Breaking News

दीमक को जड़ से खत्म कर देंगे ये 5 घरेलू उपाय, नहीं होगी कीमती फर्नीचर की बर्बादी

दीमक को जड़ से खत्म कर देंगे ये 5 घरेलू उपाय, नहीं होगी कीमती फर्नीचर की बर्बादी

घर के अंदर साफ सफाई करने के बावजूद भी चूहे, मक्खी, छिपकली और कोकरोच जैसे कीड़े मकौड़े पनपन ही जाते हैं, जो घर के सामान को नुकसान पहुँचाने के साथ खाने-पीने की चीजों को भी दूषित कर देते हैं। इन्हें आप इंसान का छोटा दुश्मन भी कह सकते हैं, जो ताकतवर न होकर भी इंसान को आसानी से हरा देते हैं।

ऐसा ही एक छिपा हुआ दुश्मन है दीमक, जो घर में मौजूद लकड़ी से बनी खिड़की, दरवाजे और फर्नीचर को अंदर ही अंदर पूरी तरह से खोखला कर देती है और इंसान को इस बात की भनक तक नहीं लगती है। ऐसे में अगर आप भी घर के फर्नीचर पर दीमक लगने की समस्या से परेशान हैं, तो हमारे द्वारा बताए गए घरेलू उपायों को आजमाने में बिल्कुल भी देरी मत कीजिएगा। Dimak ko bhagane ka gharelu upay
क्या है दीमक? (What is a termite?)

दीमक को अंग्रेजी में Termite के नाम से जाना जाता है, जिसका साइज एक इंच के बराबर होता है। लेकिन दीमक अपने शारीरिक आकार के मुकाबले कई गुना खतर नाक होती है, जो लकड़ी से बने पूरे के पूरे महल को ढेर कर सकती है।


दरअसल दीमक लकड़ी को अपने भोजन के रूप में खाती है, इसलिए यह जिस फर्नीचर पर लग जाती है वहाँ दीमक की पूरी कॉलोनी हमला कर देती है। खासतौर से बरसात के मौसम में दीमक की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी होती है, जो अपनी पूरी कॉलोनी के साथ मिलकर बड़ी और मोटी लकड़ी को अंदर से पूरी तरह से खोखला कर देती है।

दीमक हमेशा लकड़ी के अंदरूनी हिस्से में रहती है, इसलिए इसे देख पाना बहुत ही मुश्किल होता है, ऐसे में बाज़ार में दीमक को खत्म करने के लिए तरह-तरह की दवाईयाँ और कैमिकल मिलते हैं। इन कैमिकल से भरपूर दवाईयों को लकड़ी की चीजों में छिड़कने से दीमक तो मर जाती है, लेकिन उसकी वजह से घर में तेज और खतर नाक गंध फैल जाती है।

उस गंध में सांस ले पाना बहुत ही मुश्किल हो जाता, जबकि इससे बच्चों की सेहत पर भी बुरा असर पड़ सकता है। इसलिए आज हम आपको दीमक को घर से भगाने के लिए कुछ आसान घरेलू उपाय (Home remedies to get rid of termites) बताने जा रहे हैं, जिन्हें आजमाने से आपकी सेहत को भी कोई नुकसान नहीं पहुँचेगा।

नीम का तेल

नीम में कई तरह के औषधिय गुण पाए जाते हैं, जो दीमक के लिए जानलेवा साबित हो सकते हैं। अगर आप दीमक लगे हुए फर्नीचर या लकड़ी पर नीम का तेल छिड़कते हैं, तो उसकी तेज गंध से दीमक कुछ ही दिनों में पूरी तरह से खत्म हो जाएगी।

दरअसल नीम का तेल कीट, पतंग, दीमक और खटमल के शरीर पर विष की तरह काम करता है, इसलिए दीमक को घर से भगाने के लिए प्रभावित स्थान पर लगातार 1 हफ्ते तक नीम का तेल छिड़कना चाहिए। नीम के तेल की गंध पाकर दीमक दूर भागती है, जबकि उस तेल से युक्त लकड़ी का सेवन करने से उसकी तुरंत मौत हो जाती है।

