Breaking News

Indian Army के सिपाहियों की सैलरी कितनी होती है? जानें पूरी डिटेल्स

Indian Army के सिपाहियों की सैलरी कितनी होती है? जानें पूरी डिटेल्स

Salary of Indian Army : भारतीय सेना देशवासियों की शान है और हर किसी के मन में भारतीय सेना (Indian Army) के लिए जो सम्मान होना चाहिए वो रहता है. इंडियन आर्मी दुनिया की ताकतवर सेनाओं में से एक है और यहां का एक ही नारा है कि सिर कटा सकते हैं लेकिन सिर झुका सकते नहीं. इस बात पर कायम रखने का जज्बा हर किसी का नहीं होता है लेकिन जो लोग भारत माता की सेवा करने के उद्देश्य से इंडियन आर्मी ज्वाइन करते हैं फिर उनके लिए जीवन में कोई डर नहीं रह जाता है.

मगर फिर भी बहुत से लोग उनके काम पर सवाल उठाते हैं. कुछ लोगों को तो हमेसा ये जानना होता है कि आर्मी में काम करने वाले सिपाही की सैलरी कितनी (Salary of Indian Army) होती है. बहुत से लोग इसे इसलिए भी जानना चाहते हैं क्योंकि उनका सपना भी देश की रक्षा करना है मगर सैलरी की जरूरत तो सबको ही होती है तो चलिए इसकी डिटेल्स जानते हैं.

भारतीय आर्मी के सैनिकों की सैलरी कितनी है? Salary of Indian Army Soldier

भारतीय सेना (Indian Army) के सिपाही की भर्ती देश के अलग-अलग जगहों पर होती है. लाखों की संख्या में युवा इंडियन आर्मी में सिपाही बनने की तैयारी करते हैं और भाग लेने रैलियों में जाते हैं. अगर यहां कोई सिलेक्ट हो जाता है तो उन्हें ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है और उसी समय से उन्हें सैलरी सहित अन्य सुविधाएं मिलना शुरू हो जाती है.


सेना में जवान से लेकर जनरल तक की सैलरी 7वें वेतन आयोग (7th Pay Commission) के तहत मिलती है और अन्य सुविधाएं भी इसी में आती है. सेना में कुल 17 पद होते हैं जिनमें सैलरी अलग-अलग बैंड्स में होती हैं. सिपाही सबसे निचला पद माना जाता है और इन्हें ही सीमा पर आतंकियों, दुश्मन सेना और घुसपैठियों से लड़ने के लिए भेजा जाता है. जिसमें सिपाही के दो बैंड्स होते हैं एक X दूसरा Y होता है.

X सिपाही को 5200-20220+1400+2000+डीए दिया जाता है यानी कुल मिलाकर एक्स सिपाही की सैलरी 26,900 रुपये होती है. वहीं Y सिपाही को 5200+20200+2000+2000+डीए दिया जाता है यानी कुल मिलाकर 27,100 रुपये सैलरी दी जाती है. इसके अलावा सुविधाएं दोनों की एक जैसी ही होती है जिसमें आजीवन पेंशन, 60 दिन की सालाना छुट्टी, 20 दिन की कैजुअल छुट्टी, पिछले वेतन के आधार पर अधिकतम 300 दिनों की छुट्टी के बदले भुगतान भी होता है और दो साल की पढ़ाई के लिए छुट्टी की सुविधा है. इतना ही नहीं IMA, MCTE, MCME, CME और OTA में कैडेट ट्रेनिंग विंग में निश्चित तौर पर 21 हजार रुपये सैलरी हर महीने दी जाती है.

सिपाहियों को मिलती है ये सुविधाएं

सैलरी के अलावा भारतीय आर्मी (Indian Army) के सिपाहियों को हवाई यात्रा, रेल यात्रा और बस यात्रा में छूट मिलती है. मिलिट्री अस्पताल में इनका और परिवार का फ्री इलाज होता है. इन्हें इतनी सुविधाओं पर कई बार कुछ मुट्ठीभर लोगों ने सवाल उठाए थे तब सरकार ने ये बयान दिया था कि उन्हें सरहद पर लड़ने की टेंशन पहले से होती है और ऐसे में अगर परिवार को लेकर या कोई दूसरी टेंशन इनके दिमाग में रहेगी तो ये लोग तनाव लेंगे और देश के प्रति इनकी निष्ठा कम हो जाएगी. इसिलए हर क्षेत्र में इन्हें कोई ना कोई छूट जरूर मिलती है.

No comments