Breaking News

गुरुवार को भगवान विष्णु की पूजा के दौरान गाएं ये आरती, पूरी होती हैं मन की मुरादें

गुरुवार को भगवान विष्णु की पूजा के दौरान गाएं ये आरती, पूरी होती हैं मन की मुरादें

हिंदू धर्म में गुरुवार का दिन भगवान विष्णु को समर्पित होता है। कहते हैं कि इस दिन भगवान विष्णु की सच्चे मन से पूजा और अराधना करने से मन की मुरादें पूरी हो जाती हैं। मान्यता है कि भगवान विष्णु प्रसन्न होकर अपने भक्तों पर कृपा बरसाते हैं। जिससे भक्तों को धन-धान्य की कमी नहीं रहती है।

कहते हैं कि गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा करने से जिन जातकों की कुंडली में गुरु ग्रह का दोष होता है, उनके जीवन की भी समस्याएं खत्म हो जाती हैं। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, भगवान विष्णु की पूजा के दौरान उनकी आरती सुननी या पढ़नी चाहिए। कहते हैं कि आरती सुनने या पढ़ने से ही पूजा संपन्न होती है। जानिए गुरुवार के दिन भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए कौन-सी आरती पढ़नी या सुननी चाहिए-

श्री बृहस्पतिवार की आरती- ॐ जय बृहस्पति देवा-

ॐ जय बृहस्पति देवा, जय बृहस्पति देवा।
छिन-छिन भोग लगाऊं, कदली फल मेवा।।
ॐ जय बृहस्पति देवा।।

तुम पूर्ण परमात्मा, तुम अंतर्यामी।
जगतपिता जगदीश्वर, तुम सबके स्वामी।।
ॐ जय बृहस्पति देवा।।

चरणामृत निज निर्मल, सब पातक हर्ता।
सकल मनोरथ दायक, कृपा करो भर्ता।।
ॐ जय बृहस्पति देवा।।

तन, मन, धन अर्पण कर, जो जन शरण पड़े।
प्रभु प्रकट तब होकर, आकर द्वार खड़े।।
ॐ जय बृहस्पति देवा।।

दीनदयाल दयानिधि, भक्तन हितकारी।
पाप दोष सब हर्ता, भव बंधन हारी।।
ॐ जय बृहस्पति देवा।।

सकल मनोरथ दायक, सब संशय तारो।
विषय विकार मिटाओ, संतन सुखकारी।।
ॐ जय बृहस्पति देवा।।

जो कोई आरती तेरी प्रेम सहित गावे।
जेष्टानंद बंद सो-सो निश्चय पावे।।
ॐ जय बृहस्पति देवा।।

No comments