Breaking News

झाड़ू लगाने की नौकरी छोड़कर बन गया क्रिकेटर, आज आईपीएल में दिखा रहा जलवा

झाड़ू लगाने की नौकरी छोड़कर बन गया क्रिकेटर, आज आईपीएल में दिखा रहा जलवा

हम क्रिकेट में कई ऐसे खिलाड़ियों के बारे में सुनते आ रहे हैं जिनके कामयाबी के पीछे बहुत ही संघर्ष भरा जीवन होते हैं I ऐसे ही हमें खिलाड़ी के बारे में आपको बता रहे हैं जो कि कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेल रहा है इस खिलाड़ी का नाम रिंकू सिंह है कोलकाता नाइट राइडर्स के द्वारा रिंकू सिंह को 2018 में 80 लाख रुपया में खरीदा गया था। वहीं साल 2022 के सीजन में सिर्फ उसी को एक बार फिर से कोलकाता नाइट राइडर्स के टीम में 55 लाख रूपों में शामिल किया गया है।

कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम में रिंकू सिंह बहुत ही ज्यादा चर्चे में आते रहते हैं लेकिन उनके इस कामयाबी के पीछे बहुत ही ज्यादा मुश्किलों से भरा संघर्ष जीवन बिता हुआ है। रिंकू सिंह का जन्म उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में हुआ है। उनके परिवार की स्थिति बहुत ही खराब थी इनके परिवार के ऊपर 5 लाख का कर्ज था और इनके पिता घर घर जाकर गैस सिलेंडर डिलीवर का काम करते थे।

रिंकू से पांच भाई बहन थे जिसमें से यह तीसरे नंबर पर आते थे। रिंकू सिंह के भाई ऑटो रिक्शा चलाते हैं और दूसरे भाई एक कोचिंग सेंटर में काम करते हैं। रिंकू सिंह 9वीं फेल है। जिसके कारण उन्हें कोई भी अच्छा नौकरी नहीं मिल पा रही थी। ऐसे में उनके भाई से उन उनका काम करने के बारे में बोला गया तो उनके भाई ने उन्हें एक ऑफिस में झाड़ू लगाने का काम दिलवा दिया।

ऐसे ही रिंकू सिंह ने झाड़ू लगाते हुए कुछ सोचा और बोला कि अगर मैं ऐसे ही झाड़ू लगाते रहा तो मेरी पूरी जिंदगी इसी में गुजर जाएगी। जिसके बाद में उनके मन में उनके बचपन के विचार को पूरा करने का खयाल आया और उन्होंने सोचा कि उनकी जिंदगी अगर कोई बदल सकता है तो सिर्फ क्रिकेट ही है। रिंकू सिंह ने झाड़ू लगाने वाली नौकरी छोड़ दी और खराब परिस्थिति होने के बाद भी उन्होंने क्रिकेट को अपना लिया। जिस क्रिकेट को रिंकू सिंह ने पैसो के कमी के कारण छोड़ दिया था। जिसके बाद अब वह क्रिकेट से मालामाल हो रहे हैं।

उन्होंने लिस्ट ए क्रिकेट में विदर्भ के खिलाफ अपना बेहतरीन परफॉर्मेंस दिखाया था I दिल्ली के खिलाफ खेले गए एक मैच में उन्हें मैन ऑफ द सीरीज बनाया गया था जिसके बदले में उन्हें एक बहुत ही शानदार मोटर बाइक गिफ्ट की गई थी। उन्होंने वह मोटरबाइक अपने पिता को दे दिया था कि उन्हें गैस सिलेंडर डिलीवरी करने में बहुत आसानी हो सके। रिंकू सिंह ने अपने परिवार के ऊपर का पूरा कर्जा भी चुका दिया है। घरेलू क्रिकेट में भी वह काफी ज्यादा अच्छा प्रदर्शन दिखाते हैं। रिंकू सिंह और उनके परिवार ने बताया कि उन्होंने इतने ज्यादा पैसे अपनी जिंदगी में कभी नहीं देखे थे।

No comments