Breaking News

Manimahesh Yatra: मणिमहेश यात्रा के लिए जम्मू से चम्बा पहुंचा श्रद्धालुओं का जत्था

Manimahesh Yatra: मणिमहेश यात्रा के लिए जम्मू से चम्बा पहुंचा श्रद्धालुओं का जत्था

पवित्र मणिमहेश यात्रा के लिए जम्मू से श्रद्धालुओं का जत्था शनिवार को चम्बा पहुंच गया है। इसमें 4 बच्चों समेत 10 लोग शामिल हैं। रविवार को ये श्रद्धालु चम्बा से मणिमहेश यात्रा के लिए रवाना हो गए हैं। जत्थे में शामिल पुजारी सुरजीत कुमार ने बताया कि वे अपने साथ खाने-पीने की पर्याप्त सामग्री लेकर आए हैं। उन्होंने बताया कि लगभग 11वीं बार मणिमहेश जा रहे हैं। उन्हें यात्रा में किसी तरह की थकान या कोई परेशानी नहीं आई है।

 वे हर साल प्रसिद्ध मणिमहेश यात्रा के लिए आते हैं। यहां कैलाश पर्वत पर मणि व विभिन्न रूप से दर्शन होते हैं। ऐसे माना जाता है कि मणि भगवान भोलेनाथ की है। भगवान भक्तों को इस रूप में दर्शन देते हैं। कैलाश पर्वत के ठीक नीचे श्रद्धालु डल झील में स्नान करते हैं।

बता दें कि कोरोना वायरस के चलते श्रद्धालुओं को काफी परेशानी झेलनी पड़ी है। पुजारी सुरजीत कुमार ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते वह पिछले साल पवित्र मणिमहेश यात्रा पर नहीं आ सके थे। इस कारण उन्होंने घरों पर ही भगवान शिव की आराधना की थी लेकिन इस बार कोरोना के घटते मामलों को देखते हुए उन्हें फिर से मणिमहेश यात्रा पर जाने का मौका मिला है। इसे वह भगवान शिव का आशीर्वाद समझते हैं।

उन्होंने बताया कि सरकार व प्रशासन द्वारा दिए गए कोविड-19 नियमों को ध्यान में रखते हुए उन्होंने मणिमहेश यात्रा शुरू की है। कोरोना संक्रमण महामारी से पहले हजारों की तादाद में लोगों की आवाजाही होती थी लेकिन इस बार कम ही श्रद्धालु मणिमहेश जा रहे हैं। हालांकि यह ठीक ही है क्योंकि कोरोना महामारी का खतरा अभी टला नहीं है। सरकार व प्रशासन के नियमों का पालन करना हमारा कर्त्तव्य बनता है।

उधर, एसडीएम नवीन तंवर ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते पवित्र मणिमहेश यात्रा के लिए किसी को भी अनुमति नहीं दी गई है। उन्होंने बताया कि नियमों की अवहेलना करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अभी कोरोना वायरस का खतरा टला नहीं है। इसलिए लोग कोविड-19 से बचने व इसको फैलने से रोकने के लिए बनाए गए नियमों का पालन करें ताकि इस कोरोना महामारी से सभी सुरक्षित रह सके और जल्द से जल्द इस महामारी को जड़ से खत्म किया जा सके।

No comments