Breaking News

खुलते मेरा स्कूल तुम आ जाते हो कोरोना नेता जी की रैली में क्यूं नहीं जाते कोरोना

खुलते मेरा स्कूल तुम आ जाते हो कोरोना नेता जी की रैली में क्यूं नहीं जाते कोरोना

कोरोना महामारी के चलते देश भर में मार्च 2020 से स्कूल बंद हैं, हालांकि ऑनलाइन पढ़ाई जारी है। कोरोना के इस दौर में जब-जब स्कूल खोलने की डिमांड उठती है, तब-तब कोरोना महामारी का हवाला दिया जाने लगता है। वहीं, चुनावों में नेताओं की रैलियों में कोरोना का कोई असर नहीं दिखाई देता है। इन्हीं सबको एक गाने ‘खुलते मेरा स्कूल आ जाते हो कोराना…’ में पिरोया है, तीसरी क्लास में पढ़ने वाले 8 साल के स्टूडेंट रौनक रतन ने। रौनक का ये गाना सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।


बेटे की सिचुएशन देखकर पिता ने लिखा गाना बिहार के ताजपुर फुलवरिया गांव में रहने वाले रौनक के पिता रत्नेश रतन प्रोफेशनल भोजपुरी सिंगर हैं। वे कई भोजपुरी गाने लिख और गा चुके हैं। रत्नेश कहते हैं ‘कोरोना महामारी के दौरान जब स्कूल बंद हो गए तो हमेशा रौनक पूछता रहता था कि पापा स्कूल कब खुलेंगे। मैं अक्सर देखता रहा कि नेताओं की रैलियां हो या चुनाव, वहां कोरोना नहीं होता। लेकिन स्कूल खुलने के नाम पर कोरोना फैलने लगता है। इसी को देखकर मैंने यह गाना लिखा, जिसे रौनक ने गाया और देखते ही देखते ये गाना सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।’

No comments