Breaking News

कहीं आपके आधार कार्ड से फर्जी सिम कार्ड तो नहीं खरीदा गया है, अगर ऐसा है तो जाना पड़ सकता है जेल!

कहीं आपके आधार कार्ड से फर्जी सिम कार्ड तो नहीं खरीदा गया है, अगर ऐसा है तो जाना पड़ सकता है जेल!

कहीं आपके आधार कार्ड (Aadhaar) से फर्जी मोबाइल सिम कार्ड तो नहीं खरीदा गया है। अगर ऐसा है, तो आपको भारी नुकसान पड़ सकता है, क्योंकि आपके नाम पर रजिस्टर्ड फर्जी सिम से कोई भी गलत काम होने पर आपको दोषी माना जाएगा। ऐसे में आपको जेल भी जाना पड़ सकता है। बता दें कि आपका आधार कार्ड (Aadhaar) मौजूदा वक्त का सबसे जरूरी दस्तावेज है। लेकिन इसे लेकर काफी लापरवाही देखी जा रही है। जिसके चलते आधार से फ्रॉड की घटनाएं सामने आ रही है। 

इन फ्रॉड की घटनाओं पर लगाम लगाने कि लिए डिपॉर्टमेंट ऑफ टेलिकम्युनिकेशन (DoT) की तरफ से एक नई वेबसाइट लॉन्च की गई है। साथ ही टेलिकॉम एनालिटिक्स फॉर फ्रॉम मैनेजमेंट एंड कंज्यूमर प्रोटेक्शन (TAFCOP) नाम से एक पोर्टल शुरू किया गया है। जहां से यूजर्स पता लगा सकते हैं कि आखिर उनके आधार कार्ड पर कितने रजिस्टर्ड सिम कार्ड रजिस्टर्ड हैं। इसके बाद यूजर्स ऑनलाइन मोड से ही रजिस्टर्ड फर्जी सिम को ब्लॉक कर सकते हैं।

Paytm के फाउंडर ने की तारीफ Paytm के फाउंडर विजय शेयर शर्मा ने ट्वीट करके इस सर्विस का काफी तारीफ की है। इस सर्विस को पीएम मोदी ने लॉन्च किया था। जिससे यूजर्स अपने आधार कार्ड से हो रहे फ्रॉड को रोक सकते हैं। साथ ही ऐसी किसी भी गतिविधि की ऑनलाइन रिपोर्ट करके सिम ब्लॉक कर सकते हैं।


कैसे फर्जी सिम कार्ड करे पहचान सबसे पहले टेलिकॉम एनालिटिक्स फॉर मैनेजमेंट एंड कंज्यूमर प्रोटेक्शन पोर्ट्ल (TAFCOP) पर क्लिक करना होगा।

  • फिर आपना कॉन्टैक्ट नंबर दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद ओटीपी रिक्वेस्ट के लिए टैप करना होगा।
  • फिर ओटीपी का वेरिफिकेशन करना होगा।
  • इसके बाद आपके आधार से लिंग सभी मोबाइल नंबर की लिस्ट आ जाएगी।
  • फिर फर्जी मोबाइल को रिपोर्ट किया जा सकेगा। साथ ही ब्लॉक करने की सुविधा होगी।


क्या है DoT की गाइडलाइन DoT की गाइडलाइन के मुताबिक एक आधार कार्ड से अधिकतम 9 सिम कार्ड खरीदे जा सकते हैं। अगर आपके नाम पर 9 से ज्यादा सिम रजिस्टर्ड हैं, तो आपक आपको एसएमएस से सूचित किया जाएगा। इसे लेकर यूजर्स पोर्टल की लिंक पर क्लिक करने रिपोर्ट कर सकता है।

No comments