Breaking News

सावधान! तीसरी लहर का खतरा मंडराया; महाराष्ट्र और केरल में फिर बढ़ रहे हैं कोरोना के आंकड़े

सावधान! तीसरी लहर का खतरा मंडराया; महाराष्ट्र और केरल में फिर बढ़ रहे हैं कोरोना के आंकड़े

पिछले हफ्ते से देश में एक बार फिर कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ने लगी है. महाराष्ट्र में भी कोरोना केस की रफ़्तार में तेजी आई है. महाराष्ट्र में एक दिन में PIB द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक 6 हजार 600 नए केस सामने आए हैं. देश में एक दिन में कोरोना केस का आंकड़ा 41 हजार 49 आया है.

पिछले चार दिनों से देश में प्रतिदिन 40 हजार से अधिक नए केस सामने आ रहे हैं. शुक्रवार को यह आंकड़ा 44 हजार 230 हो गया. लेकिन संतोष की बात यह कि रिकवरी रेट 97 प्रतिशत से ज्यादा है. 24 घंटों में 37 हजार 291 लोगों ने कोरोना को मात दिया.

केरल में कोरोना की स्थिति विस्फोटक बनी हुई है केरल सरकार द्वारा दी गई जानकारियों के मुताबिक 24 घंटों में कोरोना के 20 हजार 772 नए केस सामने आए हैं. इनमें 116 लोगों की मृत्यु हो गई है. इस बारे में एक बात की ओर ध्यान दिलाना जरूरी है. देश में कोरोना के जितने केस सामने आ रहे हैं उनमें से आधा केस अकेले केरल राज्य से हैं. केरल में कोरोना संक्रमण दर 13.61 प्रतिशत है. बकरी ईद में केरल सरकार ने कोरोना प्रतिबंधों में काफी छूट दे दी. इसकी खूब आलोचनाएं हुईं. आरोप किया जा रहा है कि इसी वजह से कोरोना केस में अचानक तेजी आ गई है. कोरोना के डर को देखते हुए वहां सरकार ने शनिवार और रविवार दोनों दिन संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की है.

महाराष्ट्र में कोरोना की स्थिति अचानक क्यों दे रही खतरे का संकेत? 
महाराष्ट्र के कुछ जिलों में कोरोना का संक्रमण कम होने की बजाए बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है. बारामती, लातूर, बीड जैसे जिलों में स्थिति एक बार फिर खतरे का संकेत दे रही है. पूरे महाराष्ट्र में भी 24 घंटों में साढ़े हजार से अधिक नए कोरोना केस सामने आना चिंता बढ़ाने वाला है. रिपोर्टों के मुताबिक यह आंकड़ा कुछ दिनों में एक बार फिर 10 हजार प्रतिदिन के करीब पहुंच सकता है. अब तक प्राप्त जानकारी के मुताबिक एक दिन में 7 हजार 431 लोग कोरोना से ठीक होकर घर गए हैं. लेकिन 231 लोगों की मृत्यु हो गई है. फिलहाल महाराष्ट्र में कुल सक्रिय मरीजों की संख्या (Active Corona Positive Cases) 77 हजार 494 हैं. अब तक महाराष्ट्र में कोरोना से 1 लाख 32 हजार 566 लोगों की मृत्यु हो चुकी है.

महाराष्ट्र में मृत्यु ज्यादा होने की वजह क्या? केरल में कोरोना के केस पूरे देश के आंकड़ों की तुलना में आधा हैं लेकिन महाराष्ट्र में कोरोना केस केरल से एक तिहाई होने के बावजूद मृतकों की संख्या यहां बहुत ज्यादा है. महाराष्ट्र में एक दिन में केरल के 116 के मुकाबले 231 लोगों की मृत्यु हुई है. महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की मौत ज्यादा हो रही है, इसकी कई वजहें हो सकती हैं. एक वजह यह भी हो सकती है कि मरीज काफी देर हो जाने के बाद अस्पताल जा रहे हैं, इससे कोरोना कंट्रोल करना मुश्किल हो जाता है और मरीजों की मौत हो जाती है. एक वजह स्वास्थ्य सेवाओं के स्तर की भी हो सकती है. केरल में महाराष्ट्र से उन्नत स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध होने की वजह से भी यह संभव हो सकता है कि वहां कोरोना संक्रमितों की जान बचाने में कामयाबी ज्यादा हासिल हो रही हो. खैर, यह शोध का विषय है.

No comments