Breaking News

Ias परीक्षा में मिलेगी सफलता, अगर आप करते हैं ऐसे तैयारी तो जरूर बनेंगे Officer

Ias परीक्षा में मिलेगी सफलता, अगर आप करते हैं ऐसे तैयारी तो जरूर बनेंगे Officer

IAS Preparation Tips:

UPSC Preparation: सपनों को हकीकत में बदलने के लिए बड़ी कीमत चुकानी पड़ती है। ऐसा ही एक सपना देश में लाखों युवाओं का जिसके लिए उन्हें अपनी जिंदगी के कुछ साल दिन-रात देना पड़ता है उसके बाद वह आईएएस की परीक्षा में सफल हो पाते हैं।

हमारे देश का हर दूसरा युवा आईएएस (IAS) बनने की इच्छा रखता है, लेकिन ऐसा हो नहीं पाता। दरअसल, यूपीएससी की परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में शुमार है। अगर इस परीक्षा की तैयारी करते हुए जरा सी प्लानिंग इधर से उधर हुई तो अभ्यर्थी (Applicant) का सपना सच नहीं हो पाता है।


यदि पूरी प्लानिंग (Planning) के साथ तैयारी की जाए तो सफलता (Success) आपके हाथ जरूर लगेगी। अक्सर अभ्यर्थी पहले प्रयास में फेल हो जाने के बाद हार मान लेते हैं, लेकिन उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए। अभ्यर्थी को एक बार फिर अपनी प्लानिंग को देखना चाहिए और उससे कहां चुक हुई है, उसे ठीक कर के दोबारा प्रयास करना चाहिए।

यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों की उम्र 21 वर्ष से 32 वर्ष के मध्य होती है। वहीं, पिछड़े वर्ग के अभ्यर्थियों को इसमें छूट प्रदान की जाती है, 21 वर्ष से 35 वर्ष तक के अभ्यर्थी इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

इस प्रकार करें शुरुआत
सबसे पहले परीक्षा की पूरी जानकारी होना आवश्यक है। परीक्षा के सिलेबस (Syllabus) को समझें। फिर उसी के अनुसार रणनीति बनाएं और अध्ययन की सामग्री को एकत्र करें। मन लगाकर पढ़ाई करें। पढ़ाई के साथ ही साथ लेखन करना भी जरूरी है। अधिक से अधिक मोक टेस्ट दें। अखबार व मैगजीन जरूर पढ़ें।

रोज कैसे पढ़ें जानें
तैयारी की शुरुआत से ही सिलेबस पर नजर बनाकर रखें। किताबों के साथ ही साथ सिलेबस को भी पूरा करते चलें। दिन में सभी विषयों (Subjects) के लिए समय निर्धारित करें। साथ ही उसी हिसाब से टॉपिक्स (Topics) को कवर करें। प्रत्येक दिन एक घंटे अखबार जरूर पढ़ें। सिविल सर्विस के लिए करंट अफेयर्स की जानकारी बहुत आवश्यक होती है। प्रयास करें की एक दिन की भी पढ़ाई मिस न हो।

रिवीजन है बहुत जरूरी
परीक्षा के लिए पढ़ाई के साथ-साथ रिवीजन (Revision) खासा जरूरी है। जिन टॉपिक्स को पूरा किया है, दूसरे दिन उसका रिवीजन जरूर करें। साथ ही साथ नोट्स बनाते चलें।

चेकलिस्ट तैयार करें
सिलेबस का चेकलिस्ट (Checklist) तैयार करें। जो भी टॉपिक पूरा कर लें उसे लिस्ट पर मार्क करें। सिलेबस को आप अपनी चेकलिस्ट के अनुसार हल करते रहें। ध्यान रहे कि कोई भी विषय आप से छूट न जाए।

पुराने पेपर का अभ्यास
पिछले वर्ष के पेपर को देखने से आपको समझ आ जाएगा कि किसी विषय को ज्यादा समय देना और किस को कम। पेपर पैटर्न को समझने के लिए पिछले दस साल के पेपर को हल करने की कोशिश करें। जिससे आपका टाइम मैनेटमेंट (Time Management) बेहतर हो जाएगा।

No comments