Breaking News

किसी को भी भगवान की मूर्ति गिफ्ट करने से पहले इन बातों का रखे विशेष ध्यान

किसी को भी भगवान की मूर्ति गिफ्ट करने से पहले इन बातों का रखे विशेष ध्यान

प्राचीन काल से तोहफा देने का प्रचलन चला रहा है किसी भी शुभ कार्य में जैसे गृह प्रवेश, जन्मदिन, एनिवर्सरी, शादी में हम एक दूसरे को तोहफा देते ही हैं। गिफ्ट विभिन्न विभिन्न प्रकार के हो सकते हैं लेकिन कई बार हम भगवान की मूर्ति को भी तोहफे के रूप में किसी को देते हैं। ऐसा माना जाता है कि भगवान की मूर्ति को शुभ अवसर पर किसी को देना बहुत ही शुभ होता है इसलिए हम अक्सर किसी भी भगवान की मूर्ति तोहफे में देते हैं। लेकिन हमारे शास्त्रों में विभिन्न देवताओं के आकार व स्थापना को लेकर कई तरह के नियम होते हैं यदि हम इन नियमों का पालन नहीं करते तो यह अशुभ माना जाता है, इसलिए भगवान की मूर्ति को किसी को तोहफे में देने से पहले कुछ नियमों को जान लेना जरूरी है

गणेश जी की मूर्ति को ना करे गिफ्ट
ऐसा माना जाता है कि गणपति जी की मूर्ति को कुछ अवसर पर गिफ्ट दिया जा सकता है, लेकिन कुछ ऐसे अवसर पर गणपति जी की मूर्ति को तोहफे में देना नहीं चाहिए- जैसे की बेटी की शादी में उसे गणपति जी की मूर्ति देना अशुभ होता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि लक्ष्मी और गणेश हमेशा साथ होते हैं यदि घर की लक्ष्मी के साथ आप गणेश जी को भी भेज देंगे तो घर की समृद्धि भी उनके साथ ही चले जाएगी इसलिए ऐसा करने से बचें।

गणेश जी की मूर्ति खरीदने से पहले इन बातों का ध्यान अवश्य दें
मूर्ति के प्रकार जान ले
भगवान गणेश जी की मूर्ति खरीदने से पहले उनकी सूंड की दिशा कौन सी है यह जान लेना बहुत ही जरूरी है। घर में रखने के लिए बाय ओर सूंड वाले गणपति जी को ही लेना चाहिए, क्योंकि इनकी पूजा-अर्चना आसानी से हो सकती है जबकि दाई और सूंड वाले गणपति जी की पूजा करने से बहुत सावधानी व नियम कायदों का पालन करना पड़ता है।

गणपति जी की मूर्ति का साइज ध्यान रखें
यदि आप गणेश जी की मूर्ति गिफ्ट कर रहे हैं तो उसकी लंबाई को ध्यान देना बहुत ही जरूरी होता है कभी भी 18 इंच से अधिक लंबाई वाले गणपति जी को गिफ्ट नहीं दिया जाता है। गिफ्ट देने के लिए हमेशा गणपति जी की बैठी हुई मूर्ति को खरीदें।

गणेश जी की मूर्ति को कैसे स्थापित करें
वास्तु शास्त्र के अनुसार गणपति जी की मूर्ति को हमेशा उत्तर-पूर्व के कोने में स्थापित करनी चाहिए, क्योंकि गणेश जी की दृष्टि को शुभ माना जाता और उनकी पीठ के पीछे को नेगेटिव माना जट है। कई बार लोग मुख्य द्वार पर गणेश जी की मूर्ति स्थापित करते हैं लेकिन यह बहुत गलत है इससे भगवान की अच्छी दृष्टि तो सामने वाले घरों में चली जाती है और आपके घर में नेगेटिव एनर्जी आती है।

जाने किन मूर्तियों को गिफ्ट करें और किन्हे नही
■राधा कृष्ण की मूर्ति को तोहफे में देना वर्जित है। मगर कृष्ण जी की बांसुरी बजाती हुई बालकृष्ण की मूर्तियां गाय के साथ वाली मूर्ति आप उपहार में दे सकते हैं।
■यदि आप किसी शादीशुदा जोड़े को तोहफा देना चाहते हैं तो विष्णु लक्ष्मी जी के मूर्ति को दे सकते हैं।
■गणपति जी की भी 18 इंच से छोटी मूर्ति जो बैठी हुई अवस्था में हो और हाथ में मोदक व साथ में चूहा हो उसे देना शुभ होता है।

No comments