गया। जहां डेढ़ साल तक जवान जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ता रहा और आखिरकार देर रात उनकी मौत हो गई। मौत का समाचार आते ही मुबारिकपुर में शोक की लहर से सन्नाटा छा गया। हवलदार शमशेर सिंह पुत्र प्यारा सिंह भारतीय सेना 18 ग्रेनेडियर में तैनात था। शमशेर सिंह के घर में उनके माता-पिता, पत्नी और एक बेटा और बेटी हैं। बुधवार को उनकी पार्थिव देह गांव में पहुंचने की उम्मीद है।

शमशेर सिंह अपने पीछे माता पिता, पत्नी शालू राणा, पुत्री दिव्यांशी व पुत्र प्रयांश को छोड़ गया। गांव प्रबुद्ध वर्ग का कहना है कि मृदुभाषा व संस्कारों का धनी शमशेर सिंह जब भी अपने घर छुट्टी आता था, तो गांव के हर व्यक्ति से मिलता था।

ये भी पढ़े : Post office की इस स्कीम में पैसा करें दोगुना, मिलेंगे 2 लाख के 4 लाख रु

ये भी पढ़े :  IPL 2021 से पहले कैफ ने की भविष्यवाणी, बताया कौन सी टीम जीतेगी इस बार IPL का खिताब

ये भी पढ़े : LIC: एक बार पैसा लगाकर जिदंगीभर मिलती रहेगी 8000 पेंशन

ये भी पढ़े : सूरत के व्यापारी ने अपनी 2 माह की बेटी के लिए चांद पर खरीदी जमीन!

ये भी पढ़े :  LIC का नया प्लान: बेटी के लिए जमा करें केवल 150 रुपए, कन्यादान पर मिलेंगे 22 लाख रुपए

ये भी पढ़े : बेटी का सुहाग बचाने आगे आई मां, सास ने किडनी देकर दामाद को दिया नया जीवन

No comments