Breaking News

आखिरी टेस्ट में लाैट आएगा इंग्लैंड का धुरंधर, रूट बोले- उसे टेस्ट खेलना पसंद है

आखिरी टेस्ट में लाैट आएगा इंग्लैंड का धुरंधर, रूट बोले- उसे टेस्ट खेलना पसंद है

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के लिए आखिरी टेस्ट से पहले अच्छी खबर सामने आई है कि उनके धुरंधर खिलाड़ी टीम में लाैट रहे हैं। जी हां, विकेटकीपर बल्लेबाज भारत के खिलाफ 10 सितंबर से मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में शुरू होने वाले पांचवें और अंतिम टेस्ट के लिए इंग्लैंड की टीम में वापसी करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। 

बटलर ने पहले तीन मैच नॉटिंघम, लॉर्ड्स और लीड्स में खेले, लेकिन लंदन के केनिंग्टन ओवल में चल रहे चौथे टेस्ट से पहले उन्हें टीम छोड़नी पड़ी। उन्होंने अपने दूसरे बच्चे के जन्म में शामिल होने के लिए टीम को छोड़ दिया था। गुरुवार, 2 सितंबर को उनकी पत्नी ने एक बच्ची को जन्म दिया। 

हाल ही में, बटलर के टेस्ट करियर के अंत को लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं। हालांकि कप्तान जो रूट ने बयान देते हुए साफ कहा कि वो उनकी टीम के अहम खिलाड़ी हैं। रूट ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "मुझे नहीं लगता कि यह जोस के टेस्ट करियर का अंत है। मैं किसी ऐसे व्यक्ति को देखता हूं जो टेस्ट क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए बेताब है। मुझे लगता है कि उसे टेस्ट खेलना पसंद है और वह हमारी टीम का एक बड़ा हिस्सा है। 

जहां तक ​​​​मेरा सवाल है, मुझे उम्मीद है कि यह उसके लिए वास्तव में यादगार सप्ताह है और जब भी वह फिर से खेलने के लिए उपलब्ध होगा तो यह बहुत अच्छा होगा।" यह भी पढ़ें- T20 World Cup : पाकिस्तान ने किया टीम का ऐलान, शोएब मलिक हुए बाहर व्यक्तिगत कारणों से बटलर के टीम छोड़ने के बाद, जॉनी बेयरस्टो ने चाैथे टेस्ट के लिए विकेटकीपिंग संभाली। 

ओली पोप को मध्यक्रम के बल्लेबाज के रूप में तैयार किया गया था और उन्होंने सही खेल दिखाया। पोप ने ओवल टेस्ट की पहली पारी में 81 रन बनाए। अगर बटलर लौटते हैं, तो थ्री लायंस का टीम प्रबंधन बल्लेबाजी क्रम में बदलाव को लेकर असमंजस में होगा। सीरीज के पहले तीन टेस्ट में बटलर को ज्यादा सफलता नहीं मिली। उन्होंने पांच पारियों में 14.40 की औसत से केवल 72 रन बनाए।

 उनका सर्वाधिक 25 रन लॉर्ड्स टेस्ट की दूसरी पारी में आया जिसमें इंग्लैंड को 151 रन से हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि, कीपिंग ग्लव्स के साथ, बटलर प्रभावशाली रहे हैं क्योंकि उन्होंने अब तक खेले गए तीन टेस्ट मैचों में 18 कैच लपके हैं।


No comments