Breaking News

ये भारतीय खिलाडी बातें करता था भगवान से और एक दिन अचानक…

ये भारतीय खिलाडी बातें करता था भगवान से और एक दिन अचानक…

विनोद काम्बली और उनके बचपन के दोस्त सचिन तेंदुलकर ने 25 वर्ष पहले एक विश्व रिकॉर्ड बनाया था, लेकिन अब उसका कोई सबूत नहीं है. उन दोनों ने मुंबई में 24 फरवरी, 1988 को हैरिस शील्ड टूर्नामेंट के दौरान 664 रनों की साझेदारी करके सारी दुनिया की नज़रें अपनी ओर खींच ली थीं, क्योंकि वह उस समय किसी भी तरह के क्रिकेट के लिए नया रिकॉर्ड था.

लेकिन अब इन दोनों की दोस्ती खत्म हो गई है.इसके पीछे कांबली ने सचिन को जिम्मेदार ठहराया है.एक रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने 7 साल पहले टीवी शो सच का सामना में कुछ बाते कही थी. उनमे अब वैसी दोस्ती नहीं रही.

शो में कहा : काम्बली ने उस शो में कहा था की टीम इण्डिया में उनके साथ भेदभाव हुआ था साथ ही जब वह बुरे वक्त चल रह था तो सचिन ने उनकी मदद नहीं करी थी जब उनकी सबसे ज्यादा जरुरत थी. इसलिए मैंने इस शो में कहा था यदि आप मैच के आकडे देखेगे तो पता चल जाएगा की न जाने क्यों मुझे टीम से निकाल दिया है.

मुझे नहीं बुलाया : दोस्ती तोड़ने के बाद उन्होंने सोचा की उनकी फेयरवैल स्पीच में मेरा नाम भी होगा और हमारी साझेदारी की कुछ बाते होती.लेकिन पार्टी में सभी दोस्तों और परिवार वालों को भी बुलाया था लेकिन मुझे नहीं बुलाया. इससे मुझे और मेरा परिवार बहुत दुखी हुए थे

सचिन से जुड़ा : काम्बली यह भी कहा था कि मैं 10 साल की उम्र से सचिन से जुड़ा हूँ हम दोनों ने अच्छा बुरा समय एक साथ मिलकर देखा है. लेकिन अब सचिन ने मुझे भुला दिया है. जब मेरी पत्नी को बच्चा हुआ तो वह मेरे बच्चे को भी देखने भी नहीं आया था. और मैंने उनको कई मैसेज भी करे लेकिन बदले में मुझे मामूली जवाब मिले थे लेकिन मैं अभी भी उन्हें चाहता है.

अलग शाखियते : लेकिन सचिन ने काम्बली को कुछ नहीं कहा. हलाकि उन्होंने एक बार कहा था कि हम दोनों अलग अलग शाखियते है और इसके बारे में कुछ नहीं कह सकता हूँ. काबली ने अपने शुरुवात में दो दोहरे शतक लगाए थे जबकि सचिन को कई साल लग गए थे. उन्होंने 14 टेस्ट में 1,000 रन बनाने का एक रिकॉर्ड बनाया है. काबली ने 17 टेस्ट में 54.20 की औसात से रन बनाए थे जो कि सचिन से ज्यादा है. उन्होंने आखरी टेस्ट मैच 23 साल की उम्र में खेला था.

No comments