Breaking News

दिवाली पर आप भी मां लक्ष्मी को कर सकते हैं खुश, बस करना होगा छोटा ये काम

दिवाली पर आप भी मां लक्ष्मी को कर सकते हैं खुश, बस करना होगा छोटा ये काम

देशभर में दिवाली की तैयारी जोरों पर है। इस मौके पर लोग सुख-समृद्धि और धन-संपत्ति की मंगल कामना के साथ मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना करते हैं। माना जाता है कि दीपावली की रात लक्ष्मी घर में आती हैं। और अपने भक्तों के घरों को धन-संपत्ति से भर देती हैं। इसीलिए लोग दहलीज से लेकर घर के अंदर जाते हुए मां लक्ष्मी के पांव बनाते हैं। लक्ष्मी को चंचला कहा गया है जो कभी एक स्थान पर रूकती नहीं। लिहाजा उसे स्थायी बनाने के लिए कुछ उपाय, पूजन, आराधना, मंत्र-जाप आदि का विधान भी है।

आप भी इन उपायों के जरिए मां लक्ष्मी को कर सकते हैं खुश

-दिवाली के दिन मंदिर में मां लक्ष्मी को कपड़े चढ़ाने और पूजा करने से धन प्राप्ति का रास्ता खुलता है।

-दिवाली की पूजन के बाद तिजोरी या बक्से में नौ गोमती चक्र स्थापित करने से सालों भर मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।

- लाल चंदन, गुलाब के फूल और रोली को लाल कपड़े में बांधकर पूजा करे और फिर उसे अपनी पैसे की जगह में रख दें, इससे घर में धन रुकता है।

- मां लक्ष्मी के साथ गन्ने की पूजा करने से भी धन संपत्ति की प्राप्ति होती है।

- दिवाली पर पूजन के समय मां लक्ष्मी को कमलगट्टे की माला पहनाएं और अगले दिन सवेरे लाल कपड़े में बांधकर उस माला को घर में पैसे रखने की जगह पर रखें।

- काफी कोशिशों के बावजूद भी नौकरी नहीं मिल रही हो तो दिवाली की शाम पूजा करते वक्त थोड़ी सी चने की दाल लक्ष्मीजी पर छिड़के और फिर उसे इकट्ठा कर पीपल के पेड़ पर चढ़ दें।

- दुकानदार, व्यवसायी दीपावली की रात्र साबुत फिटकरी लेकर उसे दुकान में चारों तरफ घुमाएं और फिर किसी चौराहे पर जाकर उसे उत्तर दिशा की तरफ फेंक दें।

- अपंग और भिखारी को खाना खिलाने से सुख-समृद्धि में वृद्धि होती है।

- दिवाली के दिन गरीबों में धन, कपड़ा मिठाई और खाना बांटने से सालों भर मां लक्ष्मी की असीम कृपा बनी रहती है।

दिवाली लक्ष्मी पूजा तिथि और शुभ मुहूर्त

दिवाली और लक्ष्मी पूजा तिथि- गुरुवार, 04 नवंबर 2021

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त : 18:10:28 से 20:06:18 तक

अवधि : 1 घंटे 55 मिनट

प्रदोष काल :17:34:09 से 20:10:27 तक

वृषभ काल : 18:10:28 से 20:06:18 तक।

दिवाली महानिशीथ काल मुहूर्त

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त : 23:38:52 से 24:30:58 तक

महानिशीथ काल : 23:38:52 से 24:30:58 तक

सिंह काल : 24:42:01 से 26:59:43 तक।

दिवाली शुभ चौघड़िया मुहूर्त

प्रातःकाल मुहूर्त्त (शुभ) :06:34:58 से 07:57:21 तक

प्रातःकाल मुहूर्त्त (चल, लाभ, अमृत): 10:42:09 से 14:49:21 तक

सायंकाल मुहूर्त्त (शुभ, अमृत, चल): 16:11:45 से 20:49:32 तक

रात्रि मुहूर्त्त (लाभ): 24:04:55 से 25:42:37 तक।

मान्यता के मुताबिक दिवाली की रात माता लक्ष्मी पृथ्वी पर आती हैं और घर-घर जाकर ये देखती हैं किसका घर साफ है और किसके यहां पर विधिविधान से पूजा हो रही है। माता लक्ष्मी वहीं पर अपनी कृपा बरसाती हैं। दिवाली पर लोग सुख-समृ्द्धि और भौतिक सुखों की प्राप्ति के लिए माता लक्ष्मी की विशेष पूजा करते हैं।

No comments