Breaking News

हिमाचल: कई वर्षों से जंगल के गुफा में अकेली रह रही थी 58 वर्षीय महिला, दिवाली के दिन जिंदगी में आई रोशनी

हिमाचल: वर्षों से जंगल के गुफा में अकेली रह रही थी 58 वर्षीय महिला, दिवाली के दिन जिंदगी में आई रोशनी

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले से एक हैरान करने वाली खबर सामने आई है। यहां एक महिला 35 वर्षों से गुफा में रह रही थी। इस वर्ष दिवाली के दिन उसके घर रौशनी पहुंची है।
 
बंगाली मजदूर से की थी शादी: मिली जानकारी के अनुसार कुल्लू के आनी खंड की पलेही पंचायत के तांदी गांव के साथ कुटल नामक स्थान पर रहने वाली 58 वर्षीय बिंदरू देवी ने यहां मजदूरी करने वाले बंगाली व्यक्ति से शादी की थी। महिला की दो बेटियां हैं, जिनकी शादी हो चुकी है। पति का पांच वर्ष पूर्व निधन हो गया।

महिला ने नाम न कोई जमीन है और न ही कोई संपत्ति। पति के नाम एक जमीन का टुकड़ा था जो जानकारी के अभाव में उसके नाम नहीं हो सका। जिस कारण महिला वर्षों से जंगली जानवरों के खौफ के बीच गुफा में अकेली जीवन बसर करने को विवश थी।
 
जनप्रतिनिधियों ने पहुंचाई मदद: 
दिवाली के दिन जिला परिषद सदस्य पंकज परमार महिला के घर पहुंचे और गुफा में सोलर लाइट लगवाई। वहीं, पलेही पंचायत की प्रधान सुषमा मेहता ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान बनाने के लिए सर्वे में डाला दिया है। स्वीकृति मिलते ही मकान बनाकर देने का वादा किया है।

जनप्रतिनिधियों ने महिला को हरसंभव मदद करने और हर जरूर कागजात तैयार करवा कर देने का भरोसा दिलाया है। महिला ने एक गाय पाल रखी है, जिसके सहारे वह अपना जीवन बसर कर रही है।

No comments