Breaking News

इसी महीने आएगी कोरोना की तीसरी लहर, अक्टूबर में होगी पीक पर, महाराष्ट्र के लिए खतरे की घंटी Chamba News

इसी महीने आएगी कोरोना की तीसरी लहर, अक्टूबर में होगी पीक पर, महाराष्ट्र के लिए खतरे की घंटी

देश में कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave of Corona) की शुरुआत इसी महीने हो सकती है. एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि अगस्त महीने में देश में कोरोना की तीसरी लहर की शुरुआत हो जाएगी. रिपोर्ट में यह आशंका जताई गई है कि इस लहर में प्रति दिन एक लाख से अधिक नए कोरोना केस आने शुरू हो जाएंगे. तीसरी लहर में स्थिति जब और गंभीर होगी तो यह आंकड़ा प्रति दिन डेढ़ लाख हो जाएगा.

आईआईटी हैदराबाद और कानपुर के मथुकुमल्ली विद्यासागर और मनिंद्र अग्रवाल के नेतृत्व में किए गए इस रिसर्च में यह दावा किया गया है. यह भी दावा किया गया है कि अक्टूबर में तीसरी लहर का पीक होगा और कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ेगी. ब्लूमबर्ग द्वारा दी गई खबर के मुताबिक विद्यासागर ने एक ई मेल के माध्यम से यह जानकारी दी है.

महाराष्ट्र और केरल के लिए खतरनाक स्थिति के संकेत

अपनी इस रिपोर्ट में विद्यासागर ने साफ कहा है कि महाराष्ट्र और केरल में एक बार फिर स्थिति चिंताजनक हो सकती है. उन्होंने इन दोनों राज्यों के लिए ‘खतरे की घंटी’ जैसे शब्दों का उपयोग किया है. लेकिन इस रिपोर्ट में एक राहत की बात यही है कि इसमें कोरोना की तीसरी लहर को दूसरी लहर के मुकाबले कम घातक बताया गया है.

इसी साल मई महीने में आईआईटी हैदराबाद के प्राध्यापक विद्यासागर ने भारत में कोरोना वायरस के प्रसार को लेकर अपना एक रिसर्च जारी किया था. अपने मैथेमैटिकल मॉडल के आधार पर उन्होंने मई महीने में रोगियों की संख्या में तेजी आने की घोषणा की थी. उन्होंने कहा था कि मई महीने में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ेगी और जून तक यह संख्या प्रतिदिन 20 हजार के करीब पहुंचने लगेगी. उन्होंने रायटर्स को दी गई जानकारियों में कहा था कि 3 से 5 मई के दरम्यान कोरोना पीक पर होगा. इंडिया टूडे को कोरोना के पीक पर होने की तारीख उन्होंने 7 मई बताई थी. लेकिन विद्यासागर की टीम का यह अनुमान गलत साबित हुआ. इस बारे में सवाल किए जाने पर उन्होंने कहा था कि गलत मापन पद्धति की वजह से अनुमान गलत साबित हुआ.
महाराष्ट्र, केरल सहित 10 राज्यों को ज्यादा सावधानी बरतने की सलाह

भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 40,134 मामले सामने आए हैं और 422 मरीजों की जान गई है. केंद्र सरकार ने केरल, महाराष्ट्र और उत्तर पूर्व भारत के राज्यों सहित 10 राज्यों में अतिरिक्त सावधानी बरतने की सलाह दी है. इन राज्यों में कोरोना का संक्रमण अत्यधिक तेज गति से बढ़ने की वजह से उन्हें रोकने के उपाय पर सख्ती से काम करने का निर्देश दिया है.

No comments