Breaking News

कांगड़ा: कैंसर की बीमारी ने बढ़ाई इस गरीब परिवार की मुश्किल, सरकार से लगाई मदद की गुहार, प्लीज शेयर

कांगड़ा: कैंसर की बीमारी ने बढ़ाई इस गरीब परिवार की मुश्किल, सरकार से लगाई मदद की गुहार, प्लीज शेयर

21वीं सदी में कैंसर एक घातक बीमारी बन गया है। कैंसर ने कई लोगों की जान ले ली है। एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में एक साल में लगभग 7 से 8 लाख लोगों की मौत कैंसर से होती है। यह आंकड़ा कोविड-19 के कारण हुई मौतों से अधिक है। कैंसर तेजी से फैल रहा है। ज्वालामुखी विधानसभा के अंतर्गत आती पंचायत फकेड के भरनाला गांव के रहने वाले गरीबू राम कैंसर की बीमारी से ग्रस्त हैं। यह परिवार सड़क की समस्या के साथ-साथ इस जानलेवा बीमारी से भी जूझ रहा है। गरीबू राम के परिवार में कुल 6 सदस्य हैं। गरीबू राम के पिता 70 साल के हैं और उनकी एक आंख खराब हो गई है और अब वह इस उम्र में पाइन ऑयल के ठेकेदारों के लिए काम कर रहे हैं। शुगर के कारण उसकी मां की दोनों बाजू लकवाग्रस्त हो गई हैं।

पति की हो चुकी है बड़ी सर्जरी, बस में कैसे जाएं टांडा : किरन बाला गरीबू राम का 11 साल का एक लड़का और 7 साल की एक लड़की की है। गरीबू राम की पत्नी किरन बाला परिवार में एकमात्र व्यक्ति है जो परिवार के लिए सबकुछ कर रही है। वह मैट्रिक पास है और उसने सीएम जयराम से उसकी और उसके परिवार की मदद करने का अनुरोध किया है। उसने परिवार को बीमा कार्ड के माध्यम से चिकित्सा राहत देने के लिए सरकार का और सस्ता राशन में जोड़ने के लिए पंचायत का धन्यवाद किया है लेकिन उसने कहा कि ये चीजें उनके लिए पर्याप्त नहीं हैं क्योंकि उसे नियमित रूप से टांडा मेडिकल कॉलेज जाना पड़ता है और इसके कारण टैक्सी का शुल्क भी बहुत लगता है। परिवार नियमित रूप से टैक्सी का किराया देने की स्थिति में नहीं है और रोगी के लिए बस में टांडा जाना संभव नहीं है क्योंकि उसकी एक बड़ी सर्जरी हो चुकी है।

मैं भीख नहीं मांगूगी, मैं काम करूंगी पति का कैंसर और बच्चों की शिक्षा उसके सामने 2 सबसे बड़ी चुनौतियां हैं। किरण बाला ने कहा वह किसी के आगे भीख नहीं मांगना चाहती है, वहीं कहा कि यह एक महामारी का दौर है और नौकरी पाना संभव नहीं है। यह निम्न आय स्तर के लोगों वाला एक छोटा-सा गांव है इसलिए दैनिक मजदूरी प्राप्त करना संभव नहीं है। किरण ने सीएम जयराम ठाकुर और ज्वालामुखी विधायक रमेश धवाला व केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर से उनकी मदद करने का अनुरोध किया। किरण बाला का कहना है कि उसे उसकी शिक्षा स्तर के अनुसार नौकरी की जरूरत है। वह काम करने के लिए तैयार है ताकि अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दे सके। पीड़िता का हाल देखने के लिए विकास धीमान अध्यक्ष आम आदमी पार्टी यूथ विंग ज्वालामुखी निर्वाचन क्षेत्र भी मौजूद थे।

पंचायत ने सस्ते राशन में डाला : प्रधान वहीं इस संदर्भ में पंचायत प्रधान शशि कुमारी ने बताया कि पंचायत ने गरीबू राम के परिवार को बीपीएल में डालने का प्रस्ताव डाल दिया है कमेटी बनते ही परिवार को उक्त श्रेणी में डाल दिया जाएगा। फिलहाल पंचायत ने परिवार को सस्ते राशन में डाला है।

No comments