Breaking News

रुद्राक्ष धारण करने से दूर रहती है बीमारियां, साथ ही पैसों की भी नही होती कमी

रुद्राक्ष धारण करने से दूर रहती है बीमारियां, साथ ही पैसों की भी नही होती कमी

हिंदू धर्म में रुद्राक्ष एक विशेष महत्व है इसे धार्मिक दृष्टि से बहुत पवित्र माना जाता है। इसे शिव जी का रूप माना जाता है ऐसा माना जाता है कि भगवान शिव के आसू पृथ्वी पर जहां-जहां गिरे वहां-वहां रूद्राक्ष उत्पन्न हुआ। रुद्राक्ष की खास बात यह भी है कि सारे रुद्राक्ष अलग होते हैं रुद्राक्ष में समानता नहीं होती है। साथ ही रुद्राक्ष में जो लाइने बनी होती है वह रुद्राक्ष को विभाजित करती है जैसे एक मुखी, दो मुखी, तीन मुखी, पंचमुखी ऐसे 21 मुखी रुद्राक्ष पाए जाते हैं।

ऐसा माना जाता है कि धरती पर रुद्राक्ष एक ऐसी वस्तु है जिससे ग्रहों को नियंत्रित किया जा सकता है। लेकिन रुद्राक्ष को धारण करने के कुछ नियम है जिन्हें जानना बहुत जरूरी है तभी इसका हमें प्राप्त होता है।

जाने रुद्राक्ष धारण करने के नियम
रुद्राक्ष कभी भी खुद के पैसे से खरीद कर ही धारण करें, दूसरो के पैसे से खरीदा हुआ रुद्राक्ष आपको लाभ नहीं पहुंचाएगा।

रुद्राक्ष को पहनने के लिए सावन या शिवरात्रि का दिन सबसे सर्वश्रेष्ठ होता है। इसके साथ ही सोमवार के दिन महादेव की पूजा का दिन है इसलिए इस दिन भी रुद्राक्ष धारण करना शुभ होता है।

रुद्राक्ष को पूजा अर्चना करने के बाद मंत्र से अभिमंत्रित करने के बाद ही धारण करें।

रुद्राक्ष कलाई, गले व हृदय में धारण किया जाता है। कलाई में 12, गले में 36 और ह्रदय में 108 रुद्राक्ष की माला धारण करनी चाहिए।

जो भी व्यक्ति धारण कर रहे हैं उसे सात्विक भोजन ग्रहण करना चाहिए और शुद्धता का ध्यान रखना चाहिए।

आप किसी भी मंत्र का जाप उसी रुद्राक्ष माला से ही करें जिसे आपने धारण किया है।

यदि आपको ताजा रुद्राक्ष मिला है तो उसे धारण करने से पहले सरसों के तेल में डूबा कर कुछ दिन के लिए रख दें।

रुद्राक्ष धारण करने के धार्मिक फायदे*

रुद्राक्ष भगवान शिव का रूप होता है इसलिए रुद्राक्ष धारण करने से और इसी रुद्राक्ष से भगवान शिव की उपासना करने से इंसान के जीवन की सारी परेशानियां दूर हो जाती हैं।

रुद्राक्ष से महालक्ष्मी की भी कृपा आप पर बनी रहती है आपकी समस्याएं दूर होती है।

रुद्राक्ष को धारण करने से आप के पाप कर्म दूर हो जाते हैं और आपकी सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

यदि आपकी कुंडली में स्थिति बहुत नाजुक है और उसकी वजह से समय-समय पर आपको बहुत सी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है तो आपको रुद्राक्ष धारण करने से बहुत ज्यादा फायदा मिलेगा।

रुद्राक्ष धारण करने से आप नकारात्मक ऊर्जा से बचते हैं।

रुद्राक्ष आपके मन को और आपके दिमाग को केंद्रित करके रखता है आपका दिमाग भटकने नहीं देता है जिसे आप अपने जीवन सफलता प्राप्त करते हैं।

रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति को बुरी नजर, भूत प्रेत, बुरी शक्तियों से निजात मिलता है।

जाने रुद्राक्ष धारण करने के वैज्ञानिक फायदे*
रुद्राक्ष के बारे में हमने अपने शास्त्रों में तो बहुत पढ़ा होगा धार्मिक रूप से भी इसके अनेक फायदे हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि रुद्राक्ष के वैज्ञानिक दृष्टि से भी अनेकों फायदे हैं। बहुत सी रिसर्च के मुताबिक ये खुलासा हुआ है कि रुद्राक्ष हमें बहुत सी बीमारियों से निजात दिलाता है हमारे तनाव को दूर करने के साथ-साथ हमारी मानसिक परेशानियों को भी दूर करके हमारे मन को सकारात्मक एनर्जी देता है।

हमारे शरीर में दिल सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है दिल से ही हमारी सारी शारीरिक गतिविधियां संचालित होती हैं। ऐसे में रुद्राक्ष हमारे दिल तक हमारी इंद्रियों को प्रभावित करता है साथ ही उन्हें स्थिर करता है।

रुद्राक्ष में चुंबकीय गुण पाया जाता है और यह अपनी चुंबकीय शक्तियों से हमारी धमनियों और नसों मे अवरुद्ध रुकावट को दूर करता है और हमारे ब्लड फ्लो को तेज करता है। साथ ही खास बात यह है कि यह हमारे शरीर के किसी प्रकार के दर्द को खत्म करने में मदद करता है।

रुद्राक्ष की माला हमारे अंदर सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह करती है वैज्ञानिक खोज में यह पता चला है कि रुद्राक्ष खराब ऊर्जाओ को स्टोर करने में सक्षम होती है।

रुद्राक्ष में anti-inflammatory और एंटी एंटीबैक्टीरियल के गुण पाए जाते हैं इसलिए वैज्ञानिक बहुत बार पानी में डूबे रुद्राक्ष के पानी को पीने की सलाह देते हैं इससे बहुत सी बीमारियों से निजात मिलता है।

No comments