Breaking News

चावल खाने के शौकीन लोगों के लिए शानदार खबर, डायटिंग के दौरान भी इस विधि से जमकर खा सकते हैं राइस

चावल खाने के शौकीन लोगों के लिए शानदार खबर, डायटिंग के दौरान भी इस विधि से जमकर खा सकते हैं राइस

जो भी लोग डायट फॉलो करते हैं, वे आमतौर पर सबसे पहले चावल खाना कम या बंद करते हैं. क्योंकि माना जाता है कि चावल खाने से वजन बढ़ता है. ऐसे में चावल के शौकीन लोगों के लिए डाइट प्लान फॉलो करना मुश्किल हो जाता है. हालांकि अब इन्हें किसी मुश्किल का सामना नहीं करना पड़ेगा. क्योंकि एक ताजा रिसर्च में यह बात सामने आई है कि खास विधि से बनाकर फ्रिज में ठंडा करके यदि चावलों का सेवन किया जाए तो इनकी कैलरी 60 प्रतिशत तक कम हो जाती है.

हेल्थ एक्सपर्ट्स और डायटीशियन मानते हैं कि चावल शरीर के अंदर जाकर ग्लाइकोजन में बदल जाते हैं और कुछ समय बाद यह ग्लाइकोजन ग्लूकोज में बदल जाता है, जो शरीर के अंदर बसा के रूप में एकत्र होने लगता है, इसी कारण फैट बढ़ने की समस्या होती है. हालांकि यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ कैलिफोर्निया (USC) में हुए एक शोध के अनुसार, चावल पकाते समय और पकाने के बाद एक खास स्टेप का पालन किया जाए तो चावल से मिलने वाली कैलरी कई गुना तक कम हो जाती है.

शोधकर्ताओं ने सुझाई चावल खाने के विधि
यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ कैलिफोर्निया के शोधकर्ताओं के अनुसार, चावल में कैलोरी कम करने का प्रभावी उपाय यह है कि आप चावल को कूकर में बनाने की जगह इसे खुले बर्तन में बनाएं.

चावल पकाने के लिए जब पानी उबालें तो उबलते पानी में एक चम्मच नारियल का तेल मिलाएं और फिर इस पानी में चावल डालकर करीब 25 मिनट तक पकाएं।
 
जब चावल पक जाएं तो इनका अतिरिक्त पानी निकाल दें और इन्हें 12 घंटे के लिए फ्रिज में ठंडा करें। शोध से जुड़े विशेषज्ञों का कहना है कि पके हुए चावलों को इस विधि से ठंडा करना जरूरी हैं क्योंकि बताई गई विधि से पके हुए चावलों को जब फ्रिज में ठंडा किया जाता है तो चावलों में पाए जाने वाले स्टार्च का घुलनशील हिस्सा एमाइलोज, जिलेटिनाइजेशन की प्रक्रिया के दौरान टूट जाता है. इससे चावलों में स्टार्च की मात्रा कम होती है और पानी की मात्रा बढ़ जाती है.

जिलेटिनाइजेशन एक रासायनिक प्रक्रिया है, जिसके दौरान स्टार्च के अंदरूनी मॉलेक्यूलर बॉन्ड पानी और आंच (Heat) की उपस्थिति में टूट जाते हैं. इससे हाइड्रोजन के नए बॉन्ड बनते हैं, जिससे भोजन में पानी की मात्रा में बढ़ोतरी होती है.

वजन कम करने में कैसे प्रभावी?

अब सवाल यह उठता है कि आखिर चावल बनाने की यह विधि वजन कम करने में कैसे काम करती है. इस बारे में शोधकर्ताओं का कहना है कि बताई गई विधि से चावल को बनाने के बाद ठंडा जरूर करें. क्योंकि चावल में पाया जाने वाला स्टार्च पचने योग्य या अपचनीय दोनों तरह का हो सकता है. चावल को पकाने और ठंडा करने की विधि के दौरान जब पचने वाला स्टार्च रेसिस्टेंट स्टार्च में बदल जाता है तो वजन बढ़ने की प्रक्रिया से बचा जा सकता है। क्योंकि इससे कैलोरी काउंट को कम हो सकता है.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

No comments