Breaking News

Coronavirus: द‍िल्‍ली के अस्‍पताल में तुरंत होगा Covid मरीजों का इलाज, खुला ऐसा पहला इकलौता सेंटर

Coronavirus: द‍िल्‍ली के अस्‍पताल में तुरंत होगा Covid मरीजों का इलाज, खुला ऐसा पहला इकलौता सेंटर

द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) कोरोना की संभाव‍ित तीसरी लहर (Third Wave) से राजधानीवास‍ियों को बचाने के ल‍िये हरसंभव तैयार‍ियों में जुटी हुई है. इस द‍िशा में द‍िल्‍ली सरकार की ओर से बुधवार को राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल (Rajiv Gandhi Super Specialty Hospital) में पहले 'कोविड-19 रैपिड रिस्पांस सेंटर' की शुरूआत की गई है. इस सेंटर का उद्घाटन दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) ने क‍िया.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए सरकारी अस्पतालों को सभी सुविधाओं से लैस करने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है. इसी के मद्देनजर यह केंद्र शुरू किया गया है, जो अस्पताल आने वाले कोविड-19 मरीजों का तत्काल इलाज मुहैया कराएगा.

इस सेंटर को 24 घंटे रैपिड रिस्पांस टीम संभालेगी, ताकि मरीजों को इलाज के लिए इंतजार न करना पड़े. यह केंद्र आईसीयू (ICU) और वेंटिलेटर से लैस है, ताकि कोविड-19 के आपातकालीन मामलों में मरीज को भर्ती होने के लिए इंतजार न करना पड़े और तत्काल इलाज देकर उनके बहुमूल्य जीवन को बचाया जा सके.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केंद्र में तत्काल इलाज उपलब्ध करा कर कोविड-19 मरीजों और उनके परिवारों को राहत दी जाएगी. इस दौरान उन्होंने महामारी के बीच निःस्वार्थ सेवा के लिए चिकित्सा कर्मचारियों के प्रति आभार भी व्यक्त किया. कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के साथ विधायक सौरभ भारद्वाज और अस्पताल के स्वास्थ्य विशेषज्ञ और डॉक्टर आदि भी प्रमुख रूप से मौजूद रहे.

यह पहला 'कोविड-19 रैपिड रिस्पांस सेंटर' 24 घंटे रैपिड रिस्पांस टीम के सहयोग से एंबुलेंस को कम समय में अस्पताल से बाहर निकालने और मरीज को बिना इंतजार किए अस्पताल में भर्ती कराकर उनका बहुमूल्य जीवन बचाने में मदद करेगा. यह केंद्र अस्पताल आने वाले मरीजों को भर्ती के लिए प्रतीक्षा किए बिना तत्काल इलाज मुहैया कराएगा और मरीजों को बाद में उनकी स्थिति के आधार पर संबंधित वार्डों में स्थानांतरित किया जाएगा.

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने लोगों से सतर्क रहने और कोविड-19 के दिशा निर्देशों का पालन करने की अपील करते हुए कहा कि हमें अमेरिका और ब्रिटेन में अभी जो कुछ हो रहा है, उससे सीखना चाहिए. वहां कोरोना के मामले अचानक बढ़ गए हैं. इस प्रकार हमें अपने सुरक्षा उपायों को तब तक नहीं छोड़ना चाहिए, जब तक केस पूरी तरह से खत्म न हों. साथ ही, हमें अपने अनुभव से सीखना चाहिए कि कोई भी लापरवाही आपदा का कारण बन सकती है.

No comments