Breaking News

मौसम पर बड़ा अपडेटः राजस्थान में 48 घंटों में भारी बारिश होने की संभावना

मौसम पर बड़ा अपडेटः राजस्थान में 48 घंटों में भारी बारिश होने की संभावना

राजस्थान के सभी जिलों में मानसून सक्रिय हो गया है और कमौबेश अधिकतर जिलों में मानसून की झमाझम हो चुकी है। आगामी दिनों की बात करें तो अगले 48 घंटों के भीतर उदयपुर संभाग के बांसवाड़ा, डूंगरपुर, राजसमंद और सिरोही के अलावा, जोधपुर, जालौर और पाली में भारी बारिश होने की संभावना है।

उधर, संकेत मिल रहे हैं कि 18 व 19 जुलाई को प्रदेश के कई इलाकों में अतिभारी बारिश हो सकती है। प्रदेश के बाकी जिलोंं में आगामी तीन-चार दिन तक मध्यम दर्जे की बारिश होगी साथ ही आकाशीय बिजली गिरने की संभावाना भी जताई जा रही है। राजधानी जयपुर की बात करें तो यहां तीन दिन बाद अच्छी बारिश होगी, इससे पहले हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश हो सकती है।

मौसम विभाग की माने तो जैसलमेर में भी 24 घंटे के दौरान अच्छी बारिश हुई है। वहीं, बीकानेर संभाग में भी हल्की व मध्यम दर्जे की बारिश हुई। ऐसे में कहा जा सकता है कि मानसून प्रदेशभर में मेहरबान हो गया है। यह मेहर लगातार बनी रहेगी।

कुछ जिलों में हल्की व मध्यम तो कुछ जिलों में भारी बारिश का पूर्वानुमान लगाया जा रहा है। मौसम विभाग का यह भी कहना है कि आगामी दिनों में कम दबाव का क्षेत्र बनने की स्थिति नजर नहीं आ रही है। यदि ऐसा होता है तो अतिभारी बारिश का अनुमान होता है। पिछले मानसून में जयपुर में कम दबाव का क्षेत्र बनने से अतिभारी बारिश हुई थी।

मौसम विभाग की चेतावनी 13 जुलाई को पूर्वी राजस्थान के अलवर, अजमेर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौड़गढ़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झुंझुनूं, सीकर, झालावाड़, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर, उदयपुर, राजसमंद, टोंक, सिरोही जिलों में कहीं-कहीं मध्यम दर्जे की बारिश। सिरोही में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है।

उधर, पश्चिमी राजस्थान में बाडमेर, बीकानेर, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, नागौर, पाली, जालौर और जोधपुर जिले में तेज हवाओं के साथ यलो अलर्ट। इसके अलावा 14, 15 और 16 जुलाई के लिए प्रदेश के अधिकतर इलाकों में आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग की माने तो तापमान भी 35 डिग्री से कम ही रहने की संभावना जताई जा रही है।

आकाशीय बिजली गिरने से 25 की मौत मानसून मेहर लेकर आया है, लेकिन आकाशीय बिजली गिरने की घटनाओं नेे परेशानी खड़ी कर दी है। प्रदेश की बात की जाए तो पिछले तीन दिन के दौरान आकाशीय बिजली गिरने की घटनाओं के दौरान अब तक 25 लोगों की मौत दर्ज हो चुकी है।

अकेले 11 तो जयपुर में मर चुके हैं। उधर, मौसम विभाग का कहना है कि मानसून की भारी बारिश होगी और उस दौरान आकाशीय बिजली की घटना भी होगी। ऐसे में प्रदेशवासियों को चाहिए कि वे उन स्थानों से दूर रहें जहां बिजली गिरने की खतरा सबसे ज्यादा होता है।

No comments