Breaking News

महाशिवरात्रि 2022: कर्ज मुक्ति के लिए भगवान शिव का इस तरह करें अभिषेक, भोलेनाथ होंगे प्रसन्न

महाशिवरात्रि 2022: कर्ज मुक्ति के लिए भगवान शिव का इस तरह करें अभिषेक, भोलेनाथ होंगे प्रसन्न

इस वर्ष भगवान शिव की उपासना का पर्व महाशिवरात्रि (Mahashivratri 2022) आज 1 मार्च को मनाया जाएगा. इस दौरान शिव भक्त भोले बाबा की भक्ति में लीन नजर आते हैं और चारों तरफ भगवान के जयकारे सुनाई देते हैं. महाशिवरात्रि की पूजा आराधना का फल प्रदोषकाल में ही श्रेष्ठ माना गया है. वैसे हर महीने कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को शिवरात्रि मनाई जाती है. लेकिन साल में सिर्फ एक बार महाशिवरात्रि मनाई जाती है जो फाल्गुन माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को आती है. शिवभक्त भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए अलग-अलग उपाय करते हैं और महाशिवरात्रि के दिन उपवास करते हैं. महाशिवरात्रि पर मनोकामना के अनुसार भगवान शिव का अभिषेक भी किया जाता है. तो चलिए जानते हैं कि मनोकामना के हिसाब से भगवान शिव को कैसे प्रसन्न किया जाए.

मनोकामना के अनुसार भगवान शिव को करें प्रसन्न

महाशिवरात्रि के दिन भगवान प्रसन्न करने और मनचाहा वरदान पाने के लिए शिवलिंग पर कच्चा दूध अर्पित करें. ऐसी मान्यता है कि कच्चा दूध अर्पित करने से आरोग्य की प्राप्ति होती है और संतान सुख मिलता है.

जीवन के कष्टों व दुःखों को दूर करने के लिए इस पावन दिन पर किसी पवित्र नदी के जल से भगवान शिव का अभिषेक करें और “ॐ नम: शिवाय” मंत्र का जाप करें.
लंबी आयु और धन में वृद्धि के लिए भगवान शिव का शुद्ध गाय के घी से अभिषेक करें. ऐसा करने से भोलेनाथ प्रसन्न होकर आशीर्वाद देंगे और मनोकामनाओं को पूरा करेंगे.

ग्रह दोष और शत्रु की बाधा दूर करने के लिए सरसों के तेल से भगवान शिव का अभिषेक करें. इससे शत्रुओं का नाश होगा और मानसिक शांत मिलेगी.

अगर भगवान शिव की कृपा पाना चाहते हैं तो उनका चंदन से अभिषेक जरूर करें. इससे सौभाग्य जगता है और समाज में मान सम्मान की प्राप्ति होती है. इसके अलावा भगवान शिव की कृपा से बिगड़े काम सुधरने लगते हैं.

बुरे कर्मों से मुक्ति पाने के लिए महाशिवरात्रि के दिन पूरे भक्तिभाव के साथ शिवलिंग पर शहद से अभिषेक करें. इससे कर्ज से मुक्ति मिलेगी और पाप धुलेंगे. इसके साथ ही परिजनों के साथ प्यार बना रहेगा.

मान्यता है कि महाशिवरात्रि की रात को शिव का दही से अभिषेक करना चाहिए. इससे जीवन से जुड़ी परेशानियों से मुक्ति मिल जाती है और वाहन सुख प्राप्त होता है.

No comments