Breaking News

शुगर फ्री आटा बनाने की विधि : shugar free atta banane ki vidhi

शुगर फ्री आटा बनाने की विधि : shugar free atta banane ki vidhi

शुगर फ्री आटा बनाने की विधि
 – शुगर यानी डायबिटीज एक जेनेटिक बीमारी मानी जाती है. लेकिन आज के समय में युवा भी तेजी से डायबिटीज के शिकार हो रहे हैं. आईएमसी के सर्वे के अनुसार हर चौथा व्यक्ति डायबिटिज का शिकार हैं. आज के समय में खराब लाइफस्टाइल, तनाव, अनियमित खानपान आदि के कारण सबसे ज्यादा लोग ब्लड शुगर की समस्या का सामना कर रहे हैं.

मधुमेह में लोगों को अपने खाने-पीने को लेकर बहुत सतर्क रहना पड़ता है. खाने में जरा सी लापरवाही से आपका शुगर लेवल बढ़ सकता है. डायबिटीज के मरीज को हेल्दी लाइफस्टाइल अपनानी चाहिए. इसके अलावा आपको वजन को भी कंट्रोल रखना बहुत जरूरी है. मधुमेह को नियंत्रण में लाने के लिए कई आयुर्वेदिक दवाओं और अर्क का इस्तेमाल किया जाता है. आयुर्वेद में ऐसी कई चीजें हैं जिनके इस्तेमाल से आप डायबिटीज को कंट्रोल रख सकते हैं.

शुगर के मरीजों के लिए खान-पान पर ध्यान देना बहुत जरुरी होता है. इसलिए आज के इस पोस्ट में आप लोगों को शुगर फ्री आटा बनाने की विधि के बारे में बताने वाले हैं. मधुमेह के रोगियों को गेहूं के आटे से बनी रोटी खानी चाहिए या नहीं? शुगर के मरीज को कौनसा आटा खाना चाहिए? इसके बारे में जानेंगे. लेकिन उससे पहले यहाँ मधुमेह होने के लक्षण और कारण को जानते हैं…

मधुमेह होने के लक्षण

  • अधिक प्यास लगना
  • बार-बार यूरिन करना
  • हमेशा थकान होना
  • अधिक मुंह सूखना

मधुमेह होने के कारण

  • तनाव
  • समय में खाना न खाना
  • खराब लाइफस्टाइल
  • पानी कम पीना
  • एक्सरसाइज न करने के कारण

शुगर फ्री आटा कैसे बनाएं ?

  1. एक कप गेहूं का आटा लें
  2. अब उसमें कम से कम दो कप चने का आटा मिलाएं.
  3. आप चाहें तो इममें थोड़ी से बेसन की भी मात्रा डाल सकते है.
  4. चने का आटा दरदरा होता है इसलिए इसे जल्दबाजी में न बनाएं.
  5. अब गेहूं, चने के आटे और बेसन को अच्छे से गूथ लें.
  6. अब इसे धीमी आंच पर पका लें.

शुगर की समस्या में कौन सा आटा की रोटी खाएं ?

  • बेसन

बेसन को हम चने का आटा भी कह सकते हैं. बेसन में घुलनशील फाइबर जैसे तत्व होते हैं, जो ब्लड शुगर के अवशोषण को धीमा कर देते हैं. इस वजह से ब्लड शुगर एकाएक नहीं बढ़ता है. ब्लड शुगर के लेवल को नियंत्रित रखने में बहुत मददगार है.

  • रागी का आटा

फाइबर के गुणों से भरपूर रागी का आटा डायबिटीज की समस्या में बेहद फायदेमंद है. इस आटे से बनी रोटी के सेवन से पेट लंबे समय तक भरा रहता है और पाचन तंत्र को भी मजबूती मिलती है. रागी के आटा डायबिटीज को नियंत्रित रखता है.

  • कुट्टू का आटा

डायबिटीज रोगियों के लिए कुट्टू का आटा सबसे अच्चा विकल्प हो सकता है. यह ब्‍लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए फायदेमंद हो सकता है. कई अध्ययनों में भी सामने आ चुका है कि कुट्टू का आटा डायबिटीज को कंट्रोल कर सकता है. कुट्टू का आटा आपके हार्ट और वजन घटाने में भी मददगार हो सकता है. आप इस आटे से कई तरह के व्यंजन बना सकते हैं. 

  • जौ का आटा

मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा देने और क्रोनिक इंफ्लेमेशन से निपटने में जौ का आटा बहुत मददगार है. डायबिटीज रोगियों को इस आटे को अपने डाइट में शामिल करना चाहिए.

  • राजगिरा का आटा

राजगिरा के आटे को भी सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है. राजगिरा का आटा पोषक तत्वों से भरपूर होता है, जिसे डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद माना जाता है. राजगिरा के आटे में हाई प्रोटीन, खनिज, विटामिन और कई माइक्रो न्यूट्रिएंट्स होते हैं जो इसे स्पेशियल बनाते हैं, लेकिन राजगिरा के आटे को गेहूं के आटे के साथ मिलाकर किया जाना चाहिए क्योंकि राजगिरा आटे में हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्‍स होता है. 

नोट – तो आज के इस लेख में हम लोगों ने शुगर फ्री आटा बनाने की विधि के बारे में जाना. साथ ही हम लोगों ने शुगर में कौन सा आटा खाना चाहिए ये भी जाना.

No comments