Breaking News

सरसों तेल में तेजी, चावल भी महंगा, त्‍योहारी मौसम आते ही पटना के लोगों पर पड़ी महंगाई की मार

सरसों तेल में तेजी, चावल भी महंगा, त्‍योहारी मौसम आते ही पटना के लोगों पर पड़ी महंगाई की मार

त्योहारों के आते ही महंगाई भी बढ़ने लगती है। रसोई गैस, पेट्रोल-डीजल की कीमतें तो बढ़ ही रही हैं, अब सरसों तेल और चावल की भी कीमत बढ़ गई है। पटना के बाजार में चावल चार से पांच रुपये प्रति किलो और महंगा हो गया है। इसके साथ ही सरसों तेल का न्यूनतम भाव भी पांच रुपये प्रति लीटर और बढ़ गया है। सरसों तेल का न्यूनतम भाव अब 190 रुपये प्रति लीटर हो चुका है। अब तक यह 185 रुपये प्रति लीटर ही मिल रहा था। हालांकि अधिकतम भाव 210 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर बना हुआ है। जानिए आगे क्‍या है कीमतों को लेकर आसार...

सरसों तेल की कीमत में नरमी की गुंजाइश नहीं बिहार खुदरा विक्रेता महासंघ के महासचिव रमेश तलरेजा ने कहा कि सरसों की नई पैदावार आने में अभी देरी है। इसलिए कीमतों में फिलहाल नरमी की गुंजाइश नहीं है। उन्होंने कहा कि सोयाबीन की नई पैदावार बाजार में आ गई है। इसलिए सोया रिफाइंड का भाव स्थिर चल रहा है। इसका भाव 155 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर बना हुआ है। त्योहारों पर सोया रिफाइंड की खपत बढ़ेगी। हालांकि भाव में तेजी आने की उम्मीद कम है। तलरेजा ने कहा कि सरसों तेल के साथ ही चावल भी महंगा हो गया है।

त्‍योहारी मांग की वजह से और बढ़ सकती है कीमत सामान्य श्रेणी का चावल 26 रुपये से बढ़कर 30 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गया है। इसी तरह से 36 रुपये किलो बिकने वाला चावल भी 40 रुपये किलो बिकने लगा है। आशंका है कि त्योहरी मांग की वजह से कुछ और जिंसों की कीमत बढ़ सकती है। इसमें मसाला और दाल शामिल हैं। बता दें कि इस समय सब्जियों के भाव भी तल्ख चल रहे हैं। 20 से 30 रुपये किलो बिकने वाली सब्जियां 40 से 70 रुपये प्रति किलो बिक रही हैं।

No comments