Breaking News

चंद मिनटों में साफ हो जाएगी छत पर रखी पानी की टंकी, इन आसान टिप्स को करें फॉलो

चंद मिनटों में साफ हो जाएगी छत पर रखी पानी की टंकी, इन आसान टिप्स को करें फॉलो

Water Tank Cleaning Tips in Hindi: घर की साफ सफाई कई तरह से की जाती है, कुछ लोग रोजाना सफाई करते हैं तो कुछ हफ्ते में छुट्टी वाले दिन पूरे घर को साफ कर देते हैं। लेकिन लिविंग रूम, कीचन, बेडरूम और बाथरूम के अलावा घर पर एक ऐसी चीज मौजूद होती है, जिसकी नियमित साफ सफाई करना बेहद जरूरी होता है।

यहाँ हम आपके घर की छत पर रखी पानी की टंकी (Cleaning of water tanks) की बात कर रहे हैं, जो 500 से 1 हजार लीटर की होती हैं। इस टंकी में रोजाना पानी भरा जाता है, जिसका इस्तेमाल बर्तन और कपड़े धोने समेत नहाने और अन्य कामों को पूरा करने के लिए किया जाता है।

ऐसे में अगर टंकी की नियमित सफाई न की जाए, तो उसमें गंदगी जमने के साथ-साथ कई प्रकार के बैक्टीरिया और वायरल भी पनपनने लगते हैं। इसलिए आज हम आपको पानी की टंकी को साफ करने के कुछ आसान से उपाय (Water Tank Cleaning Tips) बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपना कर आप टंकी की नियमित साफ सफाई कर सकते हैं। Tips to clean water tank

छोटे बच्चों से साफ करवाए टंकी (Water Tank Cleaning Tips)

अगर आप किसी कैमिकल का इस्तेमाल किए बिना टंकी की सफाई करना चाहते हैं, तो इस काम को पूरा करने के लिए आपको छोटे बच्चों की मदद लेनी होगी। इस उपाय के लिए टंकी में बहुत कम पानी होना चाहिए, ताकि टंकी के अंदर बच्चों को उतार जा सके।

इसके बाद बच्चे टंकी के अंदर घुसकर उसमें मौजूद गंदे पानी को बाल्टी या मग की मदद से बाहर निकलते रहेंगे, जिसमें आपको भी उनकी मदद करनी होगी। ऐसे में जब पानी पूरी तरह से खाली हो जाएगा, तो किसी सूखे कपड़े ये पोछे से टंकी को सतह को साफ करना होगा। इस तरह टंकी की सतह पर जमी धूल, मिट्टी और गंदगी कपड़े से साफ हो जाएगी, जिसके बाद बच्चे को बाहर निकाल कर टंकी को दोबारा पानी से भर सकते हैं।

हाइड्रोजन पेरोक्साइड का इस्तेमाल

हाइट्रोजन पेरोक्साइड एक खास प्रकार का कैमिकल होता है, जिसे पानी की टंकी को साफ करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इतना ही नहीं यह कैमिकल पानी के साथ-साथ पाइप लाइन को अंदर से साफ करने का काम करता है, जिसकी वजह से बैक्टीरिया नहीं पनपनते हैं।

इसके लिए आपको टंकी में लगभग 200 लीटर पानी रखना होगा, जिसके बाद उसमें हाइड्रोजन पेरोक्साइड को मिला दीजिए। यह केमिकल पानी के संपर्क में आते ही रिएक्शन शुरू कर देता है, जिसकी वजह से इसे लगभग 15 मिनट तक पानी के साथ अच्छी तरह से घोलना होता है।

इसके बाद टंकी के अंदर बने घोल को कुछ देर के लिए ऐसे ही छोड़ दीजिए, फिर घर के सभी नल चला दें। ऐसा करने से टंकी में मौजूद घोल पाइप के जरिए नल से बाहर निकल जाएगा, जिससे टंकी के साथ-साथ पाइप लाइन की भी सफाई हो जाएगी।

ब्लीचिंग पाउडर से टंकी की सफाई

पानी की टंकी को साफ करने के लिए ब्लीचिंग पाउडर का इस्तेमाल भी बड़े पैमाने पर किया जाता है, जिसकी मदद से टंकी को एक बार में ही पूरी तरह से साफ किया जा सकता है। अगर आपकी टंकी 1 हजार लीटर की है, तो उसे साफ करने के लिए 50 ग्राम ब्लीचिंग पाउडर की जरूरत पड़ेगी।

इस उपाय के लिए टंकी जब थोड़ा-सा पानी बचा हुआ हो, तो उसमें ब्लीचिंग पाउडर मिले दें और फिर टंकी को कुछ देर के लिए ढक कर छोड़ दें। ब्लीचिंग पाउडर के संपर्क में आने से सारी गंदगी टंकी की निचली सतह पर बैठ जाती है, जिसके बाद नल ऑन करने पर सारी गंदगी पानी के साथ बहकर बाहर निकल जाती है।

फिटकरी का इस्तेमाल
घर की छत पर रखी पानी की टंकी को साफ करने के लिए फिटकरी का इस्तेमाल भी किया जा सकता है, जो टंकी की सतह पर जमी मिट्टी की परत को साफ करने में मददगार साबित होती है। इसके लिए एक मग में पानी लेकर उसमें फिटकरी मिला लिजिए और फिर उस तैयार घोल को टंकी के पानी में डाल दें।

फिटकरी का घोल पानी के साथ रिएक्शन करता है, जिसकी वजह से टंकी के आसपास और सतह पर लगी मिट्टी और गंदगी एक झटके में साफ हो जाती है। इसके बाद घर के नल खोल कर उस गंदे पानी को खाली कर दीजिए, जिससे टंकी बिल्कुल साफ हो जाएगी।

एसिड से साफ करें टंकी (Water Tank Cleaning Tips in Hindi)

पानी की टंकी को साफ करने के लिए आप एसिड का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, जो प्लास्टिक की टंकी या पाइप लाइन को नुकसान नहीं पहुँचता है। इसके लिए टंकी में बहुत थोड़ा पानी होना चाहिए, जिसमें एसिड डालकर थोड़ी देर के लिए छोड़ दें। एसिड टंकी में जमी सारी गंदगी को अलग कर देता है, जिसे बाद में नल ऑन करके टंकी से बाहर निकल दीजिए।

इन सभी उपायों (Water Tank Cleaning Tips in Hindi) को आजमा कर आप आसानी से टंकी की सफाई कर सकते हैं, जो आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में अहम योगदान निभाती है। अगर आप टंकी में मौजूद गंदे पानी का सेवन लंबे समय तक करते रहेंगे, तो उसमें मौजूद बैक्टीरिया और वायरस आपको बुरी तरह से बीमार कर सकते हैं।

No comments