Breaking News

हिमाचल: गांव में नहीं आ रहे हैं मोबाइल नेटवर्क, तो यूं जंगलों में बैठकर ऑनलाइन पढ़ाई करने पर मजबूर हैं बच्चे

हिमाचल: गांव में नहीं आ रहे हैं मोबाइल नेटवर्क, तो यूं जंगलों में बैठकर ऑनलाइन पढ़ाई करने पर मजबूर हैं बच्चे

हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले में डिजिटल इंडिया के सपने एक को बड़ा झटका लगा है। राजधानी शिमला से करीब 70 किमी दूर कोटखाई की गरावग पंचायत में BSNL का सिग्नल बिल्कुल गुल है। यहां और मोबाइल नेटवर्क भी नहीं आते हैं। इस वजह से इस क्षेत्र के सैकड़ों बच्चों के लिए यहां ऑनलाइन पढ़ाई करना काफी मुश्किल हो रहा है।

वहीं आपको बता दें कि मजबूरी में अभिभावक और बच्चों को जंगलों में ऊंचे स्थानों पर जाना पड़ता है, ताकि वहां सिग्नल आ सके और ग्रामीण बच्चे अपनी आनलाईन पढ़ाई कर सके। पंचायत गरावग के अंतर्गत जौणी, गरे, गरावग, शाऊं, शोशन, गंडुवा, कदेवली, महोली, कुड़ी और चेवर गांव में बीते दस दिनों से यह समस्या चली आ रही है।

इस पर यहां के निवासी लोगों का कहना है कि बीएसएनएल सिग्नल गांव में आसपास कहीं पर भी नहीं है। इस वजह से बच्चें अपनी ऑनलाइन लगने वाली कक्षाओं को लेकर काफी परेशान रहते है। मजबूरी में अभिभावकों को बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई के लिए सिग्नल की तलाश में गांव से दूर जंगलों में जाना पड़ता है। यहां पर उन्हें मोबाइल में सिग्नल मिलते हैं। वहीं गांव के बच्चे यहां इकट्ठे होकर बच्चों की पढ़ाई करवा रहे है।

इसी के साथ पंचायत निवासी जोगिंद्र सिंह, पवन चौहान, साहिल धरना, विक्रम, मनोज, अक्षय, श्यामलाल और अशोक चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि यहां सिग्नल नहीं होने के चलते बच्चों की पढ़ाई काफी प्रभावित हो रही है। इसी के साथ मीडिया बातचीत में एसडीएम सौरभ जस्सल ने जानकारी देते हुए बताया कि बीएसएनएल अधिकारी को इस बारे में सूचना दे दी जाएगी, जिससे की जनता की समस्या का जल्द समाधान हो सके।

ये भी पढ़े : आइए जानते हैं चंबा के जोत नामक स्थान के बारे में जो किसी जन्नत से कम नहीं

No comments