Breaking News

बच्‍चे को चढ़ गया है तेज बुखार, दवा देने का नहीं कर रहा मन, तो इन टिप्‍स से उतारें फीवर

बच्‍चे को चढ़ गया है तेज बुखार, दवा देने का नहीं कर रहा मन, तो इन टिप्‍स से उतारें फीवर

बच्‍चे बहुत नाजुक होते हैं और जल्‍दी बीमार भी पड़ जाते हैं। बच्‍चों को जब बुखार चढ़ जाता है, तो मां-बाप चिंता में आ जाते हैं। वहीं बच्‍चों को बार-बार या हर चीज के लिए दवा खिलाने से भी मना किया जाता है क्‍योंकि इन दवाओं के साइड इफेक्‍ट्स भी होते हैं जिन्‍हें बच्‍चा झेल नहीं पाता है।

ऐसे में कई मांएं यह जानना चाहती हैं कि क्‍या शिशु के बुखार को कम करने के लिए नॉन-मेडिकल तरीके भी मौजूद हैं?

यदि आपके बेबी को बुखार चढ़ गया है और आप उसे दवा नहीं देना चाहती हैं बल्कि घरेलू तरीकों से ही उसका इलाज करना चाहती हैं, तो यहां बताए गए कुछ तरीकों को अपना सकती हैं। इसके साथ ही इस आर्टिकल में इस टॉपिक के ऊपर डॉक्‍टर की राय भी जानेंगे।

शिशु को नहला दें आप डॉक्‍टर की सलाह पर शिशु को गुनगुने पानी से या स्‍पंज बाथ दे सकती हैं। पानी बॉडी के टेंपरेचर को नीचे लाने में मदद करेगा। बच्‍चे को नहलाने के लिए ठंडे पानी का इस्‍तेमाल न करें वरना बच्‍चे को कंपकपी हो सकती है और उसका टेंपरेचर बढ़ सकता है। यह स्‍टेप पीडियाट्रिशियन से पूछने के बाद ही उठाएं।

​सिर पर रखें गीला कपड़ा शिशु के माथे पर गीला और ठंडा कपड़ा रखें। साफ कपड़े को पानी में भिगोकर बच्‍चे के माथे पर रखें। इससे बुखार को कम करने में काफी मदद मिलती है।

​फ्लूइड्स की मदद लें शरीर को अंदर और बाहर से ठंडा रखने के लिए आप बच्‍चे को खूब फ्लूइड्स पिलाएं और उसकी बॉडी को हाइड्रेट रखें। दूधमुंहे बच्‍चे को ब्रेस्‍टमिल्‍क पिलाएं और फॉर्मूला लेने वाले बच्‍चे को फॉर्मूला मिल्‍क या ठंडा उबला हुआ पानी पिलाएं।

​कपड़ों से लादकर ना रखें आप बच्‍चे को कपड़ों से लादकर न रखें। इससे उसकी स्किन से हीट आसानी से निकल सकती है। उसे बस एक हल्‍का कपड़ा पहनाएं। अगर उसे कंपकपी होती है, तो गरमाई आने तक उसे हल्‍के कपड़े से ढक दें।

​जानें आयुर्वेदिक डॉक्‍टर के टिप्‍स 
बेंगलुरु के जीवोत्तम आयुर्वेद केंद्र के वैद्य डॉ. शरद कुलकर्णी, एम.एस.(आयुर्वेद),(पीएच.डी.) का कहना है कि आधा या उससे कम गिलोय का पत्ता लेकर उसे पहले साफ कर लें। इसे पीसकर पेस्‍ट बनाकर, बच्‍चे को पानी के साथ खिलाएं। इससे बुखार कम होना शुरू हो जाता है।

डॉक्‍टर के टिप्‍स इसके अलावा अृमतारिष्‍टा भी आधा या एक चम्‍मच बच्‍चे को एक दिन में दे सकते हैं। डॉक्‍टर ठंडा खाना देने से मना करते हैं और गर्म खिचड़ी और गर्म पानी देने की सलाह देते हैं।

No comments