Breaking News

हनुमानजी के ये मंत्र दिलाते हैं बड़ी समस्याओं से मुक्ति

हनुमानजी के ये मंत्र दिलाते हैं बड़ी समस्याओं से मुक्ति

भगवान शिव के 11वें रुद्रावतार हनुमान जी को हिंदू धर्मशास्त्रों में चिरंजीवी माना गया है। वहीं इन्हें कलयुग का देवता भी माना जाता है। मान्यता के अनुसार श्रीराम जी के भक्त हनुमान जी भी भोलेनाथ की तरह ही अत्यंत सरल व सहज हैं और ये अपने भक्तों की पूरी तरह से रक्षा करते हैं।

हनुमान जी को सभी दुखों का नाश करने वाला भी माना जाता है, इसी कारण इनका एक नाम सर्वदु:खहराय भी है। ऐसे में यदि किसी व्यक्ति के जीवन में लगातार बाधाएं आ रही हो तो उसे श्री हनुमान के मंत्रों का जाप समस्या के अनुसार करना चाहिए। वहीं सप्ताह के दिनों में हनुमान जी मंगलवार को कारक देव माने गए हैं, ऐसे में इनकी पूजा मंगलवार को अतिविशेष मानी गई है।

पंडित एके शुक्ला के अनुसार हनुमान संहिता के मुताबिक हनुमानजी के मंत्रों का जाप बड़ी से बड़ी समस्याओं से हमारी रक्षा करता है। ऐसे में कुछ खास मंत्रों का उपयोग हमारी कई दिक्कतों का निराकरण करने में सक्षम माने गए हैं।

भय मिटाने के लिए:- पंडित शुक्ला के अनुसार यदि आप या आपका कोई अपना अंधेरे, भूत-प्रेत से डरते हैं या किसी भी प्रकार का भय रहता है तो ऐसे व्यक्ति को रात में सोने से पहले हाथ-पैर और कान-नाक धोकर 'हं हनुमंते नम:' का पूर्वाभिमुख होकर 108 बार जप करना चाहिए। माना जाता है कि ऐसा करने से कुछ ही दिनों में उस डरने वाले व्यक्ति के अंदर निर्भीकता का संचार होने लगता है।

गृह कलह मिटाने के लिए:- घरों में तकरार या किसी बात को लेकर विवाद होना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन यदि ये ब्रह्द रूप लेकर गृह कलह का कारण बनने लगे तो ऐसे में व्यक्ति को हर मंगलवार और शनिवार के दिन हनुमान मंदिर में जाकर चना औरगुड़ अर्पित करने के साथ ही घर में सुबह व शाम हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए।

इस दौरान ध्यान रखें कि इस पाठ से पहले और बाद में आधे घंटे तक किसी से बात न करें। यह कार्य करते हुए जब 21 दिन पूरे हो जाएं तो हनुमान जी को चोला चढ़ाएं। माना जाता है कि ऐसा करने से हनुमान जी तुरंत ही घर में सुख-शांति प्रदान करते हैं।

शनि ग्रह की परेशानी होने पर:- हनुमान जी को लेकर ये माना जाता है कि जिस किसी पर उनकी कृपा दृष्टि होती है, शनि उस पर कभी अपनी कुदृष्टि तक नहीं डालते हैं।ऐसे में यदि आपकी कुंडली में शनि ग्रह की पीड़ा का योग बना हुआ है तो उससे छुटकारे के लिए हर मंगलवार हनुमान मंदिर में दर्शन करने अवश्य जाए। इसके साथ ही शनिवार को भी सुंदरकांड या हनुमान चालीसा पाठ करें। माना जाता है कि ऐसा करने से व्यक्ति को शनि ग्रह की पीड़ा से मुक्ति मिलती है।

चमत्कारिक शाबर मंत्र:- इन सबके अलावा हनुमान जी के शाबर मंत्र को अत्यंत ही सिद्ध मंत्र माना जाता है। मान्यता के अनुसार इसका प्रयोग करने वाले के मन की बात हनुमान जी तुरंत ही सुन लेते हैं। लेकिन, इसका प्रयोग करते समय कुछ बातों का खास ध्यान रखना होता है, जिसमें सबसे खास ये है कि इसका प्रयोग करने वाला व्यक्ति पवित्र होना चाहिए।

माना जाता है कि यह मंत्र जीवन के सभी संकटों और कष्टों को तुरंत ही चमत्कारिक रूप से समाप्त देता है। इसके अलावा इनकी साधना के नियम, समय, स्थान और मंत्र जाप की संख्‍या और दिन को किसी योग्य पंडित या साधु से जानकर करना चाहिए।

यूं तो हनुमान जी के कई शाबर मंत्र हैं और यह अलग-अलग कार्यों के लिए हैं। इन शाबर मंत्रों में से दो प्रमुख मंत्र इस प्रकार हैं..

साबर अढाईआ मंत्र :- ॥ ॐ नमो आदेश गुरु को, सोने का कड़ा,
तांबे का कड़ा हनुमान वन्गारेय सजे मोंढे आन खड़ा ॥

शाबर मंत्र :-
ॐ नमो बजर का कोठा,
जिस पर पिंड हमारा पेठा।
ईश्वर कुंजी ब्रह्म का ताला,
हमारे आठो आमो का जती हनुमंत रखवाला।

No comments