Breaking News

आखिर क्यों अकेली महिला को पुरुषों के बीच सीट नहीं देता भारतीय रेलवे

आखिर क्यों अकेली महिला को पुरुषों के बीच सीट नहीं देता भारतीय रेलवे

इंडियन रेल कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशेन यानी आईआरटीसी भारतीय रेल की वह कंपनी है जो ग्राहकों को टिकट बुकिंग, कैटरिंग और टूरिज्म सेवाएं प्रदान करती है। हममें से हर कोई कभी ना कभी IRCTC के जरिए कभी न कभी ट्रेन में टिकट जरूर बुक की होगी। IRCTC के बिना आप ऑनलाइन टिकट तो बुक ही नहीं कर सकते। साथ ही IRCTC बड़े पैमाने पर अपने यात्रियों को कैटरिंग और टूरिज्म की सेवाएं भी प्रदान कराता है। IRCTC की वेबसाइट का रखरखाव और विकास की जिम्मेवारी CRIS (Centre for Railway Information Systems)पर है। यहां बताते चले कि CRIS भी भारतीय रेल की ही एक कंपनी है। आज आपको आइआरसीटीसी के बारे में ऐसे ही कुछ रोचक जानकारी बताने जा रहे हैं।

हिंदुस्तान की लाइफलाइन है भारतीय रेल भारतीय रेल को यूं ही देश की लाइफलाइन नहीं कहा जाता। 135 करोड़ जनसंख्या का भार इसी पर है। अगर आपको अपने परिवार के पास जाना हो या रिश्तेदार के पास, धार्मिक यात्रा पर जाना हो या फिर कोई हिल स्टेशन पर, बिना रेल का सफर सोच ही नहीं सकते। भारतीय रेल भाप इंजन, कोयला इंजन, डीजल इंजन के बाद अब इलेक्ट्रिक इंजन तक का सफर पूरा कर चुका है।

महिलाओं का विशेष ख्याल रखता है IRCTC किसी महिला को ट्रेन में अकेला सफर करना हो तो जरा तनाव हो जाता है। लेकिन भारतीय रेल महिलाओं को विशेष ध्यान रखती है। आपको यह जानकर सुखद आश्चर्य होगा कि IRCTC टिकट बुकिंग के समय महिलाओं का खास ध्यान रखती है। यदि कोई महिला IRCTC के जरिए टिकट बुक करती है तो उस महिला को ऐसी जगह ट्रेन में सीट मुहैया कराई जाती है, जहां पहले से ही किसी महिला के नाम पर सीट बुक होगी। IRCTC ऐसा इसलिए करती है कि कोई महिला कई पुरुषों के बीच में बैठकर असहज और असुरक्षित महसूस न करे।

IRCTC से ही सिर्फ हो सकती है ऑनलाइट टिकट बुक कभी रेल टिकट बुक कराना टेढ़ी खीर हुआ करता था। लेकिन आज IRCTC के बिना आनलाइन टिकट बुक नहीं हो सकता। यह तकनीक की ही देन है कि आज हमें टिकट बुक कराने के लिए रिजर्वेशन काउंटर पर खड़े होकर घंटों धक्के नहीं खाना पड़ता और हम कहीं भी, कभी भी अपने मोबाइल फोन से टिकट बुक कर सकते हैं। ऐसी ही कई सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए हमें IRCTC की ही मदद चाहिए होती है।

No comments