Breaking News

IPL के इतिहास में ये 3 बड़े रिकॉर्ड जो कभी ना टूट पाए, भविष्य में टूटना भी है मुश्किल

IPL के इतिहास में ये 3 बड़े रिकॉर्ड जो कभी ना टूट पाए, भविष्य में टूटना भी है मुश्किल

इंडियन प्रीमियर लीग लंबे छक्कों, अद्भुत कैच, शानदार गेंदबाजी और अनगिनत रिकॉर्ड्स के लिए जाना जाता है। बहुत सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं, कई का अभी टूटा जाना बाकी है, आईपीएल में प्रतिभा और प्रर्दशन का ऐसा माहौल देखने को मिलता है जैसा आपको कहीं और नहीं मिलेगा और यही वजह है कि आईपीएल आज क्रिकेट की दुनिया में सबसे बड़ी लीग बन गई है। आईपीएल के 13 सालों के समय में कई बड़े रिकॉर्ड बने हैं और उनमें से कई टूटे भी हैं। कुछ कीर्तिमान ऐसे भी रहे हैं जो अब भी बरकरार हैं और उन्हें तोड़ने के बारे में खिलाड़ी सोचते भी होंगे, लेकिन ये काफी मुश्किल है। देखा जाए तो शायद आने वाले सालों में उन्हें कोई नहीं तोड़ पाएगा।

आईपीएल 2021 का दूसरा चरण कुछ दिनों में शुरू होने वाला है। इस चरण का पहला मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच 19 सितंबर को यूएई में खेला जाएगा। उससे पहले, आइए जानते हैं ऐसे तीन रिकोर्डस् के बारे में जो शायद कभी ना टूटे।
 
क्रिस गेल की 175 रनों की तूफ़ानी पारी

साल 2013 के आईपीएल में क्रिस गेल ने एक ऐसी पारी खेली जिसे देखकर सब भौच्चके रह गए, उन्होंने इस तरह से पूणे वॉरियर्स के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की, मैदान में चारो तरफ चौके और छक्के ही नज़र आए। उनकी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी का आलम ये था कि उन्होनें कब चिन्नास्वामी स्टेडियम में 66 गेंदों में नाबाद 175 रन बना डाले इस बात का पता ही नहीं चला। अपनी पारी के दौरान, बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने टी20 में सबसे तेज 100 और टी20 में सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर का रिकॉर्ड तोड़ा। अगर भविष्य में किसी को इस रिकॉर्ड को तोड़ना है तो उसे वैसी ही आतिशी बल्लेबाजी करनी होगी जैसी उस दिन गेल ने की थी।

विराट कोहली का एक सीजन में 973 रन

साल 2016 में विराट कोहली ने आईपीएल के एक ही सीजन में 973 रन बनाए थे और यह कहना गलत नहीं होगा कि यह किसी भी फॉर्मेट और किसी भी हालात में कोई भी बल्लेबाज के लिए सबसे अच्छा सीजन था। उस सीजन में कोहली बेहतरीन फॉर्म में थे और उन्होनें आईपीएल में भी अपना ग़ज़ब दौर जारी रखा। उन्हें पहले ही वर्ल्ड टी20 में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का अवॉर्ड मिल चुका था। अपनी अच्छी फॉर्म को जारी रखते हुए उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए 81.08 की औसत से 16 मैचों में 973 रन बनाए जिनमें 4 शतक भी शामिल थे। इस रिकोर्ड को कोई तोड़ पाएगा, ऐसा कहना बहुत ही ज़्यादा मुश्किल है।
 
युवराज सिंह की एक सीजन में दो हैट्रिक

साल 2009 में साउथ अफ्रीका में आयोजित आइपीएल में युवराज सिंह ने वो कमाल कर दिखाया जो उससे पहले और उसके बाद किसी भी खिलाड़ी ने नहीं किया। युवी ने आइपीएल के दूसरे ही सीजन में एक नहीं दो-दो बार हैट्रिक लेने का कमाल कर दिया और यह किसी भी गेंदबाज के लिए आसान नहीं है। ये आइपीएल में अब तक एक रिकॉर्ड ही है। हालांकि आइपीएल में हैट्रिक लेने वाले कई गेंदबाज हैं, लेकिन ऐसा कमाल कोई नहीं कर पाया।

युवी ने पहला हैट्रिक रॉयल चैलेंजर बैंगलोर के खिलाफ लिया था। उन्होंने इस मैच में जैक्स कैलिस, रॉबिन उथप्पा और मार्क बाउचर को आउट कर अपना हैट्रिक पूरा किया था। युवराज ने दूसरा हैट्रिक डेक्कन चार्जर्स के खिलाफ लिया था। उन्होंने हर्शल गिब्स, एंड्रयू साइमंड्स और वेणुगोपाल राव को आउट करके अपना हैट्रिक पूरा किया था। युवराज ने पहली हैट्रिक में 3 विकेट लेके 22 रन दिए और दूसरी हैट्रिक में 3 विकेट लेकर 13 रन दिए।

No comments