Breaking News

पहला दिन छोड़िए दूसरे दिन सहवाग और रोहित की लिस्ट में पहुंच सकते हैं अय्यर!

पहला दिन छोड़िए दूसरे दिन सहवाग और रोहित की लिस्ट में पहुंच सकते हैं अय्यर!

गुरूवार 25 नवंबर से भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच टेस्ट सीरीज़ की शुरुआत हो गई है. कानपुर में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के पहले दिन डेब्यू कर रहे श्रेयस अय्यर छाए रहे. खराब रौशनी की वजह से दिन का खेल खत्म होने से पहले भारत ने जो 258 रन बनाए. उसमें नॉट-आउट 75 रन श्रेयस अय्यर के रहे. अय्यर के अलावा पहले दिन भारत के दूसरे सबसे बड़े सिपाही रहे रविन्द्र जडेजा. जड्डू ने भी नॉट-आउट रहते हुए 50 रन बनाए. इन दोनों के अलावा ओपनर शुभमन गिल ने भी 52 रनों की पारी खेली. पहले दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने चार विकेट ही गंवाए हैं. सलामी बल्लेबाज़ शुभमन गिल ने अर्धशतक तो जड़ा लेकिन उसे शतक में तब्दील नहीं कर पाए. न्यूज़ीलैंड के लिए सबसे सफल गेंदबाज़ रहे काइल जेमिसन जिन्होंने तीन विकेट अपने नाम किए. इसके अलावा एक विकेट टिम साउदी के खाते में गया.

कैसा घटा दिन? ग्रीन पार्क क्रिकेट मैदान पर भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया. भारतीय टीम की शुरुआत कुछ ख़ास नहीं रही. महज़ आठवें ओवर और 21 रन के स्कोर पर भारत ने मयंक अग्रवाल के रूप में अपना पहला विकेट गंवा दिया. मयंक 13 रन बनाकर किवी गेंदबाज़ काइल जेमिसन का शिकार बने. शुरुआती झटके के बाद सलामी बल्लेबाज़ शुभमन गिल और चेतेश्वर पुजारा ने भारतीय पारी को संभाला और पहले सेशन में और कोई विकेट नहीं गिरने दिया. गिल के अर्धशतक की बदौलत भारतीय टीम ने पहले सेशन में एक विकेट के नुकसान पर 82 रन बना डाले.

लंच तक लग रहा था आज पुजारा और गिल से बड़ी पारियां आने वाली हैं. लेकिन दूसरे सेशन में न्यूज़ीलैंड के गेंदबाज़ों ने कमबैक किया और अगले 24 रनों के अंदर भारत के दो विकेट गिरा दिए. गिल 52 और पुजारा 26 रन बनकार पवेलियन लौट गए. कप्तान रहाणे ने डेब्यूटांट अय्यर के साथ मिलकर पारी को थोड़ा संभाला लेकिन वे भी 35 रन बनाकर जेमिसन को अपना विकेट दे बैठे. जेमिसन की ये तीसरी विकेट थी. लेकिन इसके बाद न्यूज़ीलैंड की टीम के लिए आगे कुछ अच्छा नहीं हुआ.

दूसरे दिन भारतीय टीम को बड़ा स्कोर हासिल करना है तो श्रेयस अय्यर और रविन्द्र जडेजा को बड़ी पारियां खेलनी होंगी. इन बड़ी पारियों में अगर अय्यर शतक बनाते हैं तो वो 303 भारतीय टेस्ट क्रिकेट में सिर्फ 16वें ऐसे खिलाड़ी होंगे जिन्होंने शतक बनाया है. साथ ही वो सहवाग और रोहित जैसे खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल हो जाएंगे.

No comments