Breaking News

क्या गर्मियों में पैर की नसें नीली और मोटी दिख रही हैं? यह गंभीर बीमारी हो सकती है वजह

क्या गर्मियों में पैर की नसें नीली और मोटी दिख रही हैं? यह गंभीर बीमारी हो सकती है वजह

वैरिकोज वेन्स (Varicose veins) बढ़ी हुई नसों को कहा जाता है। कोई भी नस वैरिकोज वेन्स हो सकती है। यह एक ऐसी बीमारी है, जिसमें त्वचा के नीचे की नसें फैलने के साथ पतली और तनी हुई हो जाती हैं। नसों का पतला होना भीतर के वाल्वों के फेल होने के कारण होता है, जिस वजह से खून जमा होने लगता है और कई बार नसें सूजी और मुड़ी हुई दिखाई देती है।

इतना ही नहीं इनका रंग भी नीला पड़ने लगता है। यह आमतौर पर पैरों की नसों को सबसे ज्यादा प्रभावित करती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि खड़े होने या ज्यादा घूमने-फिरने से आपके निचले शरीर की नसों में दबाव बढ़ जाता है। महिलाओं में ये स्थिति बेहद आम है। सभी वयस्कों में से लगभग 25 प्रतिशत के पास वैरिकोज वेन्स होती हैं।

जयपुर स्थित गौतम इंस्टिट्यूट ऑफ बिहेवियरल साइंसेज के डायरेक्टर डॉक्टर शिव गौतम के अनुसार, यदि आपको वैरिकोज वेन्स की समस्या है, तो इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए। खासतौर से गर्मियों के दिनों में ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है। लापरवाह होने से दर्द बढ़ सकता है और आपको ज्यादा तकलीफ हो सकती है। तो आइए जानते हैं वैरिकोज वेन्स के कारण, लक्षण और बचाव।

​वैरिकोज वेन्स के कारण

वैरिकोज वेन्स को वैरिकोसाइटिस के रूप में भी जाना जाता है। वैरिकोज नसें तब होती हैं, जब नसें बड़ी हो जाती हैं और उनमें खून भर जाता हे। ऐसा तब होता है जब खून ठीक तरह से फ्लो नहीं होता। जिस कारण नसें सूज जाती हैं। आमतौर पर इससे कोई नुकसान नहीं होता, लेकिन ध्यान न दिए जाने की स्थिति में इनमें दर्द हो सकता है।

​वैरिकोज वेन्स के लक्षण

जब नसें सूज जाती हैं और बड़ी हो जाती हैं, तो व्यक्ति वैरिकोज नसों से ग्रसित हो सकता है। वेन्स के आसपास की त्वचा के रंग में बदलाव, नसों के आसपास के क्षेत्र में खुजली, लंबे समय तक बैठने या खड़े होने पर दर्द, पैरों में भारीपन और निचले पैरों में सूजन वैरिकोज वेन्स के कुछ लक्षण हैं।

​वैरिकोज वेन्स के बचाव के उपाय
बिस्तर पर लेटकर और अपने पैरों को तकिए पर रखें। इससे पैरों में ब्लड फ्लो बहुत अच्छी तरह से होगा
नियमित रूप से स्ट्रेचिंग और एक्सरसाइज करें

नसों में ब्लड फ्लो को बढ़ाने के लिए अपने पैरों की मालिश कर सकते हैं
दर्दनाक ऐंठन से बचने के लिए आपको कंप्रेशन स्टॉकिंग पहनने चाहिए
इससे बचने के लिए पर्याप्त आराम करना जरूरी है
पैर में ब्लड सर्कुलेशन ठीक से करने के लिए खूब पानी पिएं
घंटों तक एक ही जगह बैठने से बचें, इससे पैरों में खून जमा होने के साथ दर्द हो सकता है
गर्मियों में जितना हो सके ढीले- ढाले कपड़े पहनें। फिटिंग वाले कपड़े नसों पर एक्स्ट्रा प्रेशर डालते हैं

​इस बात का रखें विशेष ध्यान

डॉक्टर के अनुसार, ऊपर बताए गए उपायों को आजमाकर आपको इस समस्या से राहत मिल सकती है लेकिन अगर आपको गंभीर दर्द हो रहा है या लक्षण बिगड़ते दिख रहे हैं, तो आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए। कई गंभीर मामलों में आपको सर्जरी की भी जरूरत पड़ सकती है।

No comments