Breaking News

मोटापा कम करने के लिए सबसे खास है गर्मी का मौसम! इन 10 उपायों में से अपनाएं कोई भी एक तरीका

मोटापा कम करने के लिए सबसे खास है गर्मी का मौसम! इन 10 उपायों में से अपनाएं कोई भी एक तरीका

सामन्यत: गर्मी का मौसम पसीने, लू व जरा जरा सी बातों में गुस्सा आ जाना, चिड़चिड़ाहट से भरा माना जाता है, लेकिन स्वास्थ्य के हिसाब से इसके अपने ही फायदे भी है।
एक ओर जहां सर्दी में डायजेशन के मामले में मौसम को अच्छा मनाते हुए स्वस्थ्यता की कामना की जाती है। वहीं गर्मी में एक सबसे खास बात ये है कि वे लोग जो अपने वजन या मोटापे को लेकर खासे परेशान है, वे इस मौसम में आसानी से वजन कम कर स्वस्थ काया पा सकते हैं।

आयुर्वेद के डॉक्टर राजकुमार के अनुसार भी अगर आप अपना वज़न कम करना चाहते है, या शरीर को सही आकार में लाना चाहते है। तो गर्मियों के दिन इसके लिए एकदम उपयुक्त हैं।

ऐसे बने इस मौसम में फिट :-...
गर्मियां आ गई है और इस मौसम में फिट दिखने के लिए आपको डाइटिंग करने की जरूरत नहीं है।

सर्दियों की तुलना में गर्मियों में वजन कम करना अधिक आसान है। इस मौसम में लोगों की खान-पान की आदतें स्वत: ही बदल जाती हैं, साथ ही इस मौसम में अधिक व्यायाम किया जा सकता है।

इस मौसम में शरीर की कार्य प्रणाली धीमी हो जाने के कारण आप ज्यादा नहीं खाते हैं। साथ ही ज्यादा गर्मी लगने के कारण आप तरल पदार्थ जैसे- पानी, जूस इत्यादि ज्यादा लेते हैं, जो शरीर से अशुद्ध पदार्थों को दूर करते हैं।

गर्मियों में वज़न कम करने के लिए उपाय
: गर्मियों में वजन कम करने का सबसे आसान तरीका है कि आप एक बार में ज्यादा खाना खाने के बजाए बार-बार और थोड़ी-थोड़ी मात्रा में खाएं। अपने सारे दिन के भोजन को नाश्ते, दोपहर के भोजन, शाम के नाश्ते और रात्रिभोज में के हिसाब से बांटें।

: गर्मियों में अपने दिन की शुरुआत हल्के गर्म पानी में शहद मिलाकर पीने से करें। जो लोग चाय पीते हैं, वे एक प्याली चाय के साथ बिस्कुट लें सकते हैं और दो या तीन अखरोट या बादाम ले सकते हैं।

: गर्मियों में सुबह की चाय लेने के दो घंटे के बाद आप सलाद या फल ले सकते हैं।

: गर्मियों में दोपहर के भोजन में दो चपातियां, एक कटोरी दाल और हरी सब्जियां लें सकते है। वहीं शाम के नाश्ते में चाय और इडली, ढोकला या भुना चना ले सकते हैं।

: गर्मियों में रात के खाने में सब्जियों का सूप, चपाती और सब्जी लेना चाहिए। वहीं सोने से पहले एक गिलास दूध ले सकते है।

: सबसे खास बात गर्मियों में मैदे से बनी चीजों जैसे समोसा, कचौड़ी व भटूरा, तला-भुना, वसा की अधिक मात्रा वाला दूध, शर्करा एवं मीठा खाने से बचना चाहिए।

: गर्मियों में कोशिश करें कि साबूत अनाज, पत्तों वाली सब्जियां, साबुत दालें, सलाद, चिकन या मछली को आपके भोजन में शामिल हो। गर्मीयों में लाल मांस नहीं खाना चाहिए।

: गर्मियों में कैलोरीज को दूर रखने के लिए फल लेना जरूरी है। तरबूज और मीठा नींबू लेना ज्यादा बेहतर है। भोजन के 40 मिनट पहले या दो घंटे बाद फल खाना चाहिए। इसके साथ ही यदि आप वजन कम करना चाहते हैं तो फलों का जूस पीने से बचें यानि फलों को सीधे खाएं।

: गर्मियों में ज्यादा से ज्यादा लिक्विड डायट लें, गर्मियों के दिनों में चाय का सेवन कम से कम करें और ज्यादा से ज्यादा पानी पीयें।

मोटापा कम करने के खास प्राचीन नुस्खे...

1. इन दिनों गर्म पानी में एक चम्मच शहद डालकर प्रतिदिन सुबह खाली पेट पीने से कुछ ही समय में परिणाम दिखने लगते हैं, कुछ जगहों पर लोग इसी मिश्रण में एक चम्मच नींबू रस भी डाल देते है, दोनों फार्मूले हितकर हैं।

कई लोग दिन भर सिर्फ नींबू पानी और शहद का मिश्रण पीकर उपवास भी करते है। माना जाता है कि यह एक कारगर देसी फार्मूला है। दरअसल शहद एक काम्पलेक्स शर्करा की तरह है, जो मोटापा कम करने में काफी हद तक मदद करता है।

2. सोंठ, दालचीनी की छाल और काली मिर्च (3 ग्राम प्रत्येक) लेकर कुचल लिया जाए और चूर्ण बनाया जाए। इस पूरे चूर्ण को दो हिस्सों में बांटकर एक हिस्सा सुबह खाली पेट और दूसरा रात सोने से पहले लिया जाना चाहिए। चूर्ण को एक पानी में डालकर, घोलकर पिया जा सकता है।

