Breaking News

बाबा का ढाबा हुआ बंद, फिर से हो गए हैं पहले की तरह दुखी

बाबा का ढाबा हुआ बंद, फिर से हो गए हैं पहले की तरह दुखी

किस्मत का कुछ पता नहीं होता एक पल साथ होती है, तो दूसरे पल कहीं ओर। आपने बाबा का ढाबा के बारे में तो जरूर सुना होगा। पिछले साल बाबा की कहानी और उनका ढाबा सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। वायरल हुए उस वीडियो में बाबा यानी कांता प्रसाद काफी रोते हुए दिख रहे थे। पिछले साल देश में लगे संपूर्ण लॉकडाउन के चलते उनके ढाबे का धंधा चौपट हो गया था। 

वहीं जब एक यूट्यूबर ने उनका वीडियो बनाया तो अपनी कहानी बताते हुए वे और उनकी पत्नी बादामी देवी काफी रो रही थीं। उनकी भावुक कहानी सुनने के बाद कई लोगों का दिल पसीज गया और उनकी मदद के लिए पैसे देने लगे। 

इस दौरान दूर-दूर से कई लोग उनके ढाबे पर खाना खाने आने लगे। बाबा की किस्मत बदल गई। इसके कुछ ही दिनों बाद पैसों को लेकर उनका विवाद उस यूट्यूबर गौरव से हो गया, जिसने उनकी कहानी दुनिया को दिखाई थी। इस कारण उनकी जो छवि लोगों के बीच बनी थी वो टूट गई। अब खबर ये आई है कि बाबा का नया ढाबा बंद हो गया है, जिसकी शुरुआत उन्होंने मदद के पैसों के आने के बाद की थी। बाबा ने बताया कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर के चलते उनका यह व्यवसाय बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

बाबा का जो वीडियो वायरल हुआ था, उसके बाद से उनका नाम काफी लोकप्रिय होने लगा। कई लोग उनके ढाबे पर आकर खाना खा रहे थे। इस वजह से उनकी आमदनी बढ़ गई थी। उनकी बिक्री भी करीबन 10 गुना ज्यादा बढ़ी थी। इसे देखते हुए बाबा ने अपना नया बिजनेस स्टार्ट किया था।

मदद के पैसों के आने के बाद बाबा ने अपना एक नया रेस्टोरेंट खोला था। इस नए रेस्टोरेंट में उन्होंने करीब 5 लाख रुपए का निवेश किया। नए रेस्टोरेंट का किराया करीब 35,000 रुपए के आसपास था। बिजली और पानी में 15 हजार रुपए का खर्चा अलग से आता था। इसके अलावा बाबा ने अपने ढाबे को चलाने के लिए कुछ कर्मचारियों को भी रखा था।





ये भी पढ़े : IAS interview में लड़की से पूछा कि, वह क्या है जो मर्द में दो और औरत में तीन होते है 

कोविड की दूसरी लहर को धीमा करने के लिए सरकार ने जब दोबारा लॉकडाउन लगाया तो इसके चलते उनका रेस्टोरेंट का नया बिजनेस पूरी तरह ठप पड़ गया। उनका रेस्टोरेंट घाटे में जाने लगा। इन सब के बीच बाबा का ये रेस्टोरेंट अब बंद हो गया है। बाबा ने बताया कि बिक्री कम हो रही थी और खर्चा ज्यादा आ रहा था।

बाबा ने यह भी कहा कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने उनके और उनके व्यवसाय को बुरी तरह प्रभावित किया है। उनकी बिक्री इस दौरान काफी कम हो गई। बाबा ने यह भी बताया कि उनकी आमदनी उतनी नहीं थी, जितना खर्चा आ रहा था, इसलिए उन्हें मजबूरन अपना नया ढाबा बंद करना पड़ा।

No comments