Breaking News

इन नौ रंगों से प्रसन्न होती है माता, देती है मनचाहा वरदान

इन नौ रंगों से प्रसन्न होती है माता, देती है मनचाहा वरदान

7 अक्टूबर से होने जा रहा है नवरात्रि 2021 का आगाज़. यानि इन नौ दिनों में मां को प्रसन्न करने का भक्त हर जतन करेंगे. अगर आप भी मां की कृपा प्राप्त करना चाहते हैं तो एक तरीका हम बताने जा रहे हैं. क्योंकि शास्त्रों में मां को जो रंग प्रिय हैं उनका जिक्र किया गया है साथ ही बताया गया है उनका महत्व भी. नवरात्रि के नौ दिनों तक देवी दुर्गा के नौ स्वरूपों की आराधना की जाती है. हर देवी को एक विशेष रंग अति प्रिय होता है. अगर आप उस दिन उसी रंग को पहनेंगे तो माता रानी की विशेष कृपा हासिल की जा सकती है. 

तो चलिए बताते हैं आपको मां को प्रिय रंग और उनका महत्व

प्रथम दिन – शैलपुत्री नवरात्रि का पहला दिन शैलपुत्री माता को समर्पित होता है. और इन देवी को लाल रंग अति प्रिय होता है. यानि इस दिन अगर आप लाल वस्त्र धारण कर देवी की आराधना करते हैं तो माता की विशेष कृपा प्राप्त की जा सकती है.

दूसरा दिन – ब्रह्मचारिणी ब्रह्म का अर्थ होता है तप और चारिणी का मतलब होता है आचरण करने वाली अर्थात तप का आचरण करने वाली। इन देवी को पीला रंग सबसे ज्यादा भाता है. अतः नवरात्रि के दूसरे दिन पीले रंग के वस्त्र धारण करें. इससे आपका मन स्थिर होगा.

तीसरा दिन – चंद्रघंटा आदि शक्ति को समर्पित इस पर्व के तीसरे दिन पूजा होती है मां चंद्रघंटा की. जिन्हें हरा रंग खूब पसंद है. इसीलिए नवरात्रि के तीसरे दिन हरे रंग को महत्व दें.

चौथा दिन – कूष्मांडा अपनी मंद मुस्कान से ब्रह्मांड का निर्माण करने वाली इन देवी को स्लेटी रंग काफी पसंद है। इसीलिए इस दिन स्लेटी रंग के वस्त्र धारण कर देवी की उपासना करें. इससे साधक को धन और यश की प्राप्ति अवश्य होती है.

पांचवा दिन – स्कंदमाता नवरात्रि के पांचवे दिन स्कंदमाता की पूजा अर्चना की जाती है.ये देवी सूर्यमंडल की अधिष्ठात्री हैं. इसलिए इन्हें सबसे ज्यादा नारंगी रंग प्रिय है.

छठा दिन – कात्यायनी छठे दिन मा दुर्गा के कात्यायनी स्वरुप की पूजा का विधान है. इन्हें श्वेत यानि सफेद रंग काफी प्रिय है। यह रंग शांति और पवित्रता का प्रतीक माना जाता है.

सातवां दिन – कालरात्रि देवी के कालरात्रि स्वरूप की पूजा नवरात्रि के सातवे दिन होती है. और मां को गुलाबी रंग से बहुत प्यार है. यानि इस दिन गुलाबी रंग का इस्तेमाल अधिक से अधिक करें. गुलाबी वस्त्र पहनें और मां को प्रसन्न करें.

आठवां दिन – महागौरी अष्टम दिन मां महागौरी को समर्पित है. जिनकी आराधना करते समय आसमानी रंग के वस्त्र धारण करें. इससे मां की विशेष अनुकम्पा अपने भक्तों पर बनी रहती है.

नौवां दिन – सिद्धिदात्री 
मां सिद्धिदात्री यानि जो समस्त सिद्धियों को देने वाली हैं. नवरात्रि के आखिरी दिन यानि नौवें दिन इन्ही को प्रिय हल्के नीले रंग का इस्तेमाल करें. और इसी रंग के वस्त्र पहनकर मां की उपासना करें.

No comments