Breaking News

60 साल बाद बन रहा महासंयोग, ये दिन धनतेरस-दिवाली की खरीदारी के लिए है शुभ

60 साल बाद बन रहा महासंयोग, ये दिन धनतेरस-दिवाली की खरीदारी के लिए है शुभ

धनतेरस और दिवाली में अब कुछ ही दिन का समय बचा है. ऐसे में लोग खरीदारी करने के लिए घरों से निकलने लगे हैं. लेकिन अगर आप 28 अक्टूबर को खरीदारी करते हैं तो आपको ज्यादा लाभ मिल सकता है. ज्योतिषों के अनुसार, इस दिन पुष्य नक्षत्र रहेगा और गुरु शनि का दुर्लभ संयोग बनेगा. गुरु पुष्य नक्षत्र पर ग्रहों की ऐसी स्थिति 60 साल बाद बन रही है.

60 साल बाद महासंयोग ज्योतिषों के मुताबिक, दिवाली से पहले कार्तिक कृष्ण पक्ष को आने वाले पुष्य नक्षत्र में नया सामान खरीदना शुभ माना जाता है. इस दिन नई चीजें घर लाने से सुख-समृद्धि का आगमन होता है. शनि देव पुष्य नक्षत्र के स्वामी हैं. ऐसी मान्यताएं हैं कि शनि के नक्षत्र में मिलने वाले शुभ परिणाम लंबे समय तक बने रहेते हैं. हालांकि इस बार का पुष्य नक्षत्र खास होगा, क्योंकि पुष्य नक्षत्र पर मकर में राशि शनि-बृहस्पति का ऐसा संयोग 60 साल पहले 5 नवंबर 1344 को बना था.

निवेश करना है बहुत फलदायक 
शास्त्रों के अनुसार, इस साल गुरु शनि के स्वामित्व वाली राशि मकर में शनि के साथ ही विराजमान हैं. दोनों ही ग्रहों की चाल सीधी है और इन ग्रहों पर चंद्र की भी दृष्टि रहेगी जिससे गजकेसरी योग का भी निर्माण होने जा रहा है. चंद्रमा धन का कारक है और बृहस्पति के साथ इसकी युति से बन रहा गजकेसरी योग लोगों को भाग्योदय करता है. इस महासंयोग में निवेश करना बहुत फलदायक माना गया है जिसका लाभ आपको लंबे समय तक मिलता है. ज्योतिषों के अनुसार, बृहस्पति और शनि के बीच कोई शत्रुता भी नहीं है, इसलिए गुरुवार का दिन पुष्य नक्षत्र इसकी शुभता बढ़ाएगा.

कौन सी वस्तुएं खरीदना फायदेमंद? 
पुष्य नक्षत्र पर लोग अपनी जरूरत के हिसाब से चीजें खरीद सकते हैं. घर-संपत्ति, सोना-चांदी, गाड़ी, इलेक्ट्रानिक्स आइटम्स, फर्नीचर आदि खरीद सकते हैं. इसके अलावा बहीखाते खरीदने के लिए यह दिन बहुत ही शुभ है. इस दौरान धन का दान करना भी बहुत शुभ होता है. आप गौशाला में हरी घास का दान भी कर सकते हैं. शास्त्रों के अनुसार, इस शुभ घड़ी में भगवान शिव को प्रसन्न करने से आपका भाग्योदय हो सकता है.

No comments