Breaking News

आईपीएल इतिहास में कप्तानी को लेकर हुए वो 6 बदलाव जो हुए पूरी तरह फेल

आईपीएल इतिहास में कप्तानी को लेकर हुए वो 6 बदलाव जो हुए पूरी तरह फेल

किसी भी टीम के लिए एक कप्तान की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण होती है। कप्तान टीम को सफलता की ओर ले जाने का हरसंभव प्रयास करता है। क्रिकेट इतिहास में अब तक अब कई अभूतपूर्व कप्तान हुए हैं जिनका गुणगान होता रहा है। आईपीएल इतिहास में महेंद्र सिंह धोनी को सबसे महान कप्तान माना जाता है। और, वह जडेजा के कप्तानी छोड़ने के बाद एक बार फिर चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान बन गए हैं।

आज के इस लेख में आईपीएल इतिहास में कप्तानी को लेकर हुए उन बदलावों के बारे में जानेंगे जो पूरी तरह असफल हुए।

1.) कैमरून व्हाइट:

कैमरून व्हाइट आईपीएल में 2012 में डेक्कन चार्जर्स के कप्तान बने थे। कुमार संगकारा द्वारा टीम के खराब प्रदर्शन के बाद कप्तानी छोड़ने का फैसला करने के बाद उन्हें यह पद सौंपा गया था।

मगर, डेक्कन के चार्जर्स के लिए कुछ भी सुधार नहीं हुआ और फ्रेंचाइजी अगले नौ मैचों में केवल दो मैचों में ही जीत हासिल करने में कामयाबी हासिल की थी। और डेक्कन चार्जर्स उस साल पॉइंट टेबल पर दूसरे स्थान पर थी।
2.) इयोन मॉर्गन:

कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान के रूप में इयोन मॉर्गन का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है। दिनेश कार्तिक द्वारा उन्हें कप्तानी सौंपे जाने के बाद मोर्गन से बड़ी उम्मीदें की जा रहीं थीं।

लेकिन, ऐसा नहीं हुआ क्योंकि केकेआर की हालत और खराब होती चली गई। केकेआर ने उस सीजन कुल 7 मैच खेले हैं जिसमें से 5 में उन्हें 5 मैचों में हार का सामना करना पड़ा।
3.) रविचंद्रन अश्विन:

रविचंद्रन अश्विन को किंग्स इलेवन पंजाब ने 2018 में खरीदा था और बाद में उन्हें टीम का कप्तान बनाया गया था। रविचंद्रन अश्विन से टीम को बहुत उम्मीदें थीं क्योंकि वह एक वरिष्ठ खिलाड़ी थे जिन्हें कप्तानी का थोड़ा अनुभव भी था।

हालांकि, अश्विन उन उम्मीदों पर खरे नहीं उतर सके। और पंजाब पॉइंट टेबल में दूसरे स्थान पर रहा। अश्विन के नेतृत्व में, पंजाब किंग्स ने अपने 14 मैचों में से केवल 6 मैचों में ही जीत दर्ज की थी।
4.) स्टीव स्मिथ:

बॉल टैंपरिंग कांड में फंसे स्टीव स्मिथ पहले से ही राजस्थान रॉयल्स के कप्तान थे। इसके बाद उन्हें कप्तानी छोड़नी पड़ी और अजिंक्य रहाणे को कप्तान नियुक्त किया गया। रहाणे को कप्तानी मिलने का सीधा मतलब उनके लिए खुद को साबित करने का मौका भी था। लेकिन, रहाणे खुद को साबित नहीं कर सके। और, अगले सीजन स्टीव स्मिथ को वापस कप्तान नियुक्त कर दिया गया।
5.) शिखर धवन:

आईपीएल 2013 में डेक्कन चार्जर्स के खराब प्रदर्शन के बाद, सनराइजर्स हैदराबाद ने शिखर धवन को अपना कप्तान नियुक्त किया था। हालांकि, धवन कुछ खास नहीं कर सके और वह पूरे सीजन 29 की औसत से 377 रन ही बना सके थे। बतौर कप्तान धवन पूरी तरह फ्लॉफ हुए और फ्रेंचाइजी महज 6 मैच ही जीत सकी। साथ ही, पॉइंट टेबल पर भी 6वें स्थान पर रही।
6.) रवींद्र जडेजा:

रवींद्र जडेजा को चेन्नई सुपर किंग्स द्वारा तब कप्तान बनाया गया था जब महेंद्र सिंह धोनी ने आईपीएल 2022 से ठीक 2 दिन पहले कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया था। निश्चित रूप से रवींद्र जडेजा से चेन्नई सुपर किंग्स को और उनके फैंस को काफी उम्मीदें थीं।

लेकिन जडेजा न तो बतौर कप्तान खुद को साबित कर सके और न ही बतौर ऑल राउंडर। जिस कारण उन्होंने सीजन के बीच में ही कप्तानी छोड़ने का फैसला करते हुए धोनी को कप्तानी सौप दी है। अब देखना यह है कि, धोनी किस हद तक सफल हो पाते हैं।

No comments