Breaking News

जब 14 साल पहले पाकिस्तानी गेंदबाजों के लिए काल बनकर आए सहवाग-रैना, दुश्मन टीम के खेमे में मच गई थी खलबली

Asia-cup-2008-flashback-suresh-raina-virender-sehwag

Asia-cup-2008-flashback-suresh-raina-virender-sehwag साल 2008 का वो दिन जब कराची के नेशनल स्टेडियम में शौर, तो सड़कों पर हर जगह सन्नाटा छाया हुआ था, सभी भारतीय क्रिकेट फैंस अपने घरों में क्रिकेट मैच का लुत्फ उठाने में खोए हुए थे। आखिर हो भी क्यों न भारत और पाकिस्तान के बीच हाई वोल्टेज मुकाबला का क्रेज ही कुछ ऐसा होता है।

बता दें एशिया कप (Asia Cup) 2008 के समय 50 ओवर वाले मैच खेले जाते थे जिसको देखने के लिए हर कोई बेताब रहता था। लेकिन इस दौरान भारत-पाक के बीच खेले गए एक मैच में टीम इंडिया विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग और सुरेश रैना ने मैदान पर तहलका मचाते हुए पाकिस्तानी गेंदबाजों की जमकर धुनाई की और मैच अपने नाम किया। आइये आपको एक बार फिर से ले चलते फ्लैशबैक में और याद दिलाते है ये दिलचस्प घटना की….

Asia Cup: जब पाक गेंदबाजों के लिए काल साबित हुए थे सहवाग-रैनाAsia Cup: जब पाक गेंदबाजों के लिए काल साबित हुए थे सहवाग-रैना

दरअसल एशिया कप 2022 (Asia Cup) का आगाज 27 अगस्त से यूएई में होने जा रहा है, लेकिन इस बीच 14 साल पहले में भारत-पाक के बीच खेले गए एक मैच की काफी चर्चा हो रही है। बता दें एशिया कप 2008 में मैच 50 ओवर का कराची का नेशनल स्टेडियम में खेला जा रहा था, ये दिन था 26 जून 2008 का जहां पाकिस्तान टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था और 50 ओवर में 299-4 का बड़ा स्कोर बनाते हुए टीम इंडिया को 300 रनों का लक्ष्य दिया था। वहीं इस मैच में वीरेंद्र सहवाग और सुरेश रैना की शानदार साझेदारी सेभारत ने 42.1 ओवर में ही लक्ष्य हासिल कर लिया।

ये खिलाड़ी रहे थे मैच का रियल हीरो


बता दें Asia Cup 2008 में टीम इंडिया की तरफ से खेलते हुए वीरेंद्र ,सहवाग और सुरेश रैना के साथ युवराज सिंह ने धमाकेदार पारी खेलकर भारत को जीत दिलाई थी। टीम इंडिया और पाकिस्तान के बीच खेले गए मैच में भारत ने वापसी करते हुए पाकिस्तान को 64 रनों से हराया था। इस मैच में वीरेंद्र सहवाग ने 95 गेंदों में 119 की शानदार पारी खेली थी। इस सत्र में दोनों टीमें एक बार फिर आमने-सामने आई और फैंस को एक हाई वोल्टेड मुकाबला देखने को मिला।

बता दें सुरेश रैना के साथ रैना ने जो पार्टनरशिप की उसे आज तक को नहीं भूल सकता है। सहवाग ने सिर्फ 95 गेंदों में 119 रन जबकि रैना ने 69 गेंदों में 84 गेंदों में 84 रन बनाए और पाकिस्ता के गेंदबाजों की उन्हें रोकने की हर कोशिश नाकाम रही। सहवागके 119 रन में 17 चौके और 5 छक्के थे। इसी कोशिश से भारत ने जब मैच जीता तो सिर्फ 4 विकेट गिरे थे। इसी से अंदाजा हो जाता है कि ये कितनी प्रभावशाली जीत थी।

No comments