Breaking News

प्राइमरी कक्षाओं के छात्रों को स्कूल बुलाना है या नहीं, निजी स्कूल खुद ले सकेंगे फैसला

प्राइमरी कक्षाओं के छात्रों को स्कूल बुलाना है या नहीं, निजी स्कूल खुद ले सकेंगे फैसला

अभिभावकों के विरोध के चलते प्रदेश सरकार ने निजी स्कूलों के प्राइमरी कक्षाओं के छात्रों को 15 नवंबर से स्कूल बुलाए जाने के फैसले में बदलाव किया है। अब शिमला के निजी स्कूलों को प्राइमरी कक्षाओं के छात्रों को स्कूल बुलाने का फैसला स्वयं लेने की छूट दे दी गई है। सरकार ने 9 नवंबर के आदेशों में संशोधन करते हुए निजी स्कूल प्रबंधन को एसएमसी-पीटीए से चर्चा कर इस संदर्भ में आगामी फैसला लेने की मंजूरी दी है। इस संबंध में शनिवार को उच्च शिक्षा निदेशालय की और से उपायुक्त शिमला, सभी जिला उपनिदेशकों और निजी स्कूलों के प्रिंसिपलों को नोटिफिकेशन जारी कर दी गई है।

प्रदेश के शीतकालीन सत्र वाले सीबीएसई और आईसीएसई के निजी स्कूलों के लिए सरकार ने ये फैसला लिया है। हालांकि प्राइमरी कक्षाओं के छात्रों को स्कूल न बुलाने की स्थीति में ऑनलाइन कक्षाएं पहले की तरह नियमित तौर पर लगाने के आदेश जारी किए हैं। वहीं, स्कूल ऑनलाइन कक्षाएं और परीक्षा करवाने के लिए मना नहीं कर सकेंगे। न ही स्कूल बच्चों को स्कूल बुलाने के लिए बाध्य कर पाएंगे।

हालांकि सरकार ने सरकारी स्कूलों के लिए 9 नवंबर को जारी आदेशों को बरकरार रखा है। प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों और हिमाचल प्रदेश शिक्षा बोर्ड से संबंधित निजी स्कूलों के छात्रों की सोमवार से नियमित कक्षाएं लगेंगी। पहली से 12वीं कत्क्षा तक के छात्र सोमवार से स्कूल आएंगे। इस दौरान स्कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रहेगी।

गौरतलब है कि सरकार ने 8वीं से 12वीं कक्षाओं के छात्रों के लिए स्कूल पहले ही खोल दिए हैं। वहीं, 11 नवंबर से तीसरी कक्षा से 7वीं कक्षाओं के छात्रों के लिए भी स्कूल खोल दिए गए हैं। जबकि 15 नवंबर से पहली और दूसरी कक्षाओं के छात्र भी स्कूल आ सकेंगे।

No comments