नमक का इस्तेमाल

अगर आपके घर के खिड़की, दरवाजों या फर्नीचर में दीमक लग गई है, तो उसे दूर करने के लिए नमक का इस्तेमाल करना एक बहुत ही आसान तरीका है। जिस जगह पर दीमक लगी होती है, वहाँ आपको नमक का छिड़काव करना होगा, जिसकी वजह से दीमक कुछ ही देर में मर जाएगी।

दरअसल नमक में आयोडीन के साथ-साथ सोडियम और पोटेशियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो दीमक को भगाने में सहायक भूमिका निभाते हैं। ऐसे में जब दीमक नमक के संपर्क में आती है, तो उसके शरीर में तेज जलन का एहसास होता है और वह कुछ ही देर में दम तोड़ देती है।
करेले के रस का छिड़काव

करेला खाने से इंसान की सेहत अच्छी होती है, लेकिन यह सब्जी दीमक के लिए मौत का कारण बन सकती है। दरअसल करेले की कड़वी महक से दीमक तुरंत दूर भाग जाती है, इसलिए इसका रस बनाकर दीमक को खत्म किया जा सकता है।

इसके लिए करेले को मिक्स में डालकर पीस लें और तैयार पेस्ट से रस को छानकर अलग कर लें, इसके बाद उस रस को दीमक लगी हुई जगह पर छिड़क दें। ऐसा करने से पूरे वातावरण में करेले की कड़वी महक फैल जाएगी और उसके संपर्क में आने से दीमक धीरे-धीरे खत्म हो जाएगी, हालांकि कारगार रिजल्ट के लिए आपको कम से कम 5 दिनों तक लगातार करेले के रस का छिड़काव करना होगा।

बोरिक एसिड का यूज

बोरिक एसिड का इस्तेमाल कीड़े मकौड़ों को मारने या उन्हें दूर भगाने के लिए किया जाता है, इसके अलावा यह एसिड लकड़ी से दीमक को अलग करने में मददगार होता है। बोरिक एसिड आसानी से बाज़ार में मिल जाता है, जिसे प्रभावित इलाके पर छिड़कना होता है।

जैसे ही दीमक बोरिक एसिड के संपर्क में आती है, उसके तंत्रिका तंत्र पर बुरा प्रभाव पड़ना शुरू हो जाता है। ऐसे में कुछ देर तक तड़पने के बाद दीम की मौत हो जाती है, हालांकि इसका मतलब यह नहीं है कि बोरिक एसिड से सारी दीमक एक साथ मर जाती है।

इसलिए इसके प्रभावी रिजल्ट के लिए आपको कम से कम हफ्ते भर तक दीमक से प्रभावित जगहों पर बोरिक एसिड लगाना होगा, ताकि लकड़ी के अंदर मौजूद दीमक पूरी तरह से खत्म हो जाए और उन्हें दोबारा पनपने का मौका न मिले।
सिरके का इस्तेमाल कर भगाए दीमक

दीमक भगाने के लिए आप खाने वाले सिरके का इस्तेमाल कर सकते हैं, जो बहुत ही आसान और प्राकृतिक उपाय है। इसके लिए आपको पानी में थोड़ा-सा सिरका मिलाना होगा और फिर उस घोल को दीमक से प्रभावित लकड़ी या फर्नीचर पर छिड़क देना है।

लगातार 2 दिन तक सिरके का पानी छिड़कने से लकड़ी पर लगी दीमक अपने आप मर जाएगी, जबकि उसकी बढ़ती आबादी में भी रोक लग जाएगी। हालांकि दीमक को घर में दोबारा पनपने से रोकने के लिए आपको कुछ समय के अंतराल में सिरके के पानी का छिड़काव करते रहना होगा।

इन घरेलू नुस्खों (Dimak ko bhagane ka gharelu upay) को आजमा कर आप दीमक के प्रकोप से छुटकारा पा सकते हैं, जो कम खर्चीले होने के साथ-साथ असरदार भी हैं। हालांकि इन सभी घरेलू उपायों को 2 से 3 महीने के अंतराल में दोहराते रहना होगा, ताकि दीमक को दोबारा से पनपने का मौका न मिल सके।

No comments