3. पुदीना की ताजी हरी पत्तियों की चटनी बनाई जाए और चपाती के साथ सेवन किया जाए, असरकारक होती है। आदिवासी पुदीना की चाय भी पीने की सलाह देते हैं।

4. करेले की अध कच्ची सब्जी भी वजन कम करने में काफी मदद करती है, उत्तर मध्यप्रदेश के आदिवासी सहजन या मुनगा की फलियों की सब्जी को मोटापा कम करने में असरकारक मानते हैं


5. लटजीरा या चिरचिटा (आसपेरा) के बीजों को एकत्र करके, किसी मिट्टी के बर्तन में हल्की आंच पर भून लिया जाए और एक-एक चम्मच दिन में दो बार फांकी मार ली जाए, बस देखिए कितनी तेजी से फायदा होता है।

6. ताजी पत्ता गोभी का रस भी वजन कम करने में काफी मदद करता है। आदिवासियों के अनुसार प्रतिदिन रोज सुबह ताजी हरी पत्ता गोभी को पीसकर रस तैयार किया जाए और पिया जाए तो यह शरीर की चर्बी को गलाने में मदद करता है।

खास बात यह भी है कि आधुनिक विज्ञान भी इस बात की पैरवी करता है कि कच्ची पत्ता गोभी शर्करा और अन्य कार्बोहाइड्रेट को वसा में बदलने से रोकती है और यह वजन कम करने में सहायक है।

7. आधा चम्मच सौंफ लेकर एक कप खौलते पानी में डाल दी जाए और 10 मिनिट तक इसे ढांककर रखा जाए और बाद में ठंडा होने पर पी लिया जाए। ऐसा तीन माह तक लगातार किया जाना चाहिए, वजन कम होने लगता है।

8. खाना खाने के 20 मिनट बाद दिमाग को पेट भरे होने का मेसेज मिलता है और उसके बाद ही भूख शांत होने का अहसास होता है, इसलिए धीरे-धीरे और चबा-चबा कर खाना चाहिए।

9. सेयाबीन में मौजूद लेसिथिन केमिकल सेल्स पर फैट जमा होने से रोकता है। हफ्ते में कम से कम तीन बार सोयाबीन खाने से शरीर में फैट से लड़ने की क्षमता बढ़ती है। सब्जी या चावल आदि में डालकर खा सकते हैं। सोयाबीन क्रंच से उपमा या भूर्जी भी बना सकते हैं।

10. फाइबर और कॉम्पलैक्स कार्बोहाइड्रेट होने की वजह से शकरकंदी वजन कम करने के अलावा डायबिटीज भी कंट्रोल में रखती है।डायबिटीज के मरीज ज्यादातर मोटे होते हैं। शकरकंदी खाने से उन्हें बार-बार भूख नहीं लगती और वह जल्द वजन पर नियंत्रण पा लेते हैं।

11. गाजर का भरपूर सेवन किया जाना चाहिए खास तौर से खाना खाने से पहले। आधुनिक विज्ञान भी गाजर को मोटापा कम करने में कारगर मानता है।

12. आयुर्वेद के जानकारों की मानें तो खाना खाने के एक घंटे के बाद एक ग्लास गर्म पानी पीने से मोटापा कम होता है। गर्म पानी का मतलब यह कि जितना आप आसानी से सिप कर सके। धीरे-धीरे यह प्रक्रिया करने से शरीर में जमा अतिरिक्त कैलोरी और वसा नष्ट होती है जिससे मोटापा कम करने में मदद मिलती है।

13. इस हेतु एक तपेली पानी में एक मुट्ठी अजवायन और एक चम्मच नमक डालकर उबलने रख दें। जब भाप उठने लगे, तब इस पर जाली या आटा छानने की छन्नी रख दें। दो छोटे नैपकिन या कपड़े ठण्डे पानी में गीले कर निचोड़ लें और तह करके एक-एक कर जाली पर रख गरम करें और पेट पर रखकर सेंकें। प्रतिदिन 10 मिनट सेंक करना पर्याप्त है। कुछ दिनो में पेट का आकार घटने लगेगा।

14. दुबले होने के लिए दूध और शुद्ध घी का सेवन करना बन्द न करें। वरना शरीर में कमजोरी, रूखापन, वातविकार, जोड़ों में दर्द, गैस ट्रबल आदि होने की शिकायतें पैदा होने लगेंगी।

15. एक दिन में लगभग २ लीटर पानी पीने की कोशिश करें। अध्ययन से पता चलता है कि खूप पानी पीने से इन्सान स्वस्थ रहता है। यह आपको मोटापा कम करने में भी मदद करता है। हमेशा, आप के साथ एक पानी की बोतल रखें।

16. भुजंगासन, शलभासन, उत्तानपादासन, सर्वागासऩ, हलासन, सूर्य नमस्कार। इनमें शुरू के पाँच आसनों में 2-2 मिनट और सूर्य नमस्कार पांच बार करें तो पांच मिनट यानी कुल 15 मिनट लगेंगे।

17. यदि आप मोटापे को कम करना चाहते है तो भोजन में गेहूं के आटे की चपाती लेना बन्द करके जौ-चने के आटे की चपाती लेना शुरू कर दें। इसका अनुपात है 10 किलो चना व 2 किलो जौ। इन्हें मिलाकर पिसवा लें और इ सी आटे की चपाती खाएं। इससे सिर्फ पेट और कमर ही नहीं सारे शरीर का मोटापा कम हो जाएगा।

No comments