Breaking News

कब से सुरु हो रहा है सावन का महीना? सावन का महत्व, सोमवार की तिथियां, शुभ मुहूर्त, व्रत नियम, पूजा विधि

कब से सुरु हो रहा है सावन का महीना? सावन का महत्व, सोमवार की तिथियां, शुभ मुहूर्त, व्रत नियम, पूजा विधि

Sawan 2021: हिंदू पंचांग के अनुसार सावन के महीने को 5वां महीना बताया गया है। सावन में पड़ने वाले सोमवार का विशेष महत्व बताया गया है। इस बार सावन के महीने में 4 सोमवार पड़ रहे हैं।

सावन का महत्व 

  1. पूरे सावन में भगवान शिव की पूजा विधि विधान से करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है.
  2. खासकर कुंवारी कन्याएं हर सोमवार व्रत रखती हैं तथा सुयोग्य वर का कामना करती हैं
  3. यह व्रत वैवाहिक जीवन सुखद रखने के लिए भी शादीशुदा महिलाएं करती हैं.

सावन मास की सोमवार की तिथियां

इस बार पहली सोमवारी 26 जुलाई को पड़ रही है जबकि चौथी सोमवारी 16 अगस्त को पड़ेगी.

सावन का पहला सोमवार: 26 जुलाई 2021

सावन का दूसरा सोमवार: 2 अगस्त 2021

सावन का तीसरा सोमवार: 9 अगस्त 2021

सावन का चौथा सोमवार: 16 अगस्त 2021

सावन शिवरात्रि पूजा का शुभ मुहूर्त


सावन शिवरात्रि व्रत तिथि: 6 अगस्त 2021, शुक्रवार

निशिता काल पूजा मुहूर्त: 7 अगस्त 2021, शनिवार की सुबह 12 बजकर 06 मिनट से 12 बजकर 48 मिनट तक

पूजा अवधि: मात्र 43 मिनट तक

शिवरात्रि व्रत पारण मुहूर्त: 7 अगस्त की सुबह 5 बजकर 46 मिनट से दोपहर 3 बजकर 45 मिनट तक

सावन मास व्रत नियम-

1. मान्यता है कि सावन महीने में मास-मंदिरा का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए।
2. इस महीने वाद-विवाद से भी बचना चाहिए। घर-परिवार में स्नेह बना रहना चाहिए।
3. सावन महीने में लहसुन और प्याज के सेवन करने की मनाही होती है।
4. इसके अलावा मसूर की दाल, मूली, बैंगन आदि के सेवन की भी मनाही होती है। शास्त्रों में बासी और जले हुए खाने को तामसिक भोजन की श्रेणी में रखा गया है।
5. शास्त्रों के अनुसार, सोमवार का व्रत बीच में नहीं छोड़ना चाहिए। अगर आप व्रत रखने में असमर्थ हैं तो भगवान शिव से माफी मांग कर ना करें।

सावन माह में भगवान शिव की पूजा विधि-

सुबह जल्दी उठ जाएं और स्नान आदि से निवृत्त होने के बाद साफ वस्त्र धारण करें।
घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
सभी देवी- देवताओं का गंगा जल से अभिषेक करें।
शिवलिंग में गंगा जल और दूध चढ़ाएं।
भगवान शिव को पुष्प अर्पित करें।
भगवान शिव को बेल पत्र अर्पित करें।
भगवान शिव की आरती करें और भोग भी लगाएं। इस बात का ध्यान रखें कि भगवान को सिर्फ सात्विक चीजों का भोग लगाया जाता है।
भगवान शिव का अधिक से अधिक ध्यान करें।

Tags:#Sawan_2021
#Sawan_2021_Date #Sawan_Somwar_2021_Date
#Sawan_2021_Kab_Se_Hai #Sawan_2021_Start_Date_And_End_Date
#Sawan_2021_Start_Date #Sawan_Shivratri_2021_Date
#Shravan_Month_2021 #Sawan_Shivratri_Puja_Vidhi #Sawan_Mahina_2021

No comments