Breaking News

मुंह की दुर्गंध से बचना है तो इन चीजों से बना लें दूरी, ऐसे पाएं सांसों में ताजगी

मुंह की दुर्गंध से बचना है तो इन चीजों से बना लें दूरी, ऐसे पाएं सांसों में ताजगी

सांसों की दुर्गंध एक ऐसी समस्या है जो पर्सनल हाइजीन से जुड़ी हुई है. इससे सेहत से सबंधी कई तरह की दिक्कतों का सामना भी करना पड़ता है. खानपान का असर भी सासों की बदबू से जुड़ा होता है. मेडिकल भाषा में सांसों की दुर्गंध को 'हैलिटोसिस' कहा जाता है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, सांसों की ताजी खुशबू डेंटल हाइजीन से जुड़ी हुई है. इसके लिए ये जानना भी जरूरी है कि किस तरह के फूड आइटम्स सांसो की दुर्गंध बढ़ाने का काम करते हैं.

सांसो की दुर्गंध बढ़ाने वाले फूड आइटम्स-

1.सांसो की दुर्गंध बढ़ाने वाली चीजों में सबसे पहले प्याज और लहसुन आते हैं. इनमें सल्फर की मात्रा अधिक होती है इसलिए इसे खाने के तुरंत बाद ही इसका असर दिखाई देने लगता है. सल्फर हमारे खून में अवशोषित हो जाता है और सांस छोड़ने पर ये बाहर निकलता है, जिससे सांसों की दुर्गंध आती है.

2.अगला फूड आइटम चीज़ है. इसमें अमीनो एसिड होते हैं जो मुंह में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले बैक्टीरिया के साथ मिलकर सल्फर कंपाउंड बनाते हैं. इनके रिएक्शन से हाइड्रोजन सल्फाइड भी बनता है, जिसे एक बहुत खराब दुर्गंध के लिए जाना जाता है.


3.कॉफी और अल्कोहल जैसे ड्रिंक्स से भी दूरी बनाने की जरूरत है. ये दोनों चीजें मुंह को डिहाइड्रेट करती हैं और इससे दुर्गंध वाले बैक्टीरिया पनपते हैं. शराब हमारे खून लंबे समय तक रहता है, इसलिए इसका प्रभाव भी लंबे समय तक बना रहता है.

4.चीनी की ज्यादा मात्रा भी सांसों की बदबू बढ़ाने का काम करती है. ये मुंह में कैंडिडा यीस्ट का स्तर बढ़ाती है. शुगर की इस ज्यादा मात्रा को एक सफेद जीभ से पहचाना जा सकता है. ये इस बात का संकेत है कि आपको अपनी डाइट और डेंटल हैबिट्स पर ध्यान देने की जरूरत है.

सांसों की दुर्गंध दूर करने वाली चीजें-

1.सांसों की दुर्गंध दूर करने वाली पहली चीज है ग्रीन टी. ये एंटीऑक्सिडेंट देता है और इसमें नेचुरल कंपाउंड्स होते हैं जो सांसों की बदबू से लड़ते हैं. ये हाइड्रेशन के स्तर को भी अच्छा रखते हैं, जिससे सांसों की दुर्गंध दूर होती है.

2.पुदीने की पत्तियों से भी ताजी सांस आती है. इसमें पाए जाने वाले नेचुरल केमिकल सांसों की बदबू के इलाज के रूप में काम करते हैं. इसे आप आसानी से सलाद, पराठे में डालकर या फिर जूस बनाकर भी पी सकते हैं.


3.लौंग में भी नेचुरल इंग्रीडिएंट्स होते हैं जो एंटीबैक्टीरियल की तरह काम करते हैं. ताजी सांस के लिए खाना खाने के तुरंत बाद लौंग चबाएं या फिर आप इसकी चाय बनाकर भी पी सकते हैं.

4.इसके अलावा अपने रूटीन में अच्छी डेंटल हाइजीन शामिल करें. दिन में 2 बार ब्रश करें, माउथवॉश से कुल्ला करें और समय-समय पर फ्लॉसिंग करें. कभी-कभी सांसों की दुर्गंध कैविटी, मसूड़ों की बीमारी या फिर किसी अंदरूनी बीमारी से भी जुड़ा हो सकता है. ऐसे में जरूरत पड़ने पर डॉक्टर से भी संपर्क करें.


No comments