Breaking News

अगर रात को सोने से पहले करते हैं इस चौपाई का पाठ, तो होगी हर मनोकामना पूरी


मित्रों कितना ही घोर अंधेरा हो या फिर घोर संकट, सच्चे मन से जब श्रीराम का नाम लिया जाता है संकटों के बाद अपने आप ही छठ जाते हैं। ऐसे तो वाल्मीकि रामायण की हर एक चौपाई अपने में विशेष है किंतु आज हम आपको एक ऐसी शक्तिशाली चौपाई के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका पाठ करने से पल भर में संकट समाप्त हो जाता है।

पाठ करने से पहले इस बात का रखें ध्यान जब आप इस चौपाई का जाप करने जा रहे हो तब इस बात का ध्यान रखें कि वह स्थान पूरी तरह से स्वच्छ हो। अपने मन को सकारात्मक भाव के साथ शुद्ध रखें। अपने मन में किसी के भी प्रति आदेश ईर्ष्या द्वेष और कपट जैसी भावनाओं को ना उत्पन्न होने दें। क्योंकि अगर आपका अंतर्मन ही शुद्ध नहीं होगा तो चौपाई का लाभ कैसे मिलेगा।

जो प्रभु दीनदयाला कहावा। आरति हरन बेद जस गाबा।।
जपहिं नामु जन आरत भारी। मिटहिं कुसंकट होहिं सुखारी।।
दीनदयाल बिरद संभारी। हरहु नाथ मम संकट भारी।।

इस चौपाई का रोज सोने से पूर्व जाप करने से व्यक्ति के अंदर भगवान के प्रति श्रद्धा और सकारात्मक उर्जा का संचार होता है। इसके साथ ही आसपास की नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाती है।

No comments