Breaking News

सफेद बालों को काला करने की 5 होम्योपैथिक दवा

सफेद बालों को काला करने की 5 होम्योपैथिक दवा

सफेद बालों को काला करने की होम्योपैथिक दवा – आज के समय में कई लोगों के बाल असमय सफ़ेद हो रहे हैं. इसकी वजह से जवानी में ही वे बूढ़े दिखने लगते हैं. आपको बता दें कि किसी जमाने में बाल सफ़ेद होना अधिक उम्र और अनुभव की पहचान हुआ करती थी. पके हुए बाल वाले पुरुषों पर लोग कहा करते थे कि ये बहुत अनुभवी इन्सान होंगे. लेकिन आज के समय मे 25 से 30 साल की उम्र में ही बाल सफेद होने लगते हैं जो एक बहुत बड़ी समस्या है.

असमय बाल सफ़ेद होने के पीछे कई कारण है. बदलता दूषित वातावरण, अनियमित खानपान और अनियमित दिनचर्या कम उम्र मे ही बाल सफेद होने के प्रमुख कारणों में से एक है. आज के इस पोस्ट में सफेद बालों को काला करने की होम्योपैथिक दवा के बारे में बताने वाले हैं. इन दवाओं के प्रयोग से आप सफ़ेद बालो को फिर से काले कर सकते है.

आपको बता दें कि कम उम्र में सफेद बालों को काला करने के लिए होम्योपैथिक दवा का प्रयोग पूर्ण रूप से सुरक्षित है और ना ही होम्योपैथिक दवा के प्रयोग से शरीर पर अन्य कोई दुष्प्रभाव होता है. सफ़ेद बाल को काला करने के लिए आप डॉक्टर के परामर्श से होम्योपैथी दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं. तो चलिए आज के इस पोस्ट में सफ़ेद बालों से संबंधित और भी कई चीजें जानते हैं…
बाल सफ़ेद होने कारण

कम उम्र में लोगों के बालों का सफ़ेद होना एक आम समस्या है. वैंसे तो बालों का सफेद होना एक प्राकृतिक बात है लेकिन आजकल बिना समय के ही बाल सफेद हो जाते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि बाल सफेद क्यों होते हैं? बाल सफेद होने का क्या कारण हैं? कौन सी विटामिन की कमी से बाल सफेद होते हैं? अगर नहीं जानते हैं तो आपको बता दें कि बाल सफ़ेद होने के पीछे निम्न कारण होते हैं…
आनुवंशिक
प्रोटीन की कमी
अत्यधिक तनाव
बैलेंस्ड डाइट की कमी
थायरायड की समस्या
विटामिन बी 12 की कमी
धुम्रपान
सफेद बालों को काला करने की होम्योपैथिक दवा

यदि आपके बाल सफ़ेद हो रहे हैं तो आपके मन भी सफेद बालों से छुटकारा कैंसे पाएं? जैसे सवाल आ रहे होंगे. सफ़ेद बालों को काला करने के घरेलू उपाय आदि के बारे में जानना चाहते होंगे. आपको घबराने की कोई जरुरत नहीं हैं. आज के इस पोस्ट में हम आप लोगों को सफेद बालों की होम्योपैथिक दवा के बारे में बताएँगे जो बाल काले करने के लिए सबसे बढियां दवा और उपाय है. तो चलिए जानते हैं…
लाइकोपोडियम

बालों के लिए लाइकोपोडियम एक विशेष होम्योपैथिक दवा है. यह दवा पके हुए बालों को सही करने के साथ ही बालों को मजबूती भी देती है और विशेष रुप से कम उम्र में होने वाले सफेद बालों को से छुटकारा दिलाती है. डॉक्टर के परामर्श अनुसार आप इस दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं.
नेट्रम म्यूर

यदि आपको किसी रोग के कारण कम उम्र में ही बाल सफेद हो गए है तो नेट्रम म्यूर होम्योपैथिक दवा का प्रयोग करने से फायदा होता है. रोगी के शरीर में नमक की अधिक मात्रा होने से शरीर में पोषण संबंधित समस्या आती है और बाल सफेद हो जाते है. आपको बता दें कि अगर रोगी के खून में नमक के कारण परिवर्तन आया हो तो इस होम्योपैथिक दवा का उपयोग फायदेमंद होता है और सफेद बाल काले हो जाते है.
थाइरायडीन

यह दवा बुढ़ापे के कारण सफ़ेद हुए बालों के लिए फायदेमंद है. अगर बुढ़ापे के कारण रोगी के बाल सफेद हो गए है या अन्य कोई रोग बालों से जुड़ा है तो थाइरायडीन 30 होम्योपैथिक दवा और उसके बाद थाइरायडीन 200 का प्रयोग सप्ताह में एक बार देने की सलाह दी जाती है. एक से दो महीने तक लगातार इस दवा के सेवन से सफ़ेद बाल काले हो जाते हैं.
जाबोरण्डी

जाबोरण्डी सफेद बालों को काला करने के लिए यह एक बहुत ही बेहतर होम्योपैथिक दवा है. यदि आपके बाल सफ़ेद हो गये हों तो इस दवा से बालों पर मालिश करने से जल्द ही बाल काले होने लगते हैं. इस दवा को आप अपने नजदीकी किसी भी मेडिकल होम्योपैथिक स्टोर से प्राप्त कर सकते हैं.
एसिड फास्फोरिकम 200

अगर आप भी बाल काले करने की होम्योपैथिक दवा के बारे में जानना चाहते हैं तो यह दवा आपके लिए बेस्ट हो सकता है. इस होम्योपैथिक दवा के इस्तेमाल से सफ़ेद बाल काले हो जाते हैं. चिकित्सक के परामर्श अनुसार इस दवा का सेवन कर सकते हैं. यह दवा सफेद बालों को काला करने के लिए काफी अच्छी मानी गई है.

नोट- आज का पोस्ट सफेद बालों को काला करने की होम्योपैथिक दवा केवल सामान्य जानकारी के लिए है. यह कोई चिकित्सा परामर्श नहीं हैं. अपने रोग और विकारों के इलाज के लिए डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें.

No comments