Breaking News

कंगाल कर देंगी वॉट्सऐप, फेसबुक और इंस्टा की ये साइट, आ गया सबसे बड़ा अलर्ट

साइबर क्रिमिनल वॉट्सऐप यूजर्स की लॉगइन डिटेल्स में अंधाधुंध सेंधमारी कर रहे हैं। ऐसे में अब वॉट्सऐप यूजर्स को चेतावनी दी गई है कि वे वॉट्सऐप, फेसबुक, इंस्टाग्राम, फेसबुक मैसेंजर जैसी हूबहू दिखने की नकल करने वाली फिशिंग वेबसाइटों पर अपनी पर्सनल लॉगइन डिटेल, पासवर्ड और यहां तक ​​​​कि ईमेल आईडी शेयर न करें।
वॉट्सऐप यूजर्स को पता होना चाहिए कि उन्हें आसानी से ठगा जा सकता है क्योंकि ये फिशिंग वेबसाइट बिल्कुल वॉट्सऐप की ओरिजनल वेबसाइट की तरह दिखती हैं।

मेटा ने उपयोगकर्ताओं को चेतावनी दी है कि साइबर अपराधियों उनके वॉट्सऐप अकाउंट्स तक पहुंच प्राप्त करने की कोशिश कर रहे हैं। सभी यूजर्स को इस खतरे के बारे में पता होना चाहिए। मेटा के स्वामित्व वाली फर्म ने शेयर किया है कि 39,000 से अधिक वेबसाइटों को नकली लॉगिन पेजों के माध्यम से यूजर डिटेल चुराने का प्रयास करते हुए खोजा गया है। न केवल वॉट्सऐप बल्कि मेटा के स्वामित्व वाली अन्य सोशल मीडिया साइट्स जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम और फेसबुक मैसेंजर भी इस घोटाले में फंस गए हैं।

भोले-भाले यूजर्स बन जाते हैं शिकार
नया फिशिंग स्कैम, जो वॉट्सऐप उपयोगकर्ताओं को प्रभावित कर रहा है, साइबर अपराधियों द्वारा पीड़ितों को ऐसी वेबसाइटों का लालच देकर संचालित किया जाता है, जो कंपनियों, बैंकों और अन्य की ओरिजनल वेबसाइट प्रतीत होती हैं, लेकिन, यह सब फेक है। इन फेक साइट्स के कंटेंट को उपयोगकर्ताओं को पासवर्ड या ईमेल एड्रेस जैसी संवेदनशील जानकारी दर्ज करने के लिए राजी करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। तो आप पाएंगे कि यदि आप किसी अजीब लिंक पर क्लिक करते हैं, तो यह आपको एक नकली वॉट्सऐप, फेसबुक, इंस्टाग्राम पेज पर ले जाएगा। भोले-भाले उपयोगकर्ता जो नहीं जानते कि क्या हो रहा है, वे अपना लॉगिन और पासवर्ड शेयर करते हैं और अंत में अपना पैसा खो देते हैं।
39,000 से अधिक फिशिंग वेबसाइट बनाई गईं
मेटा ने कहा है कि फेसबुक, मैसेंजर, इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप के लॉगिन पेजों की नकल करके 39,000 से अधिक फिशिंग वेबसाइटें बनाई गई हैं। ये वेबसाइटें उपयोगकर्ताओं को अपने यूजरनेम और पासवर्ड दर्ज करने के लिए प्रेरित करती हैं। फिर वे इंटरनेट ट्रैफ़िक को फिशिंग वेबसाइटों पर इस तरह रीडायरेक्ट करने के लिए एक रिले सर्विस का उपयोग करते हैं जिससे उनके हमले के बुनियादी ढांचे को अस्पष्ट किया जा सके।

अपराधियों के खिलाफ मेटा ने मुकदमा दायर किया
इन डेटा-चोरी करने वाली वेबसाइटों से निपटने और उपयोगकर्ताओं को इस तरह के घोटालों का शिकार होने से रोकने के लिए, मेटा ने साइबर चोरों के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। अपने एक ब्लॉग पोस्ट में, फेसबुक ने कहा, "आज, हमने कैलिफोर्निया की अदालत में एक संघीय मुकदमा दायर किया है ताकि लोगों को धोखा देने के लिए फेसबुक, मैसेंजर, इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप के लिए फर्जी लॉगिन पेजों पर अपने लॉगिन क्रेडेंशियल शेयर करने के लिए डिज़ाइन किए गए फिशिंग हमलों को रोका किया जा सके।"

फेसबुक के अनुसार, यह मुकदमा उपयोगकर्ताओं की रक्षा करेगा और उन लोगों को एक स्पष्ट संदेश भेजेगा जो प्लेटफॉर्म का दुरुपयोग करने की कोशिश करते हैं और प्रौद्योगिकी का दुरुपयोग करने वालों की जवाबदेही बढ़ाते है

गलती से भी ना करें ये काम- मेटा
मेटा ने उपयोगकर्ताओं को चेतावनी दी है कि अगर उन्हें कोई ईमेल, टेक्स्ट या वॉट्सऐप मैसेज मिलता है, जो उन्हें किसी वेबसाइट के माध्यम से अपने किसी भी फेसबुक-स्वामित्व वाले अकाउंट में लॉगिन करने के लिए कहता है, तो कोई डिटेल दर्ज न करें। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने फेसबुक, वॉट्सऐप या इंस्टाग्राम से होने का दावा करने वाले किसी भी लिंक या अटैचमेंट, ईमेल या मैसेज पर क्लिक नहीं करने के लिए भी कहा है।

वेबसाइट फेक है या नहीं कैसे पता करें
विशेष रूप से, उपयोगकर्ताओं को यूआरएल की जांच करनी चाहिए। फेसबुक के सभी ईमेल fb.com, facebook.com या facebookmail.com से आते हैं और कोई भी हमेशा www.facebook.com पर जा सकता है या फर्म से महत्वपूर्ण मैसेज की जांच के लिए अपना फेसबुक ऐप खोल सकता है।

No comments