Breaking News

क्या अपने से कम उम्र के पार्टनर के साथ खुश रह पाती है महिलाएं?

क्या अपने से कम उम्र के पार्टनर के साथ खुश रह पाती है महिलाएं

आम तौर पर देखा जाता है कि प्यार या शादी के रिश्ते में लड़की की उम्र लड़के से कम ही होती है। कई बार दोनों पार्टनर बराबर उम्र के होते हैं। लेकिन अब यह ट्रेंड दिखाई पड़ रहा है कि लड़की तो उम्र में बड़ी होती है और लड़का छोटा होता है। इसके पीछे लोग एक ही बात कहते हैं कि प्यार अंधा होता है। प्यार में उम्र की कोई सीमा नहीं होती। जैसे पुरुष को खुद से बहुत छोटी लड़की से प्यार हो सकता है, वैसे ही महिला को भी कम उम्र के पुरुष से प्यार हो सकता है। लेकिन सवाल है कि इस तरह के रिलेशनशिप का अंजाम क्या होता है। क्या यह सफल होता है या इसमें मुश्किलें आती हैं? अमेरिका की इमोरी यूनिवर्सिटी में इसे लेकर शोध हुआ है, वहीं रिलेशनशिप एक्सपर्ट्स भी इसे लेकर अपनी राय रखते रहे हैं। जानते हैं इसके बारे में।

1. तलाक की संभावना होती है ज्यादा 
अमेरिका की इमोरी यूनिवर्सिटी में हुई रिसर्च स्टडी में यह बताया गया था कि अगर किसी कपल के बीच उम्र का फासला ज्यादा रहता है तो उनके बीच तलाक की संभवाना भी बढ़ जाती है। यह स्टडी रिपोर्ट What makes for a stable marriage? नाम से जारी हुई थी। इसमें यह कहा गया था कि औरत अगर पुरुष से उम्र में ज्यादा बड़ी हुई तो उनके बीच शारीरिक संबंधों को लेकर परेशानी होने लगती है। इसके अलावा भावनात्मक संबंध भी ठीक नहीं रहते और रिश्ता टूटने की संभावना बनी रहती है, लेकिन कई बार ऐसा नहीं भी होता।

2. प्रेग्नेंसी से जुड़ी समस्याएं मनोवैज्ञानिकों और डॉक्टरों का कहना है कि अगर लड़की की उम्र लड़के से दो-चार साल ज्यादा हुई तो कोई खास परेशानी नहीं होती, पर लड़की की उम्र लड़के से 10 साल या इससे ज्यादा हुई तो रिलेशनशिप में आगे चल कर परेशानी आने लगती है। अगर शादी के वक्त लड़की की उम्र 40 साल या इससे ज्यादा हुई तो प्रेग्नेंसी से जुड़ी समस्याएं पैदा होती हैं। यह समस्या जटिल रूप ले सकती है, जो आगे तलाक की वजह भी बन सकती है।

3. भावनात्मक असंतुलन मनोवौज्ञानिकों का मानना है कि उम्र बढ़ने के बाद व्यक्ति की मनोदशा में भी बदलाव आता है। कम उम्र के व्यक्ति के सोचने का तरीका अलग होता है और उसकी रुचियां भी उसी के हिसाब से होती हैं। वहीं, उम्र ज्यादा होने पर सोचने का तौर-तरीका बदल जाता है। इसलिए अगर दो ऐसे लोग आपस में रिलेशनशिप बनाते हैं जिनकी उम्र के बीच ज्यादा फासला हो तो उनमें मतभेद होने की संभावना ज्यादा रहती है। इससे भावनात्मक असंतुलन भी पैदा होता है।

4. दबाव महसूस करते हैं पुरुष पार्टनर मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि अधिक उम्र की महिला भले ही अपने यंग पार्टनर के साथ खुश नजर आए, लेकिन कुछ समय के बाद पुरुष पार्टनर ऐसे रिलेशनशिप में एक तरह का दबाव महसूस करने लगते हैं। इसकी वजह यह है कि अधिक उम्र की महिला ज्यादा अनुभवी होती है और आर्थिक तौर पर भी स्वतंत्र होती है। भले ही वह अपने पार्टनर को दिल से चाहती हो, लेकिन उम्र में बड़ी होने के कारण वह डोमिनेटिंग होती है। इसलिए पुरुष पार्टनर उनके साथ ज्यादा सहज नहीं महसूस कर पाते।

5. करना पड़ता है समझौता आम तौर पर ऐसे रिलेशनशिप में दोनों पार्टनर को समझौता करना पड़ता है। अगर दोनों के बीच उम्र का फासला 10 वर्ष से भी ज्यादा का है, यानी महिला अपने पार्टनर से 10 साल बड़ी है तो बच्चे को लेकर उन्हें समझौता करना पड़ता है। ज्यादा उम्र में औरत के लिए मां बन पाना संभव नहीं हो सकता। लेकिन अब ऐसी मेडिकल तकनीक आ गई है कि वे चाहें तो बच्चा अडॉप्ट करने की जगह खुद बच्चे को जन्म दे सकती हैं या फिर बिना बच्चे के ही रहने का फैसला कर सकती हैं।

No comments