Breaking News

पृथ्वी शॉ और ईशान किशन की बेखौफ बैटिंग पर मुरलीधरन बोले- 'ऐसा पहली बार नहीं हुआ है'

muralitharan-reacts-on-attacking-approach-of-prithvi-shaw-and-ishan-kishan-and-said-its-not-new-in-cricket

शिखर धवन की कप्तानी में भारत के युवा खिलाड़ियों ने बेखौफ अंदाज में खेलते हुए श्रीलंका को पहले वनडे में हरा दिया। इसके साथ ही टीम ने उन आलोचकों को भी जवाब दे दिया जो इन्हें 'टीम बी' बुला रहे थे। भारत के दो युवा सितारे पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) और ईशान किशन (Ishan Kishan) ने तो वनडे को T20 स्टाइल में बदल कर ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। 

शॉ ने 24 गेंदों पर 43 रन बनाए वहीं डेब्यू कर रहे ईशान किशन ने 42 बॉल खेलकर 59 रन जड़ दिए। इनके इस बेखौफ अंदाज को देखकर हर कोई बस यही बोल रहा है कि ये नई टीम इंडिया है। लेकिन श्रीलंका के महान खिलाड़ी मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) की माने तो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ऐसा पहली बार देखने को नहीं मिला है।
 
पृथ्वी शॉ और ईशान किशन के बेखौफ अंदाज पर मुरलीधरन का बयान टेस्ट करियर में सर्वाधिक 800 विकेट लेने वाले चैंपियन बॉलर मुथैया मुरलीधरन ने भारत के आक्रामक रवैये पर बयान दिया है। ईएसपीएन क्रीकइंफो से बातचीत करते हुए मुरली ने कहा, ''ऐसी ब्रांड की क्रिकेट इससे पहले भी ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका और कई टीमें खेल चुकी हैं। ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज मैथ्यू वेड या गिलक्रिस्ट ऐसी क्रिकेट खेल चुके हैं। वहीं, रिकी पोंटिंग और एंड्रू साइमंड़्स जैसे बल्लेबाज जब रंग में होते थे तो इसी अंदाज में खेला करते थे। इसलिए मैं कहूंगा कि ये नया है। इसके साथ ही इन खिलाड़ियों को IPL खेलने से भी काफी मदद मिली है।''

IPL खेलने से बढ़ा है आत्मविश्वास महान स्पिनर ने आगे कहा कि ये बल्लेबाज इसी तरह से अपने आप को एक्सप्रेस करना चाहते हैं। साथ ही मुरली ने कहा कि आपको ये भी देखना चाहिए कि उनके सामने एक साधारण बॉलिंग लाइनअप थी। श्रीलंकन बॉलर एक भी मौका बनाने में असफल दिख रहे थे, जिससे उन्हें बैटिंग करने में फायदा पहुंची। श्रीलंकन लेजेंड ने कहा कि ये बल्लेबाज IPL में जोफ्रा आर्चर जैसे स्पिनर और सुनील नरेन जैसे स्पिनर का सामना करते हैं, जिससे की उनका आत्मविश्वास बढ़ जाता है।

बता दें कि भारतीय टीम ने पहला वनडे जीतकर सीरीज में 1- 0 की बढ़त बना ली है। तीन मैचों की सीरीज का अगला मुकाबला 20 जुलाई को खेला जाएगा।

No comments