Breaking News

बार-बार लेना पड़ रहा है कर्ज, तो करें कुछ वास्तु उपाय मिलेगा कर्ज से छुटकारा

बार-बार लेना पड़ रहा है कर्ज, तो करें कुछ वास्तु उपाय मिलेगा कर्ज से छुटकारा

सभी के जीवन में उतार चढ़ाव आते रहते हैं। पैसे की परेशानी आती जाती रहती है और इसकी वजह से ही कई बार हमें मजबूरी वश कर्ज लेना पड़ जाता है। यूं तो कोई भी व्यक्ति कर्ज लेना चाहता नहीं है लेकिन परिस्थिति के वजह से मजबूरी में व्यक्ति को कर्ज लेना पड़ता है।

कर्ज एक बीमारी है कर्ज में दबे इंसान को इस दुनिया का सबसे दुखी और परेशान व्यक्ति कहा जा सकता है। यह आपको मानसिक तनाव टेंशन देता है। कर्जदार व्यक्ति को ना तो भूख लगती हो ना तो प्यास लगती है। कर्ज की स्थिति में व्यक्ति और उसके परिवार को बहुत ही परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

ऐसे में कुछ वास्तु उपाय करके हम कुछ हद तक कर्ज से मुक्त हो सकते हैं,,तो चलिए जानते हैं वे कौन से उपाय हैं!!!

नल की दिशा बदले
यदि आप अपने जीवन में आपको बार-बार कर्ज लेना पड़ रहा है और आप उसके बाद भी कर्ज लौटा नहीं पा रहे हैं और कर्ज के तले दबे जा रहे हैं,, तो आपको अपने घर और व्यवसाय में पानी की दिशा बदल देनी चाहिए मतलब कि जिस दिशा में नल है उस दिशा को बदल दें और ध्यान रखें कि पानी का पात्र हमेशा उत्तर दिशा में ही हो। ऐसा करने से आपको बहुत जल्दी कर्ज से मुक्ति मिलेगी।

घर की आईने में करें कुछ बदलाव
कर्ज से मुक्त करने के लिए शीशा भी हमारी मदद कर सकता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि आप कर्ज लौटा नहीं पा रहे हैं तो अपने घर पर रखे आईने और कार्यक्षेत्र में रखे शीशे की दिशा में बदलाव करें। क्योंकि शीशे को उत्तर पूर्व दिशा में रख दिया जाए तो यह जल्द ही कर्ज से निजात दिला देता है और एक बात का ध्यान जरूर दें की शीशे का वजन कम से कम हो और आकार लंबा हो और यदि आप अपने घर या कार्यक्षेत्र में सिंदूरी रंग का शीशा लगा लेते हैं तो आपको धन संबंधी कोई सी भी परेशानी नहीं होगी।

बाथरूम की दिशा का ध्यान दें
वास्तु दोष का कारण घर के टॉयलेट की दिशा भी हो सकती है। अक्सर हम इन छोटी-छोटी बातों पर ध्यान नहीं देते लेकिन यदि आपके घर या कार्यक्षेत्र में दक्षिण-पश्चिम दिशा में वॉशरूम है तो इससे आपके जीवन में धन की हानि आती है। साथ ही यह व्यक्ति को कर्ज से डूबा देता है। इसलिए यदि आपके घर का बाथरूम दक्षिण पश्चिम दिशा है में है तो उसमें जरूर बदलाव करें।

सीढ़ियों की गलत दिशा से भी बढ़ता है कर्ज
सीढीयों का गलत दिशा में होना भी हमारे जीवन में बहुत से परिवर्तन लाता है। वास्तु के अनुसार अगर आपके घर में सीढ़ियां गलत दिशा में है तो आपको कर्ज लेने की स्थिति बार-बार आती रहेगी। ऐसे में घर में कभी भी पश्चिम दिशा में सीढ़ियों का निर्माण नहीं करना चाहिए और यदि आप की सीढ़ियां पश्चिम दिशा में है तो आपको बार-बार कर्ज लेने की स्थिति आएगी, इसलिए भवन निर्माण से पहले सीढ़ियों की दिशा का ध्यान रखें। यदि आप अपने घर में तोड़फोड़ नहीं कर सकते हैं तो आप अपने बाथरुम में एक कटोरी नमक भरकर रखें और समय-समय पर उसे बदलते रहे इससे आपको कुछ राहत मिलेगी।

कर्ज चुकाने का सही दिन
वास्तु मान्यताओं के अनुसार मंगलवार के दिन कर्ज की किश्त चुकाने से शीघ्र ही कर्ज से मुक्ति मिलती है। कर्ज की पहली किस्त हमेशा मंगलवार के दिन ही चुकाए। ऐसे मे आपको दोबारा कर्ज लेने की स्थिति नहीं आएगी।

दीवार की ऊंचाईयों का भी ध्यान दें
यदि आपके घर में उत्तर दिशा में ऊंची दीवार बनी है तो उसे छोटा करके दक्षिण में ऊंची दीवार बना ले। उत्तर तथा पूर्व दिशा की ओर ढलान जितनी ज्यादा होगी उतनी ही आपके घर में संपत्ति की वृद्धि होगी।

दबा हुआ भूखंड ना खरीदें
कभी भी दो भावनो के बीच घिरा हुआ भवन या फिर बड़े-बड़े भवनों के बीच दबा हुआ भूखंड खरीदने से बचें क्योंकि दबा वह भूखंड खरीदने से गरीबी व कर्ज आता है।

No comments