Breaking News

दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम के शतक हुए गायब! घर में भी रन बनाने को तरस रहे बल्लेबाज

दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम अभी तीन टेस्ट की सीरीज में भारत का सामना कर रही है.
सीरीज में उसने 1-1 से बराबरी कर रखी है. दक्षिण अफ्रीका की बॉलिंग कमाल कर रही है लेकिन बैटिंग उसे निराश कर रही है. टीम के साथ सबसे बड़ी समस्या बल्लेबाजों का शतक नहीं बना पाना है. जून 2021 में क्विंटन डिकॉक ने उसके लिए टेस्ट में शतक लगाया था. डिकॉक से पहले फरवरी 2021 में एडन मार्करम ने रावलपिंडी टेस्ट में शतक लगाया है. इस तरह लगभग एक साल में केवल दो टेस्ट शतक दक्षिण अफ्रीका की तरफ से लगे हैं. इस दौरान उसकी तरफ से दक्षिण अफ्रीका की तरफ से 76 बार बैटिंग हुई है.

वहीं भारत ने इस अवधि में आठ शतक लगाए हैं. हालांकि एक वजह यह हो सकती है कि फरवरी 2021 से अभी तक भारत ने 14 टेस्ट खेले हैं तो दक्षिण अफ्रीका ने केवल छह टेस्ट खेले. लेकिन बाकी टीमों को देखने पर पता चलता है कि प्रोटीयाज टीम पीछे हैं. श्रीलंका ने इसी अवधि में छह टेस्ट ही खेले हैं और उसकी तरफ से सात शतक लग चुके हैं. वहीं जिम्बाब्वे, ऑस्ट्रेलिया और अफगानिस्तान ने तो दक्षिण अफ्रीका से भी कम टेस्ट खेले हैं. लेकिन उनके टेस्ट शतक क्रमश: दो, चार और दो हैं.

दक्षिण अफ्रीका ने अपने छह में से तीन टेस्ट घरेलू जमीन पर खेले हैं. फिर भी उसके बल्लेबाज शतक नहीं लगा पा रहे हैं. उसकी तरफ से जो दो टेस्ट लगे हैं वे सभी विदेश में लगे हैं. मार्करम ने पाकिस्तान तो डिकॉक ने वेस्ट इंडीज में शतक लगाया था. भारत के साथ वर्तमान सीरीज में अभी तक प्रोटीयाज टीम शतक नहीं लगा पाई है. उसकी ओर से सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर नाबाद 96 रन का रहा है जो डीन एल्गर ने बनाया था. वहीं भारत एक शतक लगा चुका है. पहले टेस्ट में केएल राहुल ने यह कमाल किया था.

दक्षिण अफ्रीका का टॉप ऑर्डर लगातार नाकाम हो रहा है. इस बात का पता इस आंकड़े से चलता है कि नंबर तीन पर बैटिंग करने वाले कीगन पीटरसन को चार टेस्ट मैच के अपने करियर में तीन बार पहले और दो बार दूसरे ही ओवर में बैटिंग के लिए उतरना पड़ा है. अभी तक सबसे लेट वे भारत के खिलाफ जोहानिसबर्ग टेस्ट में बैटिंग के लिए उतरे थे तब 11वें ओवर में उनकी बैटिंग आई.

दक्षिण अफ्रीका ने जब टेस्ट क्रिकेट में कदम रखा था तब 157 बल्लेबाजों के खेलने बाद पहली बार शतक बना था. जिम्मी सिंक्लेयर ने इंग्लैंड के खिलाफ 106 रन बनाकर यह सूखा खत्म किया था. इसके बाद भी शतकों का सूखा दिखा है. लेकिन दूसरे नंबर जो अवधि आती है वह काफी ताजा है. फाफ डु प्लेसी ने दिसंबर 2020 में शतक लगाकर 151 व्यक्तिगत पारियों से चले आ रहे शतकों के अकाल को खत्म किया था.

No comments