Breaking News

बुखार से हैं परेशान तो सिर्फ एक चुटकी नमक है इलाज, ये 5 काम करें

बुखार से हैं परेशान तो सिर्फ एक चुटकी नमक है इलाज, ये 5 काम करें

मौसम बदल रहा है और ऐसे में सर्दी-जुकाम और बुखार सबसे सामान्य समस्या बनकर सामने आते हैं। बुखार या फीवर तो एक ऐसी समस्या है जो आपको सरदर्द-बदनदर्द और भूख न लगने जैसी समस्याएं भी देकर जाता है। आजकल वायरल फीवर की समस्या भी खूब देखी जा रही है। 

क्या है बुखार उतारने का सबसे बढ़िया नुस्खा:
बुखार एक ऐसी समस्या है जिससे शायद ही कोई बच पाता हो। कई लोगों को तो बार-बार बुखार चढ़ जाने की भी समस्या होती है जबकि कुछ ऐसे लोग होते हैं जिन्हें हमेशा बुखार जैसा फील होता रहता है। बता दें कि डॉक्टर भी इस बात को मानते हैं कि भुना नमक खाने से बुखार तुरंत उतर जाता है। भुना नमक एक अचूक दवा है और इसे तैयार करना बेहद ही आसान है। इसे आप चाय या पानी किसी के साथ भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

जानिए कैसे तैयार करें भुना नमक
खाने मे इस्तेमाल आने वाला सादा नमक लेकर उसे तवे पर डालकर धीमी आंच पर सेकें। जब इसका कलर कॉफी जैसा काला भूरा हो जाए तो उतार कर ठण्डा करें। ठण्डा हो जाने पर एक शीशी में भरकर रखें।जब आपको ये महसूस होने लगे की आपको बुखार आ सकता है तो बुखार आने से पहले एक चाय का चम्मच एक गिलास गर्म पानी में मिलाकर ले लें। जब आपका बुखार उतर जाए तो एक चम्मच नमक एक बार फिर से लें। ऐसा करने से आपको बुखार कभी पलट कर नहीं आएगा।

किन लोगों को नहीं करना चाहिए:
यह प्रयोग एक दम खाली पेट करना चाहिए इसके बाद कुछ खाना नहीं चाहिए और ध्यान रखें कि इस दौरान रोगी को ठंड न लगे। अगर रोगी को प्यास ज्यादा लगे तो उसे पानी को गर्म कर उसे ठण्डा करके दें। इस नुस्खे को अजमाने के बाद रोगी को करीब 48 घंटे तक कुछ खाने को न दें। और उसके बाद उसे दूध, चाय या हल्का दलिया बनाकर खिलाऐं। ब्लड प्रेशर की समस्या है तो बिना डॉक्टर की सलाह के ये न करें।

अगली स्लाइड में जानिए क्या और कर सकते हैं जब बुखार हो..

बुखार से हैं परेशान तो सिर्फ एक चुटकी नमक है इलाज, ये 5 काम करें


इन तरीकों से भी निपट सकते हैं बुखार से

ठंडे पानी से नहाएं: बुखार होने पर ठन्डे पानी का स्नान करने से काफी राहत मिलती है, और यह बुखार को ठीक करने बहुत मददगार होता है। स्नान करने के लिए बाल्टी, फब्बारा (शॉवर) या टब कोई भी तरीका बुखार में लाभकारी होता है।

भीगे कपड़े से पोछना: अगर बुखार में स्नान करना अच्छा नहीं लगता तो भीगे कपड़े से बदन को पोछा जा सकता है। इसके लिए किसी साफ़ कपड़े या तौलिया को लेकर उसे ठन्डे पानी से गीला करके निचोड़ लें फिर उससे बदन पोछें और ऐसा कई बार करें। ऐसा करने से शरीर का तापमान कम करने में काफी मदद मिलती है। भीगे कपड़े की पट्टी माथे पर रखना भी बुखार में फायदा पहुंचाता है।

ठंडे कमरे में रहें: बुखार से राहत पाने के लिए यह भी आवश्यक है कि आप जिस कमरे या घर में हों वो ठंडा हो। इसके लिए आप पंखा चला लें। घर ठंडा रखने से अच्छा महसूस होता है और इससे शरीर को भी ठंडा रखने में मदद मिलती है।

ज्यादा कपड़े न पहने: अक्सर ऐसा देखा गया है कि बुखार आने पर मोटे-मोटे कपडे पहन लिए जाते हैं जो बुखार में फायदे की जगह नुकसानदायक है। ऐसा करने से शरीर की गर्मी बाहर नहीं निकल पाती और बुखार जल्दी ठीक नहीं होता। इसलिए इस समय हल्के कपड़े पहने जिससे शरीर को ठंडक पहुंचे और बुखार जल्दी ठीक हो सके। यदि कभी ठंड या कंपकंपी लगे तो उस समय कम्बल या मोटी चादर ओढ़ लेना ठीक रहता है। जब ठंड या कंपकंपी न लगे तो कम्बल या मोटी चादर हटा दें, और सोते समय एक चादर ओढ़कर सोएं।

अपनी नाक साफ़ रखें: अगर नाक साफ़ न हो तो गले में भी खराश पैदा होने की संभावना बनी रहती है जो आपकी तकलीफ को और बढ़ा सकती है। इसलिए इसका विशेष ध्यान रखें और अपने पास कुछ टिश्यू पेपर ज़रूर रखें।

No comments