Breaking News

ठंड में सुबह टहलना आपको कर सकता है बीमार, जानिए कैसे

ठंड में सुबह टहलना आपको कर सकता है बीमार, जानिए कैसे

प्रातःकाल टहलना स्वस्थ जीवन की कुंजी है.लेकिन सर्दियों के मौसम में प्रातःकाल टहलने कुछ समस्या पैदा कर सकती है.ठंड के दिनों में सुबह उठना बहुत ही आलसी होता है. ऐसे मौसम में सुबह वॉक पर जाना से आपको कुछ नुकसान पहुंचा सकती है सुबह के समय में स्मॉग अधिक होती है और इसमें मुख्य रूप कार्बन डाई ऑक्साइड सल्फर डाइऑक्साइड और ओजोन जैसी हानिकारक गैसे होती है जो हवा को प्रदूषित करती है. अगर आप सुबह वॉक पर जाते हैं तो आप बीमार पड़ सकते हैं और सर्द हवाओं में मौजूद नमी आपको बीमार कर सकती है..

आइए हम आपको बताते हैं कि ठंड के मौसम में सुबह सैर पर जाते वक्त आपको कौन सी सावधानी बरतनी चाहिए अगर आप सर्दियों के दिनों में सुबह वॉक पर जाना चाहते हैं तो शाम 7:00 बजे के बाद वॉक पर जाएं और सुबह टहलने से बचे.

सर्दियों के मौसम में सुबह के नहीं निकलना चाहिए.हो सके तो शाम 7:00 बजे के बाद निकलना चाहिए. क्योंकि सर्दियों की सुबह नमी युक्त होती है जो हमारे शरीर के लिए घातक हो सकती है धूप में चलने व्यायाम करने से इस नुकसान से बच सकते हैं

सर्दियों में पैदल चलकर शरीर गर्म होता है और हमें गर्माहट भी महसूस होती है इसका मतलब यह नहीं है कि हमें गर्म कपड़े पहनकर नहीं जाना है जब भी आप सुबह टहलने के लिए निकले तो गर्म कपड़े पहन कर ही जाएँ.

सर्दियों के मौसम में वॉक से आने के बाद में ठंडा पानी ना पिएँ.गरम पानी पीना चाहते हैं तो गर्म पानी पिए और साथ ही ठंडे भोजन करने से बचे.

ठंड के दिनों में दिल के मरीजों को सुबह सुबह व्यायाम नहीं करना चाहिए क्योंकि सुबह वातावरण काफी नमी होती है जो दिल के मरीजों के लिए घातक साबित हो सकती है दिन में धूप निकलने के बाद ही दिल के मरीजों को व्यायाम करना चाहिए.

बुजुर्ग लोगों को सुबह 10 बजे के बाद ही घर से निकलना चाहिए और शाम को 6:00 या 7:00 बजे पैदल यात्रा से बचना चाहिए क्योंकि बाहरी हवा में प्रदूषण की मात्रा काफी होती है इससे अच्छा यह है कि बुजुर्ग लोग लोग घर पर ही रहे और बाहरी हवा के संपर्क में कम से कम आए.

स्मोक से भरी वातावरण में लगातार सांस लेने से अस्थमा एवं सांस की बीमारियों से ग्रसित मरीजों को नली में जलन पाइप में सूजन फेफड़ा छाती में जमावट तथा घबराहट हो सकती है. इसलिए ऐसे में अस्थमा और सांस की बीमारियों से ग्रसित मरीजों को सुबह की सैर में जाने से बचना चाहिए.

No comments